• Home
  • »
  • News
  • »
  • tech
  • »
  • APPS BEWARE FAKE WHATSAPP MESSAGE CLAIMING FREE INTERNET FROM GOVT IS DOING THE ROUNDS ALL WE KNOW TECH NEWS AMDM

तीन महीने तक मुफ्त में इंटरनेट देगी सरकार! जानिए क्या है इस मैसेज के पीछे की सच्चाई

लिंक पर क्लिक करने से चोरी हो सकता है पर्सनल डाटा

पीआईबी का कहना है कि लोग ऐसा बिलकुल ना करे क्योंकि इस लिंक को क्लिक करवा कर सामने वाला आपकी व्यक्तिगत जानकारी व पर्सनल डेटा चुरा सकता है. मैसेज में यह भी कहा जा रहा है कि यह ऑफर जियो, एयरटेल और वीआई यूजर्स के लिए है वो.

  • Share this:

    नई दिल्ली. यदि आपके पास भी यह वॉट्सअप (WhatsApp) मैसेज आया है कि भारत सरकार (Govt of India) कोरोना और लॉकडाउन की स्थिति को देखते हुए तीन महीने का इंटरनेट (Internet) 100 मिलियन लोगों को मुफ्त (Free) देने जा रही है तो खुश होने की जरूरत नहीं है. क्योंकि ऐसा कुछ नहीं होना वाला है इस तरह का जो मैसेज चल रहा है वो पूरी तरह से फेक (Fake )यानि झूठ है. सरकार की तरफ से इस तरह की ना तो प्लानिंग है और ना ही ऐसी कोई घोषणा की गई है. प्रेस इंफरमेशन ब्यूरो(PIB) ने इसकी पुष्टि की है कि सरकार के नाम पर कुछ शरारती तत्वों द्वारा यह भ्रामक जानकारी फैलाई जा रही है. इस मैसेज के साथ एक लिंक भी दिया गया है जिससे लोगों को यह कहा गया है कि यदि वे सरकार की इस योजना का लाभ उठाना चाहते है तो दिए गए लिंक पर क्लिक करे 


    पीआईबी ने ट्विट करके इसके बारे में सचेत किया है साथ ही एक शार्ट वीडियो भी अपलोड किया है जो फ्री इंटरनेट वाले मैसेज से जुड़ा है. जिसमें यह भी बताया गया है कि इस फर्जी मैसेज में यह भी कहा जा रहा है कि यह ऑफर जियो, एयरटेल और वीआई यूजर्स के लिए है वो भी सिर्फ 29 जून तक के लिए. 


    हैक हो सकती है आपकी निजी जानकारियां 


    इस वॉट्सअप मैनेज के जरिए यह झूठ फैलाया जा रहा है कि सरकार ने फ्री इंटरनेट के लिए जियो, एयरटेल और वीआई से टाइअप किया है. और इस सुविधा का लाभ लेने के लिए जो लिंक दी गई है उसमें यूजर की पर्सनल जानकारी भी भरने को कहा जा रहा है. पीआईबी के द्वारा शेयर किए गए वीडियो के अनुसार लिंक को क्लिक करने के बाद जो वेबसाइट खुलती है वो भी फर्जी है और सामान्य लोग उसे देखकर ही पहचान सकते है. सरकार ने भी लोगों को सलाह दी है कि वे इस तरह के सब्सक्रिप्शन लिंक को जो कि वॉट्सअप के जरिए आते है क्लिक ना करे.  पीआईबी का कहना है कि लोग ऐसा बिलकुल ना करे क्योंकि इस लिंक को क्लिक करवा कर सामने वाला आपकी व्यक्तिगत जानकारी व पर्सनल डेटा चुरा सकता है.  


    ये भी पढ़ें - Exclusive: 35 साल के निश्चल ने महीने भर में बना दिया क्रिप्टो एक्सचेंज, अब है मंथली ट्रेडिंग वाॅल्यूम 35000 करोड़





    इससे पहले फैलाया जा रहा था यह फेक मैसेज 


    हाल ही में एक फर्जी मैसेज सामने आया था जिसे लेकर लोगों को  सावधान किया था.जिससमें कहा गया है कि लोगों की चैट प्राइवेट नहीं है और सरकार उसे पढ़ सकती है. इसमें ये भी बताया गया है कि अगर सरकार ने आपका मैसेज पढ़ा है तो आपको नया टिक या कलर दिखेगा. अभी वॉट्सऐप चैट्स में दो-टिक दिखते हैं. मैसेज भेजने पर अगर एक टिक दिखता है तो इसका मतलब है मैसेज भेज दिया गया है, लेकिन दूसरे यूज़र को प्राप्त नहीं हुआ. मैसेज प्राप्त होने पर दो टिक दिखते हैं और मैसेज पढ़ने पर दो टिक नीले रंग के हो जाते हैं.वहीं वॉट्सऐप पर ही वायरल फेक मैसेज में दावा किया जा रहा है कि इसमें एक तीसरा टिक जोड़ा गया है. इसमें कहा गया है कि अगर सरकार ने मैसेज को पढ़ा है तो तीसरा टिक नजर आएगा. अगर सरकार कार्रवाई करना चाहती है तो एक ब्लू टिक और दो रेड टिक नज़र आएंगे और तीसरे रेड टिक का मतलब है कि यूज़र को कोर्ट से समन भेजा जा रहा है. लेकिन यह भी फर्जी था. 

    Published by:Amit Deshmukh
    First published: