अब पुलिस भी नहीं लगा पाएगी iPhone की सिक्योरिटी में सेंध, Apple ने किए कड़े बंदोबस्त

पुलिस GrayKey नाम के टूल का इस्तेमाल करते हुए iPhone की सिक्योरिटी को एक्सेस कर रही थी. Apple ने कहा कि नया फीचर कानूनी अधिकारियों को नीचा दिखाने के लिए नहीं बनाया गया है बल्कि हैकर्स और क्रैकर्स से आईफोन की सुरक्षा के मद्देनजर तैयार किया गया है.


Updated: June 14, 2018, 1:09 PM IST
अब पुलिस भी नहीं लगा पाएगी iPhone की सिक्योरिटी में सेंध, Apple ने किए कड़े बंदोबस्त
पुलिस GrayKey नाम के टूल का इस्तेमाल करते हुए iPhone की सिक्योरिटी को एक्सेस कर रही थी. Apple ने कहा कि नया फीचर कानूनी अधिकारियों को नीचा दिखाने के लिए नहीं बनाया गया है बल्कि हैकर्स और क्रैकर्स से आईफोन की सुरक्षा के मद्देनजर तैयार किया गया है.

Updated: June 14, 2018, 1:09 PM IST
Apple ने बयान जारी किया है कि वह iPhones की सिक्योरिटी को और मजबूत बना रहे हैं. यह इसलिए किया गया है ताकि अगर पुलिस भी बिना मंजूरी लिए फोन को अनलॉक करना चाहे तो वह भी कामयाब न हो. Apple ने यह कदम हाल फिलहाल में कानूनी संस्था से चल रहे विवाद के चलते उठाया है. खबरों के मुताबिक पुलिस GrayKey नाम के टूल का इस्तेमाल करते हुए iPhone की सिक्योरिटी को एक्सेस कर रही थी. Apple ने कहा कि नया फीचर कानूनी अधिकारियों को नीचा दिखाने के लिए नहीं बनाया गया है बल्कि हैकर्स और क्रैकर्स से आईफोन की सुरक्षा के मद्देनजर तैयार किया गया है.

कंपनी ने कहा कि उसका मकसद कानून को नीचा दिखाना नहीं:

कंपनी ने एक बयान जारी करते हुए कहा, "एप्पल में हम जो भी डिजाइन करते हैं उसके लिए हमेशा कस्टमर की जरूरतों को ध्यान में रखते हैं. हम हर Apple प्रोडक्ट में सिक्योरिटी के इंतजाम ज्यादा पुख्ता करते जा रहे हैं. ताकि हैकर्स, पहचान चुराकर ठगी करने वाले कस्टमर के पर्सनल डेटा में सेंध न लगा पाएं. हम कानून की बहुत इज्जत करते हैं. हमने इस फीचर को कानून के काम में अड़ंगा लगाने के लिए नहीं बनाया है."

Apple ने कहा कि वह GrayKey या उसके जैसे टूल से आईफोन के डेटा के एक्सेस करने की समस्या को लेकर काम कर रहा था. Apple ने कहा कि उसके पास एक टीम है जो 24 घंटे देश के कानून और राष्ट्रीय सिक्योरिटी अनुरोध संबंधी शिकायतों को लेकर जवाब दने के लिए तत्पर रहती है. लेकिन पिछले कुछ समय से कंपनी कुछ ऐसे कानूनी लोगों के निशाने पर थी जो आईफोन की सिक्योरिटी को निशाना बना रहे थे.
News18 Hindi पर Jharkhand Board Result और Rajasthan Board Result की ताज़ा खबरे पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें .
IBN Khabar, IBN7 और ETV News अब है News18 Hindi. सबसे सटीक और सबसे तेज़ Hindi News अपडेट्स. Tech News in Hindi यहां देखें.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर