Home /News /tech /

लीक हो गया है हजारों भारतीयों का डेटा, आपको भी हो जाना चाहिए सावधान, जानिए क्‍यों?

लीक हो गया है हजारों भारतीयों का डेटा, आपको भी हो जाना चाहिए सावधान, जानिए क्‍यों?

हजारों भारतीयों की निजी जानकारियों को डार्क वेब पर बेचा जा रहा है.

हजारों भारतीयों की निजी जानकारियों को डार्क वेब पर बेचा जा रहा है.

हजारों भारतीयों की निजी जानकारियों को डार्क वेब पर बेचा जा रहा है. ऐसा कहा जा रहा है कि यह डेटा एक सरकारी सर्वर से लीक हुआ है. साइबर एक्‍सपर्ट्स का कहना है कि इस डेटा का प्रयोग लोगों के साथ धोखाधड़ी करने में हो सकता है.

नई दिल्‍ली. कोविड-19 से संबंधित पर्सनल डेटा के एक सरकारी सर्वर से लीक (data leak) होने का मामला सामने आया है. लीक हुये डेटा में करीब 20 हजार भारतीयों के मोबाइल नंबर,पता और कोविड टेस्‍ट के परिणाम शामिल हैं. इस डेटा को रेड फोरम (Red Form) की वेबसाइट पर बेचने के लिये रखा गया है. साइबर विशेषज्ञों का कहना है कि इस डेटा का अपराधी गलत इस्‍तेमाल कर सकते हैं. रेड फोरम पर साझा किए गए नमूना दस्तावेज से पता चलता है कि लीक डेटा कोविन पोर्टल (Covin Portal) पर अपलोड करने के लिए था

समाचार एजेंसी भाषा के अनुसार रेड फोरम पर उपलब्ध इस डेटा में बहुत सी निजी जानकारियां शामिल हैं. लोगों की कोविड-19 रिपोर्ट (Covid-19 Report) का रिजल्ट, नाम, उम्र, लिंग, मोबाइल नंबर, पता और तारीख जैसी जानकारियों को इसमें देखा जा सकता है. साइबर सिक्योरिटी रिसर्चर राजशेखर राजहरिया ने भी ट्वीट कर जानकारी दी है कि  पर्सनली आईडेंटिफिएबल इंफॉर्मेशन (PII) जिसमें नाम और कोविड -19 रिजल्ट शामिल हैं, एक कंटेंट डिलीवरी नेटवर्क (CDN) के ज़रिए सार्वजनिक किए गये हैं.

ये भी पढ़ें :  Paytm ने लुटिया ही नहीं, निवेशकों को भी डुबो दिया, अब तक पानी में गए 744 अरब रुपये

गूगल ने डेटा इंडेक्‍स किया

राजशेखर राजहरिया कहा कि Google ने प्रभावित सिस्टम से लाखों डेटा को इंडेक्स किया है. गूगल ने लगभग नौ लाख सार्वजनिक / निजी सरकारी दस्तावेजों को सर्च इंजन में क्रमबद्ध किया है. रोगी का डेटा अब ‘डार्कवेब’ (Dark Web) पर सूचीबद्ध है. इसे तेजी से हटाये जाने की जरूरत है. सरकार ने कोविड -19 महामारी और वैक्सीनेशन प्रोग्राम के बारे में लोगों को जागरूक करने के लिए डिजिटल तकनीकों पर बहुत अधिक भरोसा किया है. कई सरकारी विभाग लोगों को कोविड -19 संबंधित सेवाओं और सूचनाओं के लिए आरोग्य सेतु ऐप का इस्तेमाल करने के लिए बाध्य करते हैं.

ये भी पढ़ें :  Multibagger Stocks : ये शेयर लगातार 15 दिनों से कर रहे हैं निवेशकों पर धनवर्षा, 210 फीसदी दिया रिटर्न

सावधान रहने की जरूरत

राजहरिया ने 20 जनवरी को एक अन्य ट्वीट में सावधान करते हुए कहा कि लोगों को अब सावधान रहने की जरूरत है. डेटा को डार्क वेब पर बेचा जा रहा है. इसलिये अगर किसी व्‍यक्ति के पास कोई अनजान कॉल आये और कोई ऑफर, खासकर कोविड-19 से संबंधित, दे तो, झांसे में न आये और किसी प्रकार की जानकारी न दें.

Tags: Cyber Crime News, Data leak

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर