लॉकडाउन: Work from Home का सहारा लेकर भारतीय कंपनियों को निशाना बना रहे हैं साइबर क्रिमनल्स

लॉकडाउन: Work from Home का सहारा लेकर भारतीय कंपनियों को निशाना बना रहे हैं साइबर क्रिमनल्स
(सांकेतिक फोटो)

  • Share this:
नई दिल्ली. पीडब्ल्यूसी ने एक रिपोर्ट में कहा है कि कोरोना वायरस महामारी (coronavirus pandemic) के दौरान ‘घर से काम’ पर अमल कर रही भारतीय कंपनियों को साइबर हमलों (cyber crime) से बचने के लिये ठोस उपाय करने की जरूरत है.  कंपनी ने एक रिपोर्ट में कहा कि कोरोना वायरस महामारी फैलने के बाद साइबर हमलों के मामले में तेजी आई है. कहा गया, ‘जनवरी 2020 से मार्च 2020 के दौरान भारतीय कंपनियों पर साइबर हमले दो गुना हो गए हैं. फरवरी महीने में साइबर हमलों में काफी तेजी आई और संवेदनशील सेवाओं में सेंध लगाने तथा रिमोट पर्सनल कंप्यूटर तक पहुंच बनाने पर जोर रहा.’

रिपोर्ट में कहा गया, ‘इनमें ऐसी भी मुहिमें रहीं जिनमें साइबर हमला करने वाले ने कोविड-19 के खिलाफ जारी अभियान में जुटी विभिन्न एजेंसियों के अधिकारियों के तौर पर खुद को पेश किया.’

पीडब्ल्यूसी ने कहा कि 15 मार्च के बाद भारत में कोरोना वायरस से संक्रमण के मामलों में तेज वृद्धि हुई और इसके साथ ही कई भारतीय कंपनियों को निशाना बनाने के भी मामले बढ़े. कई कंपनियों ने बताया कि 17 फरवरी से 20 फरवरी के दौरान साइबर हमलों में 100 प्रतिशत तेजी आई.



पीडब्ल्यूसी इंडिया के साइबर सुरक्षा के लीडर सिद्धार्थ विश्वनाथन ने कोरोना वायरस महामारी फैलने के बाद साइबर हमलों में हुई वृद्धि के बारे में कहा, ‘अभी अधिकांश कंपनियां घर से काम पर निर्भर हैं. ये कंपनियां परिसर से बाहर स्थित बुनियादी संरचना को सुरक्षित बनाने के बजाय रोजाना के परिचालन को बनाए रखने पर ध्यान दे रही हैं.
वहीं हैकर इस मौके का फायदा उठाने में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहते हैं. इस कारण कंपनियों को परिसर से बाहर स्थित बुनियादी संरचना को लेकर सुरक्षा के ठोस उपाय करने तथा कर्मचारियों को सुरक्षित पहुंच मुहैया कराने की ज़रूरत है.’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज