इस ऐप ने Play Store पर फिर की वापसी, 10 करोड़ से ज़्यादा बार हुई थी डाउनलोड

Camscanner ऐप में हाल में खतरनाक मैलवेयर (malware) पाया गया था, जिसके बाद इसे प्ले स्टोर से हटा लिया गया था. लेकिन अब वापसी के बाद एंड्रॉयड यूज़र्स (android users) इसे मुफ्त में डाउनलोड कर सकते हैं.

News18Hindi
Updated: September 7, 2019, 2:21 PM IST
इस ऐप ने Play Store पर फिर की वापसी, 10 करोड़ से ज़्यादा बार हुई थी डाउनलोड
Camscanner ऐप में हाल में खतरनाक मैलवेयर (malware) पाया गया था, जिसके बाद इसे प्ले स्टोर से हटा लिया गया था. लेकिन अब वापसी के बाद एंड्रॉयड यूज़र्स (android users) इसे मुफ्त में डाउनलोड कर सकते हैं.
News18Hindi
Updated: September 7, 2019, 2:21 PM IST
पीडीएफ क्रिएटर ऐप (PDF creator) CamScanner प्ले स्टोर (Google play store) पर वापस आ गया है. बता दें कि हाल में इसमें खतरनाक मैलवेयर (malware) पाया गया था, जिसके बाद इसे प्ले स्टोर से हटा लिया गया था. लेकिन अब वापसी के बाद एंड्रॉयड यूज़र्स (android users) इसे मुफ्त में डाउनलोड कर सकते हैं. CamScanner के डेवलपर्स (developers) ने ट्विटर (Twitter) कर इस ऐप की वापसी की जानकारी दी है.

डेवलपर्स ने एक स्टेटमेंट में कहा कि ऐप के लेटेस्ट वर्जन से एडवर्टाइजिंग एसडीके को हटा दिया गया है. CamScanner का वर्जन 5.12.5 डाउनलोड के लिए उपलब्ध है, जिसे यूज़र्स अपने ऐप को इससे अपग्रेड कर सकते हैं.

(ये भी पढ़ें- सैमसंग, एप्पल के नहीं, इस मोबाइल के दीवाने है भारतीय, एक दिन में 55 हज़ार लोग खरीदते हैं इसे)



पिछले हफ्ते साइबर सिक्योरिटी कैसपर्सस्की (Kaspersky) ने यूज़र्स को अपने ब्लॉग पोस्ट में चेतावनी दी थी. रिसर्चर्स के ऐप के लेटेस्ट वर्जन में मैलिशस मॉड्यूल Trojan.Dropper.AndroidOS.Necro.n पाया गया था. रिसर्चर्स ने बताया था कि ड्रॉपर यूज़र्स के डिवाइस बिना उसके परमिशन के मैलवेयर इंस्टॉल कर रहा है, जो बैंकिंग डीटेल्स चुराने से लेकर फेक ऐड्स पर क्लिक करवाने और फेक सब्सक्रिप्शंस के लिए साइन-अप करवाने जैसे काम सकता है.

(ये भी पढ़ें- ऑनलाइन गेम खेलने के लिए चौथी क्लास के बच्चे ने पिता के अकाउंट से उड़ाए 35 हज़ार रुपये)


Loading...

रिसर्चर्स के मुताबिक इस ऐप के नए वर्जन के साथ मिलने वाला मैलिशस मॉड्यूल 'Trojan Dropper' को डिलिवरी मकैनिज्म की तरह एक मकसद से डिजाइन किया गया था.

Kaspersky टीम के रिसर्चर्स को इससे पहले चाइनीज़ स्मार्टफोन्स की कुछ ऐप्स में Trojan.Dropper मैलवेयर प्री-इंस्टॉल मिला था. ऐप के एक वर्जन में यह मैलवेयर स्पॉट करने और गूगल से इसे रिपोर्ट करने के बाद ऐप को गूगल प्ले से हटा दिया गया था, जिसके बाद अब इसे वापस उपलब्ध करा दिया गया है.

(ये भी पढ़ें- Jio सिम वालों को फायदा, फोन पर फिल्में देखते हुए बचाएं इंटरनेट डेटा)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ऐप्स से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 7, 2019, 2:21 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...