घड़ी ने हार्ट अटैक से मरने से कुछ यूं बचाया, आप भी बोल उठेंगे वाह

घड़ी के अलर्ट भेजने पर व्यक्ति अस्पताल पहुंचा जहां उसे पता चला कि उसे हार्ट अटैक या स्ट्रोक आ सकता था

News18Hindi
Updated: December 16, 2018, 6:06 PM IST
घड़ी ने हार्ट अटैक से मरने से कुछ यूं बचाया, आप भी बोल उठेंगे वाह
घड़ी के अलर्ट भेजने पर व्यक्ति अस्पताल पहुंचा जहां उसे पता चला कि उसे हार्ट अटैक या स्ट्रोक आ सकता था
News18Hindi
Updated: December 16, 2018, 6:06 PM IST
क्या आपने कभी सोचा है कि आपकी तबीयत खराब हो और घड़ी बता दे कि कब आपको डॉक्टर के पास जाना है या फिर क्या करना है. ये बात चाहे अलग लग रही हो लेकिन सच है कि एक घड़ी ने एक व्यक्ति की जिन्दगी बचा ली.

अमेरिका के रिचमंड शहर में रहने वाले 46 वर्षीय एड डेंटेल की जिन्दगी ऐप्पल वॉच ने बचाई. वॉच ने डेंटेल को अलर्ट किया कि उनकी अनियमित हार्टबीट (दिल की धड़कन) असल में एक मेडिकल इमरजेंसी है जिसके बाद वे अस्पताल पहुंच गए और अपनी जान बचाई.

(ये भी पढ़ेंः WhatsApp में आया कमाल का फीचर, अब यूजर्स को चैट में मिलेगा वीडियो का मज़ा)
दरअसल डेंटेल ने कुछ दिनों पहले ही इस ऐप्पल वॉच को खरीदा था और उसका सॉफ्टवेयर अपडेट कर रहे थे तभी उन्होंने इलेक्ट्रोकार्डियोग्राम ऐप (ECG ऐप) को डाउनलोड किया. जैसे ही उन्होंने इस ऐप को वॉच में डाउनलोड किया उन्हें एट्रियल फिब्रिलेशन (AFib) का अलर्ट आया, जो अनियमित रूप से दिल के धड़कने का मामला जिससे उन्हें स्ट्रोक या हार्ट अटैक आ सकता था. उनके हार्टबीट 120-140 प्रति मिनट थी जो सामान्य व्यक्ति के 60-100 बीट्स प्रति मिनट से काफी ज्यादा थी.

(ये भी पढ़ेंः दुनिया के पहले मुड़ने वाले फोन की सेल शुरू, जानें कीमत और फीचर्स)



डेंटल के परिवार में किसी को भी हार्ट प्रॉब्लम नहीं थी इसलिए वे पहली बार वॉर्निंग मिलने पर अस्पताल नहीं गए लेकिन जब ऐप्पल वॉच ने एक-दो दिन तक लगातार उन्हें अलर्ट भेजे तो वे अस्पताल पहुंचे. डाक्टरों ने जांच करने के बाद उन्हें बताया कि वे एट्रियल फिब्रिलेशन में हैं और घड़ी ने अलर्ट भेजकर उनकी जान बचाई है.
Loading...

डाक्टरों ने बताया कि अगर वे घड़ी के अलर्ट पर ध्यान नहीं देते तो उन्हें हार्ट अटैक या स्ट्रोक आ सकता था. हालांकि मेडिकेशन के बाद अब डेंटल की स्थिति ठीक है.

ये भी पढ़ेंः 18 दिसंबर को लॉन्च होगा Micromax का चार कैमरे और दो LED फ्लैश वाला स्मार्टफोन

बता दें कि यह पहली बार नहीं है जब ऐप्पल वॉच ने किसी की जान बचाई है इससे पहले अप्रैल में फ्लोरिडा के लिथिया में रहने वाली डियाना को ऐप्पल वॉच ने अलर्ट भेजा था कि उनके दिल की धड़कन 160 बीट प्रति मिनट से चल रही है. इसके बाद पता चला कि उनकी किडनी फेल हो गई थी.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गैजेट्स से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 16, 2018, 3:42 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...