अपना शहर चुनें

States

चीन के प्रति गुस्सा हुआ कम, स्मार्टफोन में Xiaomi फिर नंबर-1, Samsung को पछाड़ा

साल 2020 की तीसरी तिमाही में शाओमी ने बाजार में लीडरशिप पॉजिशन को बाजार में 3 फीसदी की गिरावट के साथ खो दिया था.
साल 2020 की तीसरी तिमाही में शाओमी ने बाजार में लीडरशिप पॉजिशन को बाजार में 3 फीसदी की गिरावट के साथ खो दिया था.

चीनी स्मार्टफोन मेकर शाओमी (Xiaomi) का भारत में जलवा बरकरार है. घरेलू स्मार्टफोन बाजार में 26 फीसदी हिस्सेदारी के साथ कंपनी फिर से नंबर 1 पर पहुंच गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 27, 2021, 9:52 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पिछले साल के भारत में चीन समेत चाइनीज कंपनियों के सामानों भी बॉयकॉट की बात हो रही थी. कई लोगों ने चाइनीज कंपनियों के सामानों को तोड़कर विरोध दर्ज किया है, लेकिन आंकड़े बता रहे हैं कि भारत में चीन के प्रति गुस्सा कम हो रहा है. दरअसल, साल 2020 के अंतिम तिमाही में चीनी स्मार्टफोन मेकर शाओमी (Xiaomi) घरेलू स्मार्टफोन बाजार में 26 फीसदी हिस्सेदारी के साथ नंबर 1 पर पहुंच गई है.

शाओमी ने दक्षिण कोरियाई दिग्गज सैमसंग को पछाड़ा
बिजनेस टूडे की एक रिपोर्ट के मुताबिक, साल 2020 के अंतिम तिमाही में शाओमी ने दक्षिण कोरियाई इलेक्ट्रॉनिक्स दिग्गज सैमसंग को पछाड़ दिया है. शाओमी कंपनी सैमसंग की 20 फीसदी हिस्सेदारी से आगे है.

ये भी पढ़ें- अब iPhone में सेंध नहीं लगा पाएंगे हैकर्स! Apple ने जारी किया iOS 14.4 अपडेट, तुरंत करें इंस्‍टॉल
साल 2020 की तीसरी तिमाही में सैमसंग ने शाओमी को छोड़ा था पीछे


साल 2020 की तीसरी तिमाही में शाओमी ने बाजार में लीडरशिप पॉजिशन को बाजार में 3 फीसदी की गिरावट के साथ खो दिया था. सैमसंग 24 फीसदी हिस्सेदारी के साथ शाओमी (23 फीसदी) से आगे था. यह 2 साल में पहली बार था कि दक्षिण कोरियाई कंपनी ने शाओमी को पीछे कर दिया था. लेकिन सैमसंग की यह बढ़त केवल एक तिमाही तक चली थी.

ये भी पढ़ें- Apple और Google ने बाइडन के इमिग्रिशन रिफॉर्म्स का किया स्वागत, भारतीय IT पेशेवरों को मिलेगी राहत

Redmi Note 9 और Redmi 9 series के स्मार्टफोन्स की बंपर बिक्री
Redmi 9 और Redmi Note 9 सीरीज की मजबूत मांग की वजह से, शाओमी ने दिसंबर तिमाही के दौरान साल में 13 फीसदी की मजबूत वृद्धि दर्ज की. सैमसंग ने भी साल-दर-साल 30 फीसदी की मजबूत वृद्धि दर्ज की, लेकिन वह अपनी बाजार हिस्सेदारी को केवल 1 फीसदी बढ़ाने में सफल रही. हालांकि, सैमसंग के लिए नंबर 2 का पॉजिशन हासिल करना काफी था, जो कि साल 2019 के चौथी तिमाही में विवो से पिछड़ गया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज