अमेजन ने कर्मचारियों से TikTok ऐप डिलीट करने को कहा, भेजा मेल

अमेजन ने कर्मचारियों से TikTok ऐप डिलीट करने को कहा, भेजा मेल
अमे​जन ने कर्मचारियों से टिकटॉक ऐप डिलीट करने को कहा.

अमेजन ने अपने कर्मचारियों को ई-मेल भेजकर कहा है कि वो अपने डिवाइस से टिकटॉक (TikTok) ऐप को डिलीट कर दें. कुछ दिन पहले ही डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन ने भी ​कुछ चीनी ऐप्स को बैन करने का संकेत दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 10, 2020, 11:28 PM IST
  • Share this:
सैन फ्रांसिस्को. ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन (Amazon) ने अपने कर्मचारियों से चीनी शॉर्ट वीडियो मेकिंग ऐप टिकटॉक (TikTok) को फोन से डिलीट करने को कहा है. कंपनी ने शुक्रवार को कर्मचारियों को भेजे गए एक ई-मेल में 'सिक्योरिटी रिस्क' का हवाला देते हुए टिकटॉक ऐप को डिलीट करने को कहा है. न्यूयॉर्क टाइम्स ने अपनी एक रिपोर्ट में इस बारे में जानकारी दी.

टिकटॉक डिलीट नहीं करने पर बंद हो जाएगी अमेजन ई-मेल सर्विस
अमेजन ने इस ई-मेल में कहा कि कर्मचारियों को उन डिवाइस से यह ऐप डिलीट करना होगा, जिसमें '​अमेजन ई-मेल' का एक्सेस है. इसमें कहा गया है कि कर्मचारियों को शुक्रवार तक अपने मोबाइल से यह ऐप डिलीट करना होगा, तभी उनके डिवाइस पर अमेजन ई-मेल एक्सेस जारी रहेगी. हालांकि, कंपनी ने यह भी कहा कि अमेजन वर्कर्स अपने लैपटॉप ब्राउजर से टिकटॉक का इस्तेमाल कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें: आत्मनिर्भर भारत को बढ़ावा देने के लिए सीमा शुल्क बढ़ा सकती है केंद्र सरकार
ट्रंप प्रशासन ने टिकटॉक बैन करने के संकेत दिए हैं


टिकटॉक की मालिकाना कंपनी चीन की बाइटडांस (ByteDance) है. यह ऐप दुनियाभर में शॉर्ट वीडियो मेकिंग ऐप के तौर पर दुनियाभर में पॉपुलर है. भारत में बैन किए जाने के बाद अब अमेरिकी सरकार ने भी संकेत दिया है कि वो इस ऐप को बैन कर सकती है. इस ऐप की मालिकाना कंपनी की वजह से अमेरिका में भी इस ऐप पर लगातार सवाल उठते रहे हैं.

बीते सोमवार को ही अमेरिका के विदेश सचिव माइक पॉम्पियो ने कहा था कि ट्रंप प्रशासन कुछ चीनी मोबाइल ऐप को ब्लॉक करने पर विचार कर रहा है. पॉम्पियो ने इसका कारण राष्ट्रीय सुरक्षा पर खतरा बताया है.

यह भी पढ़ें: अब गलती से डिलीट हुए Text मेसेज को भी कर सकते हैं रिकवर- अपनाएं ये आसान ट्रिक

भारत में भी टिकटॉक समेत 59 चीनी ऐप्स बैन
मालूम हो कि कुछ दिन पहले ही भारत में भी इस टिकटॉक समेत 59 चीनी ऐप्स पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया गया था. केंद्र सरकार द्वारा प्रतिबंध के कुछ दिन बाद ही इस ऐप को भारत में गूगल प्ले स्टोर और एप्पल आईओएस स्टोर से भी हटा लिया गया है. केंद्र सरकार ने इस बैन को लेकर कहा कि इन ऐप्स का इस्तेमाल भारत के संप्रुभता और अखंडता के लिए खतरा हो सकता है. टिकटॉक के अलावा जिन ऐप्स को भारत में बैन किया गया है, उसमें शेयरचैट, शेयरइट, कैमस्कैनर जैसे कुछ पॉपुलर ऐप्स भी शामिल था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading