लाइव टीवी

फोन के लिए आने वाली है आर्टिफिशियल स्किन, छूकर भेज सकेंगे संदेश

News18Hindi
Updated: October 21, 2019, 1:10 PM IST
फोन के लिए आने वाली है आर्टिफिशियल स्किन, छूकर भेज सकेंगे संदेश
रिसर्चर्स ने एक तरह की स्किन डेवेलप की है जो कि हाथों के टच को महसूस कर सकता है.

एक स्टडी में रिसर्रचर्स ने एक फोन केस, कंप्यूटर टच पैड को डेमॉन्सट्रेट किया जिसमें दिखाया कि किस तरह से 'स्किन-ऑन' इंटरफेस एक्सप्रेसिव मैसेज भेज सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 21, 2019, 1:10 PM IST
  • Share this:
अगर कंप्यूटर या स्मार्टफोन भी टच को महसूस करने लगें तो कैसा लगेगा आपको? अजीब लगेगा न. लेकिन अब ऐसा हो सकता है. रिसर्चर्स ने एक नया इंटरफेस डेवेलप किया है जिससे आपका फोन या कंप्यूटर टच को महसूस कर सकेगा. 'स्किन-ऑन' नाम का यह ह्यूमन स्किन की तरह दिखेगा बल्कि इसमें सेंसिंग रिज़ोल्यूशन भी होगा.

एक स्टडी में रिसर्रचर्स ने एक फोन केस, कंप्यूटर टच पैड को डेमॉन्सट्रेट किया जिसमें दिखाया कि किस तरह से 'स्किन-ऑन' इंटरफेस एक्सप्रेसिव मैसेज भेज सकता है. रिसर्चर्स ने दिखाया कि स्किन को छूना और उस पर हाथ फेरने से सेंसेशन पैदा होता है जिससे अलग-अलग तरह की इमोजी खुद-ब-खुद भेजी जा सकती है.

स्टडी के लीड ऑथर मार्क टेसियर ने कहा हमने एक मैसेजिंग ऐप्लीकेशन को इम्प्लीमेंट किया है जहां पर यूज़र्स अपने इमोशन्स को काफी बेहतर ढंग से एक्सप्रेस कर सकते हैं. बता दें कि ये स्किन इतनी सेंसिटिव है कि तेज़ पकड़ से गुस्सा दिखता है, जबकि हल्के हाथ से छूने से प्यार झलकता है. पकड़ के हिसाब से ही इमोजी छोटा या बड़ा भी होता है.

इस स्टडी को यूएस के न्यू ऑरलियंस में 22 से 23 अक्टूबर को होने वाले 32वें एसीएम यूज़र इंटरफेस सॉफ्टवेयर एंड टेक्नॉलजी सिम्पोज़ियम में में प्रेज़ेंट किया जाएगा. रिसर्चर्स ने मल्टी लेयर, सिलिकॉन मेम्ब्रेन को डेवेलप करने के लिए बायो ड्रिवेन एप्रोच अपनाया है. यह सर्फेस टेक्सचर्ड लेयर से बना है जो कि कंडक्टिव थ्रेड्स की इलेक्ट्रोड लेयर या हाइपोडरमिस लेयर है.

बता दें कि यह न सिर्फ रिजिड केसिंग के बजाय ज्यादा नेचुरल है बल्कि यह एंड यूज़र के भी तमाम इशारों को पहचान सकती है. यूनीवर्सिटी ऑफ ब्रिस्टल के प्रोफेसर ऐन रोडोट ने कहा, 'यह पहली बार है कि हम अपने इनटेरैक्टिव डिवाइस पर स्किन को ऐड कर सकते हैं. यह आइडिया थोड़ा सा सरप्राइज़िंग है लेकिन हमारे शरीर की स्किन से हम काफी परिचित हैं तो हमने सोचा कि क्यों न इसे यूज़ किया जाए.' बता दें कि आर्टिफिशियल स्किन को रोबोटिक्स के फील्ड में काफी स्टडी किया गया है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गैजेट्स से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 21, 2019, 1:10 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...