लाइव टीवी

Delhi-NCR में दोगुने से ज्यादा बढ़ा डिजिटल पेमेंट, Amazon Pay है लोगों की पहली पसंदः रिपोर्ट

News18Hindi
Updated: January 22, 2020, 1:32 PM IST
Delhi-NCR में दोगुने से ज्यादा बढ़ा डिजिटल पेमेंट, Amazon Pay है लोगों की पहली पसंदः रिपोर्ट
कंज्यूमर्स के बीच अमेजन पे वॉलेट को सबसे ज्यादा प्राथमिकता (33 फीसदी) दी जाती है, वहीं ओला मनी (17 फीसदी) दूसरे स्थान पर रहा.

दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) में साल 2018 से 2019 के बीच डिजिटल ट्रांजेक्शन (Digital Trasaction) 235 प्रतिशत बढ़ चुका है. जिसके बाद अब यह क्षेत्र देश का तीसरा सबसे ज्यादा डिजिटाइज़्ड एरिया हो गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 22, 2020, 1:32 PM IST
  • Share this:
फाइनेंशियल सर्विस वाली एक कंपनी रेजरपे (RazorPay) की रिपोर्ट के मुताबिक दिल्ली-एनसीआर में साल 2018 से 2019 के बीच डिजिटल ट्राजेक्शन 235 प्रतिशत बढ़ चुका है. जिसके बाद अब यह क्षेत्र देश का तीसरा सबसे ज्यादा डिजिटाइज़्ड एरिया हो गया है. रेज़रपे के सीईओ और को-फाउंडर हरशिल माथुर ने कहा, 'डिजिटल करेंसी को मेनस्ट्रीम में लाने और और डिजिटल पेमेंट को बढ़ाने की वजह से पिछला साल फाइनेंशियल टेक्नॉलजी वाले सेक्टर के लिए काफी अच्छा रहा. पिछले छह महीनों में कन्ज़म्पशन पैटर्न और बिजनेस के मामले में काफी शिफ्ट भी दिखा है. लोगों ने डिजिटल पेमेंट को ज्यादा अपनाया है.' उन्होंने कहा, 'दिल्ली में यूपीआई से पेमेंट के मामले में 442 फीसदी की बढ़ोत्तरी हुई है जिससे मुझे लगता है कि आगे आने वाले 12 महीनों में कार्ड्स को कम से कम 20 फीसदी तक ओवरटेकर कर लिया जाएगा.'

बता दें कि साल 2019 में सबसे ज्यादा डिजिटल पेमेंट कर्नाटक में (26.64 फीसदी), फिर महाराष्ट्र (15.92 फीसदी) और इसके बाद दिल्ली एनसीआर (13.01 फीसदी) में बढ़ोत्तरी हुई. हालांकि, इस बीच कार्ड (46 फीसदी) और नेट बैंकिंग (11 फीसदी) का यूज़ घटा है. पहले कार्ड से पेमेंट 56 फीसदी था जबकि नेट बैंकिंग से पेमेंट 23 फीसदी था. वहीं यूपीआई की बात करें तो यह साल 2018 में इसका यूज़ 38 फीसदी था जो कि 17 फीसदी बढ़ गया है.

रिपोर्ट के मुताबिक कंज्यूमर्स के बीच अमेजन पे वॉलेट को सबसे ज्यादा प्राथमिकता (33 फीसदी) दी जाती है, वहीं ओला मनी (17 फीसदी) दूसरे स्थान पर रहा. डिजिटल पेमेंट के लिए टॉप तीन सेक्टर्स क्रमशः फूड एंड बिवेरेज (26 फीसदी), फाइनेंशियल सर्विसेज़ (12.5 फीसदी) और ट्रांसपोर्टेशन (8 फीसदी) रहे. यूपीआई में भी गूगल पे से 59 फीसदी, फोन पे से 26 फीसदी, पेटीएम से 7 फीसदी और भीम ऐप से 6 फीसदी पेमेंट किए गए.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मोबाइल-टेक से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 22, 2020, 1:30 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर