बड़ी खबर! अगले साल तक बंद हो सकते हैं कई एंड्रॉएड स्मार्टफोन, स्मार्ट गैजेट्स पर भी खतरा...

रिसर्चर ने बताया कि इन डिवाइसेज़ को अगले एक या दो साल में इंटरनेट कनेक्शन मिलना बंद हो जाएगा.
रिसर्चर ने बताया कि इन डिवाइसेज़ को अगले एक या दो साल में इंटरनेट कनेक्शन मिलना बंद हो जाएगा.

रिसर्चर ने बताया कि अगले 12 महीनों में बहुत सारे स्मार्ट होम और IoT गैजेट खराब होने वाले हैं. इन गैजेट्स में स्मार्ट TV, सेट-टॉप बॉक्स, स्मार्ट रेफ्रिजरेटर और यहां तक ​​कि पुराने एंड्रॉइड स्मार्टफोन्स भी शामिल हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 13, 2020, 12:30 PM IST
  • Share this:
इंटरनेट ऑफ थिंग्स (IoT) पिछले कुछ सालों में तकनीकी परिवर्तनों में से एक है. इसकी पॉपुलैरिटी को देखते हुए कंपनियों ने ऐसी स्मार्ट डिवाइसेज़ (Smart Device) बनाने शुरू किया, जिन्हें स्मार्टफोन से कंट्रोल किया जा सकता है. इन डिवासेज़ में वॉशिंग मशीन, (Washing Machine)  AC,  फ्रिज (Fridge) और TV जैसी सामान है. लेकिन अगले साल इन डिवाइसेज़ से जुड़ी एक बड़ी परेशानी आने वाली है, जिससे कई स्मार्ट डिवाइस काम करना बंद कर देंगे.

सिक्योरिटी रिसर्चर और कंस्लटेंट स्कॉट हेल्मी (Scott Helmy) ने अगले साल आने वाली बड़ी समस्या की चेतावनी दी है, जिसकी वजह से कई गैजेट काम करना बंद कर देंगे. स्कॉट ने ‘द रेजिस्टेर’ को बताया कि अगले 12 महीनों में बहुत सारे स्मार्ट होम और IoT गैजेट खराब होने वाले हैं.  इन गैजेट्स में स्मार्ट TV, सेट-टॉप बॉक्स, स्मार्ट रेफ्रिजरेटर और यहां तक ​​कि पुराने एंड्रॉइड स्मार्टफोन्स भी शामिल हैं. आगे रिसर्चर ने बताया कि इन डिवाइसेज़ को अगले एक या दो साल में इंटरनेट कनेक्शन मिलना बंद हो जाएगा.

(ये भी पढ़ें-4 हज़ार से भी कम में मिल रहा है 18 हज़ार वाला स्मार्टफोन, मिलेंगे 48 मेगापिक्सल के 3 कैमरे)



स्मार्ट डिवाइस के साथ ऐसा होने की वजह उनके सर्टिफिकेशन से जुड़ा है. सर्टिफिकेट अथॉरिटी के ऐसे बहुत सारे स्मार्ट डिवाइस हैं, जिनके रूट सिक्योरिटी सर्टिफिकेट बने हैं और एक्सपायर होने वाले हैं. स्मार्ट डिवाइसेज़ सिर्फ इन सर्टिफिकेट की मदद से ही सर्वर के साथ सिक्योर इंटरनेट कनेक्शन बना सकते हैं. इन दिनों सभी इंटरनेट कनेक्शन को सिक्योर करना ज़रूरी हो गया है, इसलिए सर्टिफिकेट एक्सपायर होने से प्रभावित होने वाले डिवाइसेज़ की संख्या बढ़ सकती है.
रिन्यू करा सकते हैं सर्टिफिकेट 
राहत की बात ये है कि इन सर्टिफिकेट को फर्मवेयर अपडेट के ज़रिए रिन्यू किया जा सकता है. हालांकि कंपनियां इंस्टॉलेशन के बाद डिवाइसेज़ को इस तरह के अपडेट नहीं देती हैं. खासतौर पर जो डिवाइस ज़्यादा पुराने हैं, उनके लिए कंपनियां अपडेट देना बंद कर देती हैं. ज़्यादातर गैजेट्स के लिए कंपनियां सॉफ्टवेयर अपडेट देना बंद कर देती हैं, जिससे ये बंद हो जाते हैं.

(ये भी पढ़ें-बेहद सस्ते में मिल रहा है 48 मेगापिक्सल 4 कैमरे वाला धांसू 5G फोन, मिलेगी 4,400mAh की बैटरी)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज