होम /न्यूज /तकनीक /BharOS: एंड्रॉयड OS से कितना अलग है देसी ऑपरेटिंग सिस्टम, और कब होगा रिलीज़?

BharOS: एंड्रॉयड OS से कितना अलग है देसी ऑपरेटिंग सिस्टम, और कब होगा रिलीज़?

BharOS को सरकार ने मंजूरी दे दी है.

BharOS को सरकार ने मंजूरी दे दी है.

एंड्रॉयड और iOS जैसे पॉपुलर ऑपरेटिंग सिस्टम को टक्कर देने के लिए देसी BharOS लॉन्च हुआ है. जानें इस स्वदेशी ऑपरेटिंग सि ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

अभी तक स्पष्ट नहीं है कि पहले से इंस्टॉल किए गए OS को BharOS से कैसे रिप्लेस किया जाएगा.
इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी है कि BharOS कब डाउनलोड के लिए उपलब्ध होगा.
BharOS तकनीकी रूप से Android के जैसा ही है.

BharOS: एंड्रॉयड और iOS ऑपरेटिंग सिस्टम को टक्कर देने के लिए भारत का स्वदेशी मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम BharOS लॉन्च हो गया है. IIT मद्रास की ओर से तैयार किए गए इस मोबाइल OS को भारत सरकार से हरी झंडी मिल गई है. लॉन्चिंग के दौरान बताया गया है कि फिलहाल इसे कमर्शियल ऑफ द शेल्फ हैंडसेट पर इंस्टॉल किया जा सकता है.

इसके लॉन्च के बाद लोगों के मन में इससे जुड़े कई सवाल आ रहे हैं. आइए जानते हैं इस देसी ऑपरेटिंग सिस्टम के बारे में जिसे डेवलपर्स ने खुद बताया है….

क्या है BharOS की खासियत…
1-BharOS एक मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम है जिसका मकसद यूज़र्स को उनके डिवाइस की सिक्योरिटी और प्राइवेसी पर ज़्यादा कंट्रोल देना है.
2-BharOS में कोई ब्लोटवेयर या डिफॉल्ट ऐप्स शामिल नहीं है, जिससे यूज़र्स को ज्यादा स्टोरेज स्पेस मिलता है.
3-इसमें बिना किसी डिफॉल्ट ऐप्स के, यूजर्स को किसी ऐसे ऐप का इस्तेमाल करने के लिए भी मजबूर नहीं किया जाता है, जिस पर वे भरोसा नहीं कर सकते हैं.
4-BharOS एंड्रॉयड की तरह नेटिव ओवर द एयर (NOTA) अपडेट प्रदान करता है, जिसका मतलब है कि सॉफ्टवेयर अपडेट डिवाइस पर ऑटोमैटिक रूप से डाउनलोड और इंस्टॉल हो जाएंगे.
5-नया OS प्राइवेट ऐप स्टोर सेवाओं (PASS) तक भी पहुंच प्रदान करेगा, जो विशेष संस्थाओं से ट्रस्टेड ऐप प्रदान करते हैं.

एंड्रॉयड OS से कितना अलग है BharOS?
BharOS तकनीकी रूप से Android के जैसा ही है क्योंकि ये दोनों ही ऑपरेटिंग सिस्टम Linux कर्नेल पर बेस्ड हैं. BharOS और Google के Android के बीच बड़ा अंतर ये है कि BharOS पर Google सर्विस नहीं है, और इसमें यूज़र्स को खुद के ऐप इंस्टॉल करने की अनुमति मिलती है.

क्या BharOS एंड्रॉयड से बेहतर है?
1-सबसे पहले बता दें कि ये अभी तक स्पष्ट नहीं है कि कोई व्यक्ति पहले से इंस्टॉल किए गए OS को BharOS से कैसे रिप्लेस कर सकता है.  फिलहाल इस बात की कोई जानकारी नहीं OS को कैसे इंस्टॉल किया जाए या कौन से डिवाइस इसका सपोर्ट करेंगे.

2-इसके अलावा ये भी साफ नहीं है कि BharOS को कब तक सिक्योरिटी और सॉफ्टवेयर अपडेट प्राप्त होंगे. साथ ही इसकी जानकारी भी नहीं है कि OS के डेवलपर BharOS के साथ स्मार्टफोन लॉन्च करने के लिए किसी OEMs के साथ कोलैबोरेट करेंगे या नहीं.

3-इसके अलावा, BharOS के डेवलपर्स ने इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी है कि OS कब डाउनलोड के लिए उपलब्ध होगा.

कब रिलीज़ होगा BharOS?
BharOS के डेवलपर्स ने इसकी रिलीज डेट या सपोर्टेड स्मार्टफोन्स के बारे में कोई जानकारी नहीं दी है. हालांकि, ये अनुमान लगाया जाता है कि डेवलपर्स आने वाले समय में BharOS पर चलने वाले स्मार्टफोन लॉन्च करने के लिए स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनियों के साथ कोलैबरेट करेंगे.

Tags: Android, Tech news, Tech news hindi

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें