• Home
  • »
  • News
  • »
  • tech
  • »
  • APPS AMAZON DISCONTINUES MONTH LONG PRIME SUBSCRIPTION IN INDIA DUE TO RBI GUIDELINES CANCELS FREE TRIAL TECH NEWS AMDM

RBI की गाइडलाइन के बाद अमेजन ने बंद किया प्राइम का यह सब्सक्रिप्शन! अब फ्री ट्रायल भी नहीं, जानिए डिटेल्स

अमेजन ने अपने फ्री ट्रायल को भी बंद कर दिया है

अब अमेजन सिर्फ तीन महीने और साल भर के लिए ही प्राइम मेंबरशिप ऑफर कर रहा है. अमेजन का एक महीने वाला प्राइम सब्सक्रिप्शन सिर्फ 129 प्रतिमाह का था, लेकिन अब इसे आरबीआई की गाइडलाइन्स के चलते हटा दिया गया है.

  • Share this:

    नई दिल्ली. यदि आप अमेजन प्राइम (Amazon Prime) के मेंबर (member) है तो यह खबर आपके लिए जरूरी है. कई यूजर्स ने यह शिकायत की थी कि उनका एक महीने वाला सब्सक्रिप्शन अचानक बंद हो गया, जबकि वो ऑटोरिन्यूअल पर था. तो आज आपको बताते है कि अब आगे से आपको एक महीने वाला अमेजन का प्राइम सबस्क्रिप्शन प्लान आगे भी नहीं मिलेगा और ना ही अब फ्री ट्रायल भी आप ले सकेंगे. इसकी वजह रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) की गाइडलाइन है जिसमें बैंक और ऐसे ही वित्तीय संस्थानों को ऑनलाइन ट्रांजेक्शन (online transactions) के लिए ऑथेंटिकेशन फेक्टर (authentication factor) को अपनाने को कहा है.  बहरहाल अब अमेजन सिर्फ तीन महीने और साल भर के लिए ही प्राइम मेंबरशिप ऑफर कर रहा है. अमेजन का एक महीने वाला प्राइम सब्सक्रिप्शन सिर्फ 129 प्रतिमाह का था, लेकिन अब इसे आरबीआई की गाइडलाइन्स के चलते हटा दिया गया है.


    पहले इसके लिए आरबीआई ने एक अप्रैल तक समय सीमा दी थी जिसे बढ़ाकर 30 सिंतबर तक कर दी गई.  अमेजन ने अपने सपोर्ट पेज को अपडेट किया है जिसमें अब मंथली सब्सक्रिप्शन का विकल्प ही नहीं दिखाई दे रहा है. 


    नए प्लान के लिए इतना देना होगा चार्ज


    इसके अलावा अमेजन ने अपने फ्री ट्रायल को भी बंद कर दिया है अपने नए प्राइम मेंबर्स के लिए भी. एनडीटीवी गैजेट्स 360 की रिपोर्ट के अनुसार अमेजन ने फ्री टायल को अप्रैल 27 किया था कुछ दिनों का बताकर लेकिन अब नए सब्सक्राइबर्स को सिर्फ तीन महीने या वार्षिक सबस्क्रिप्शन ही अमेजन प्राइम का मिलेगा. तीन महीने वाले सब्सक्रिप्शन के प्लान की कीमत जहां 329 रुपये रखी गई है तो वहीं सालभर के लिए 999 रुपये देना होगा.  


    ये भी पढ़ें - Achievement: भारत में फ्री Wi-Fi से लैस हुए 6000 स्टेशन, जानिए आपके राज्य में कितनी जगह मिल रही ये सुविधा





    क्या है RBI के नए नियम का मकसद


    आरबीआई ने रिस्क कम करने के उपायों के तहत इस कदम की घोषणा की जिसका मकसद कार्ड के जरिए ट्रांजैक्शन को मजबूत और सुरक्षित बनाना है. अगर इस एडिशन फैक्टर ऑथेंटिकेशन (AFA) का अनुपालन नहीं किया गया, तो संबंधित यूनिट्स को बिजली समेत अन्य ग्राहक केंद्रित सेवाओं, ओटीटी समेत अन्य बिलों के पेमेंट में 30 सितंबर के बाद असर पड़ सकता है. हाल ही में आरबीआई ने संपर्क रहित कार्ड के जरिए पेमेंट और कार्ड तथा यूपीआई के जरिए ऑटो पेमेंट की सीमा एक जनवरी से 2 हजार रुपये से बढ़ाकर 5 हजार रुपये कर दी. इस पहल का मकसद डिजिटल लेन-देन को सुगम और सुरक्षित बनाना हैनए दिशानिर्देश के तहत 5 हजार रुपये से अधिक के पेमेंट के लिये बैंकों को ग्राहकों को वन-टाइम पासवर्ड (OTP) भेजना होगा.

    Published by:Amit Deshmukh
    First published: