5G मैकबुक लाने की तैयारी में Apple, इतनी बड़ी होगी स्क्रीन

कंपनी अपने आने वाले मैकबुक के 5G बोर्ड में सिरेमिक मेटेरियल का इस्तेमाल करना चाहती है और भी जानें क्या होगी खासियत...

News18Hindi
Updated: August 4, 2019, 2:45 PM IST
5G मैकबुक लाने की तैयारी में Apple, इतनी बड़ी होगी स्क्रीन
कंपनी अपने आने वाले मैकबुक के 5G बोर्ड में सिरेमिक मेटेरियल का इस्तेमाल करना चाहती है और भी जानें क्या होगी खासियत...
News18Hindi
Updated: August 4, 2019, 2:45 PM IST
एप्पल अपने पहले 5G सपोर्ट मैकबुक मॉडल को 2020 की दूसरी छमाही में लॉन्च करने की तैयारियां कर रहा है. खबरों के अनुसार, क्यूपर्टिनो स्थित कंपनी अपने आने वाले मैकबुक के 5G बोर्ड में सिरेमिक मेटेरियल का इस्तेमाल करना चाहती है, जिसकी कीमत मेटल वाले अभी के मेटेरियल से चार गुना ज़्यादा है.

न्यूज़ पोर्टल 9 टू 5 मैक ने कहा कि यह नाटकीय रूप से सेलुलर रिसेप्शन और ट्रांसमिशन गति में सुधार करेगा. नामी एप्पल एनालिस्ट मिंग-ची कूओ ने कहा कि कंपनी 5जी आई फोन्स साल 2020 में निकालेगी. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, आईफोन बनाने वाली कंपनी अगले साल तीन आईफोन्स मार्केट में उतार सकती है. एप्पल के 6.7 इंच और 5.4 इंच वाले आईफोन में 5जी की सुविधा दी की जाएगी. (ये भी पढ़ें-दुनिया के सबसे छोटे लैपटॉप में है 1 इंच की स्क्रीन, वीडियो में देखें कैसे करता है काम)

वहीं 6.1 मिड-साइज वाले आईफोन में 5जी की सुविधा नहीं होगी. साथ ही ये भी कहा जा रहा है कि यह सस्ता हो सकता है. एप्पल के एक्सपर्ट का यह भी मानना है कि कंपनी के पास साल 2022 और 2023 तक अपना खुद का 5जी मॉडम होगा, जिससे क्वालकॉम से इसकी निर्भरता कम होगी.

फाइल फोटो


इसके अलावा उम्मीद की जा रही है कि डेल, एचपी और लेनेवो जैसी कंपनियां इसी साल कंपनी के पहले 5जी नोटबुक्स को लॉन्च करेंगी.

Apple के पुराने फोन के लिए अपडेट
एप्पल ने हाल ही में ग्लोबल GPS की दिक्कत ठीक करने के लिए नया सॉफ्टवेयर अपडेट पेश किया है, जो खासतौर पर पुराने मॉडल्स के लिए है. जानकारी के मुताबिक पुराने iPhone में लोकेशन, डेट और टाइम को लेकर परेशानी आ रही थी. कंपनी ने कहा है कि इन समस्याओं से बचने के लिए पुराने iPhone और iPad मॉडल्स को 3 नवंबर तक अपडेट करना होगा. (ये भी पढ़ें- बंदर का TikTok वीडियो Viral: नल से पानी पीने के बाद किया कुछ ऐसा कि दंग रह गए लोग!)
Loading...



Apple ने कहा है कि 3 नवंबर से कुछ iPhone और iPad मॉडल्स जो 2012 या उससे पहले लॉन्च हुए थे, उन्हें करेक्ट जीपीएस लोकेशन और करेक्ट डेट और टाइम के लिए iOS अपडेट की जरूरत होगी. अगर यूजर्स ऐसा नहीं करते हैं तो कुछ मॉडल्स में सही GPS पोजीशन शायद मिल नहीं पाएंगे.
First published: August 4, 2019, 12:48 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...