क्रेडिट कार्ड को लेकर आपके पास भी आता है ऐसा मैसेज तो भूलकर कभी ना करें क्लिक, खाली हो सकता है बैंक अकाउंट

News18Hindi
Updated: August 20, 2019, 3:39 PM IST
क्रेडिट कार्ड को लेकर आपके पास भी आता है ऐसा मैसेज तो भूलकर कभी ना करें क्लिक, खाली हो सकता है बैंक अकाउंट
आजकल जालसाज क्रेडिट कार्ड(credit card) के पॉइंट्स(points) को रिडीम(redeem) करने का फर्जी मैसेज भेजकर लोगों के बैंक अकाउंट(bank account) से पैसे चुरा रहे हैं...

आजकल जालसाज क्रेडिट कार्ड(credit card) के पॉइंट्स(points) को रिडीम(redeem) करने का फर्जी मैसेज भेजकर लोगों के बैंक अकाउंट(bank account) से पैसे चुरा रहे हैं...

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 20, 2019, 3:39 PM IST
  • Share this:
अगर आपको भी क्रेडिट कार्ड(credit card) के पॉइंट्स(points) रिडीम(redeem) करने का मैसेज आता है तो सावधान होने की ज़रूरत है. ऐसा इसलिए क्योंकि आजकल जालसाज इस तरह के फर्जी मैसेज भेजकर लोगों के बैंक अकाउंट(bank account)  से पैसे चुरा रहे हैं. धाकाधड़ी का ऐसा ही एक मामला सामने आया है, जिसमें 32 साल के एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है. फ्रॉड करने वाला ये शख्स बड़ी संख्या में लोगों को क्रेडिट कार्ड के रिवॉर्ड पॉइंट्स रिडीम करने से जुड़े मेसेज भेजता था.

टाइम्स ऑफ इंडिया पर छपी खबर के मुताबिक गिरफ्तार किए गए इस शख्स का नाम विकास झा है, जिसमें अपने सहयोगियों के साथ मिलकर धाखाधड़ी का जाल बिछाया. इसने लोगों को क्रेडिट कार्ड के रिवॉर्ड पॉइंट्स रिडीम करने से जुड़े मैसेज भेजें और अपने जाल में फंसाया. फर्जी मैसेज भेजने का मकसद लोगों से उनकी गोपनीय बैंक डीटेल्स को हासिल करना था.



विकास ने लोगों को चपत लगाने का काम अविनाश, अरुण कुमार और दो सिम कार्ड वेंडर्स के साथ मिलकर शुरू किया. उन्होंने एक टेक्स्ट मेसेज तैयार किया, जिसे वह लोगों को सेंड करते थे. इस मैसेज में लिखा था कि, आपके क्रेडिट कार्ड में काफी ज्यादा Reward Points इकट्ठा हो गए हैं. आप इन रिवॉर्ड पॉइंट्स को रिडीम करके कैशबैक ऑफर्स और डिस्काउंट पा सकते हैं.

इसके अलावा मैसेज में एक लिंक दिया जाता था, जिसके साथ लिखा होता था कि उनके रिवॉर्ड पॉइंट्स जल्दी खत्म होने वाले हैं, ऑफर्स का फायदा उठाने के लिए दिए गए लिंक पर क्लिक करें. इसके बाद उन्हें एक फॉर्म भी भरना होता था.



पुलिस का कहना है कि जब लोग दी गई लिंक पर क्लिक करते थे, तो उनके सामने फर्जी वेबसाइट kotekcardredeem.com ओपेन हो जाती थी. इस वेबसाइट पर लोग अपना नाम, ई-मेल आईडी, पासवर्ड, मोबाइल नंबर, कार्ड के डीटेल्स और 3 डिजिट का CVV डाल देते थे. सारी जानकारियां भरने के बाद वह इन जालसाजों के पास पहुंच जाती थी. फिर जालसाज जानकारी का इस्तेमाल करके ट्रांजैक्शन करते थे, क्योंकि क्रेडिट कार्ड का OTP (वन टाइम पासवर्ड) ई-मेल आईडी पर भी आता है.
Loading...

पुलिस टीम ने इनके कॉल सेंटर में छापा मारा, जहां से उन्हें 9.5 लाख रुपये कैश, 9 मोबाइल फोन, एक लैपटॉप, राउटर और 40 सिम कार्ड बरामद हुए हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गैजेट्स से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 20, 2019, 3:37 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...