WhatsApp को पिंक कलर में बदलने का दावा करने वाला मैसेज वायरस, फोन को कर सकता है हैक

व्हाट्सऐप

व्हाट्सऐप

साइबर सिक्योरिटी एक्सपर्ट्स के अनुसार लिंक में दावा किया जाता है कि यह व्हाट्सऐप की तरफ से ऑफिशियल अपडेट के लिए हैं. लेकिन लिंक पर क्लिक करते ही संबंधित यूजर्स का फोन हैक हो जाएगा

  • Share this:
नई दिल्ली. साइबर एक्सपर्ट्स ने लिंक के जरिए फोन पर भेजे जा रहे वायरस को लेकर आगाह किया है. इस लिंक में दावा किया जाता है कि व्हाट्सऐप (WhatsApp) पिंक कलर का हो जाएगा और उसमें नई विशेषताएं जुड़ जाएंगी.

साइबर सिक्योरिटी एक्सपर्ट्स के अनुसार लिंक में दावा किया जाता है कि यह व्हाट्सऐप की तरफ से ऑफिशियल अपडेट के लिए हैं. लेकिन लिंक पर क्लिक करते ही संबंधित यूजर्स का फोन हैक हो जाएगा और हो सकता है कि वे व्हाट्सऐप का उपयोग नहीं कर पाए.

व्हाट्सऐप पिंक को लेकर सवाधान

साइबर सिक्योरिटी एक्सपर्ट राजशेखर राजहरिया ने सोशल मीडिया पर लिखा है, ''व्हाट्सऐप पिंक को लेकर सवाधान! एपीके डाउनलोड लिंक के साथ व्हाट्सऐप ग्रुप वायरस फैलाने का प्रयास किया जा रहा है. व्हाट्सऐप पिंक के नाम से किसी भी लिंक पर क्लिक नहीं करें. लिंक को क्लिक करने पर फोन का उपयोग करना मुश्किल हो जाएगा.''
ये भी पढ़ें- 5 हजार से भी कम हो गई है इस 5000mAh बैटरी वाले दमदार स्मार्टफोन की कीमत, मिलेगा HD+ डिस्प्ले

साइबर सिक्योरिटी से जुड़ी कंपनी वोयागेर इनफोसेक के निदेशक जितेन जैन ने कहा कि यूजर्स को यह सलाह दी जाती है कि वे गूगल या एप्पल के ऑधिकारिक ऐप स्टोर के अलावा एपीके या अन्य मोबाइल ऐप को इंस्टॉल नहीं करें. उन्होंने कहा कि इस प्रकार के ऐप से आपके फोन में सेंध लग सकते हैं और फोटो, एसएमएस, संपर्क आदि जैसी सूचनाएं चुरायी जा सकती हैं.

व्हाट्सऐप ने दिया यह जवाब



इस बारे में संपर्क किए जाने पर व्हाट्सऐप ने कहा, ''अगर किसी को संदिग्ध संदेश या ई-मेल समेत कोई संदेश आते हैं, उसका जवाब देने से पहले पूरी जांच कर ले और सतर्क रुख अपनाएं. व्हाट्सऐप पर हम लोगों को सुझाव देते हैं कि हमने जो सुविधाएं दी हैं, उसका उपयाग करें और हमें रिपोर्ट भेजे, संपर्क के बारे में जानकारी दे या उसे ब्लॉक करे.''
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज