अपने यूजर्स बढ़ाने के लिए पानी की तरह पैसे बहा रहा है TikTok!

जानें कैसे अपने यूजर्स को इम्प्रेस कर रहा है टिकटॉक

News18Hindi
Updated: May 6, 2019, 8:56 PM IST
News18Hindi
Updated: May 6, 2019, 8:56 PM IST
भारत में शॉर्ट वीडियो शेयरिंग ऐप टिकटॉक के बैन ने पूरी दुनिया में सुर्खियां बटोरीं. अप्रैल में मद्रास हाईकोर्ट ने इस ऐप पर बैन लगाने को कहा जिसके बाद इसे गूगल प्ले स्टोर और एप्पल ऐप स्टोर से रिमूव कर दिया गया था. करीब एक हफ्ते के बाद कोर्ट ने इस ऐप से बैन हटाने की बात की और फिर 14 दिनों बाद यह दोबारा डाउनलोड के लिए उपलब्ध हुआ.

इस चाइनीज ऐप ने गूगल प्लेस्टोर और ऐपस्टोर पर वापसी करते ही सिर्फ दो दिनों में सबसे ज्यादा डाउनलोड किए जाने वाले स्मार्टफोन ऐप का खिताब अपने नाम कर लिया. एनालिटिक प्लेटफॉर्म ऐप एनी (Annie) की रिपोर्ट के मुताबिक 30 अप्रैल को जब टिकटॉक ने ऐपस्टोर पर वापसी की तब गूगल प्ले स्टोर पर यह सबसे ज्यादा डाउनलोड किए गए ऐप्स में भारत में 90वें स्थान पर था. वहीं सोशल ऐप्स की कैटेगरी में यह 13वें स्थान पर था. इसके सिर्फ एक दिन बाद यह सबसे ज्यादा डाउनलोड किए गए ऐप्स में 15वें और सोशल ऐप्स के मामले में चौथे स्थान पर पहुंच गया.



ये भी पढ़ेंः 8 मई को लॉन्च होंगे Google के दो नए स्मार्टफोन, जानें क्या होंगे फीचर्स

डेली डाउनलोड्स के मामले में टॉप पर था यह ऐप 

Annie की रिपोर्ट के मुताबिक 17 अप्रैल को जब इस ऐप को ऐपस्टोर से हटाया गया तब डेली डाउनलोड्स के मामले में यह ऐप टॉप पर था. लेकिन मद्रास हाईकोर्ट के आदेश के बाद गूगल और एप्पल स्टोर से हटाए जाने के कारण इसके यूजर्स में भारी कमी आ गई. अब अपने यूजर्स को पाने के लिए टिकटॉक के स्वामित्व वाली कंपनी बाइटडांस (Bytedance) नए-नए तरीके अपना रही है.

यूजर्स बढ़ाने के लिए लाखों का इनाम दे रही है कंपनी
अपने यूजर्स को बढ़ाने के लिए बाइटडांस रोज 3 लाख रुपये का कैश प्राइज बांट रही है जिसके कारण इसके डाउनलोड्स लगातार बढ़ रहे हैं. 1 मई से 16 मई तक चलने वाले इस ऑफर में जो भी यूजर इस ऐप को डाउनलोड करेगा उसे 1 लाख रुपये जीतने का मौका मिलेगा. ऐसा माना जा रहा है कि कंपनी यह टेक्नीक बैन के कारण गंवाए रेवेन्यू को जुटाने के लिए अपना रही है. रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक बैन के कारण कंपनी को रोज करीब 5 लाख डॉलर यानी 3.48 करोड़ रुपये का घाटा हो रहा था.

Loading...



सेफ्टी का भी रख रही है खयाल
बाइटडांस यह बिल्कुल नहीं चाहती की किसी के कारण उसके यूजर्स का नुकसान हो इसलिए कंपनी यूजर्स की सेफ्टी का भी खयाल रख रही है. एक मई को कंपनी ने दो सेफ्टी फीचर्स का ऐलान किया है. इसमें एक नोटिफिकेशन कंट्रोल और दूसरा डिवाइस मैनेजमेंट टूल है जो यूजर्स को उनके डिवाइस पर लॉगिन को कंट्रोल करने का मौका देगा जिससे वे हैकिंग से बच सकें. इसके अलावा कंपनी ने यूजर्स के लिए इन-ऐप क्विज की शुरुआत की है जिससे उन्हें पासवर्ड सेफ्टी, फिशिंग अटेम्प्ट्स और फ्रॉड से बचाया जा सके.

ये भी पढ़ेंः WhatsApp का यूज़र्स को तोहफा, अब पहले से ज़्यादा Stickers का कर सकेंगे इस्तेमाल



इन देशों में TikTok पर लगा बैन
- पिछले साल इंडोनेशिया में भी टिकटॉक को बैन कर दिया गया. 1.70 लाख लोगों ने याचिका दायर कर कहा था कि यह लिप-सिंकिंग ऐप बच्चों के लिए सही नहीं है. इस बैन को तब हटाया गया जब टिकटॉक के प्रवक्ता ने ऐसे कॉन्टेंट पर रोक लगाने के लिए ज्यादा लोगों को हायर करने की बात कही.

- फ्रांसीसी पुलिस ने भी टिकटॉक के खतरे के बारे में माता-पिता को चेतावनी देते हुए कहा कि इससे उनके बच्चों को अश्लील यौन प्रस्तावों के लिए लक्षित किया जा सकता है.

ये भी पढ़ेंः उम्मीद से सस्ता हो सकता है OnePlus 7 Pro, लीक हुई भारतीय कीमत

- अमेरिका में 13 साल से कम उम्र के बच्चों के नाम, ईमेल एड्रेस और लोकेशन कलेक्ट करने के आरोप में टिकटॉक ने 5.7 मिलियन डॉलर का भुगतान किया और नए-पुराने सभी यूजर्स को अपनी उम्र वैरिफाई करने की बात कही.

- इस साल की शुरुआत में बांग्लादेश में टिकटॉक उन 20,000 वेबसाइटों और ऐप्स में शामिल था जिसे वहां के टेलीकॉम मिनिस्टर मुस्तफा जब्बार ने 'वार अगेन्स्ट पॉर्नोग्राफी' के तहत बैन करने के लिए कहा था.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...