नहीं लीक हुआ Clubhouse के 13 लाख यूज़र्स का निजी डेटा, CEO पॉल डेविडसन ने बताया फेक हैं हैकिंग की रिपोर्ट

Clubhouse चैट ऐप सिर्फ इनवाइट के ज़रिए इस्तेमाल की जा सकती है.

Clubhouse चैट ऐप सिर्फ इनवाइट के ज़रिए इस्तेमाल की जा सकती है.

डेविडसन ने दावा किया है कि ऑडियो बेस्ड चैट ऐप का पर्सनल डेटा लीक नहीं हुआ है, और इसे लेकर जो रिपोर्ट चल रही हैं वह भ्रामक और गलत है...

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 12, 2021, 11:19 AM IST
  • Share this:
बंगाल विधानसभा इलेक्शन में तृणमूल कांग्रेस के चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर का एक कथित ऑडियो सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रहा है. इस कथित ऑडियो क्लिप के साथ वीडियो चैटिंग ऐप क्लबहाउस (Clubhouse) भारत में चर्चा में आ गया है. हाल ही में इसे लेकर खबर आ रही है कि इसके 13 लाख यूज़र्स का डेटा लीक हो गया है. एक रिपोर्ट के मुताबिक, इस ऑडियो चैट ऐप (Audio Chat App) के यूज़र्स की निजी जानकारियां हैक हो गई हैं.

लेकिन क्लबहाउस के CEO पॉल डेविडसन ने इस रिपोर्ट को खारिज कर दिया है. डेविडसन ने दावा किया है कि ऑडियो बेस्ड चैट ऐप का पर्सनल डेटा लीक नहीं हुआ है. उन्होंने कहा, ‘ये भ्रामक और गलत है, यह एक क्लिकबैट लेख है, हमें हैक नहीं किया गया था. जिस डेटा को संदर्भित किया गया था वह हमारे ऐप से सभी सार्वजनिक प्रोफ़ाइल जानकारी थी. तो इसका जवाब निश्चित तौर पर ‘नहीं’ है.’

(ये भी पढ़ें- काफी सस्ते में मिल रहे हैं Xiaomi के तीन पॉपुलर स्मार्टफोन्स, शुरुआती कीमत सिर्फ 6,799 रुपये)

इससे पहले, साइबर न्यूज़ ने बताया कि एक SQL डेटाबेस जिसमें 1 मिलियन से अधिक क्लब हाउस यूज़र्स के पर्सनल डेटा थे, वह ऑनलाइन लीक हो गए हैं. कहा गया कि इस लीक हुए डेटा में यूज़र्स के नाम, सोशल मीडिया प्रोफाइल, यूज़र आईडी, फोटो यूआरएल, ट्विटर-इंस्टाग्राम हैंडल, फॉलोअरों की संख्या, अकाउंट बनाने की तारीख और अन्य जानकारियां शामिल हैं. हालांकि, डेटा में क्रेडिट कार्ड डिटेल या कानूनी दस्तावेजों जैसी संवेदनशील जानकारी नहीं थीं.
LinkedIn डेटा को लेकर भी कही बात

दिलचस्प बात ये है कि इसी वेबसाइट ने बताया था कि लगभग 500 मिलियन लिंक्डइन यूज़र्स के व्यक्तिगत डेटा को ऑनलाइन लीक कर दिया गया था. हालांकि, लिंक्डइन ने ये सुनिश्चित किया कि उसे किसी भी डेटा उल्लंघन का सामना न करना पड़ा है.

(ये भी पढ़ें-पहले से और भी सस्ता हो गया Samsung का 6000mAh बैटरी वाला पावरफुल फोन, खूबसूरत है लुक)



कंपनी ने कहा, ‘ये उल्लंघन नहीं था, लेकिन वास्तव में कई वेबसाइटों और कंपनियों के डेटा का एकत्रीकरण था. इसमें सार्वजनिक रूप से देखने योग्य मेंबर प्रोफ़ाइल डेटा शामिल है जो लिंक्डइन से स्क्रैप किया गया प्रतीत होता है.’

फेसबुक के मामले में, 500 मिलियन से अधिक यूज़र्स डेटा स्क्रैपिंग की घटना से प्रभावित हुए. सोशल मीडिया कंपनी ने कहा कि ये डेटा लीक सितंबर 2019 से पहले का है, और इसे पहले ही ठीक किया जा चुका है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज