• Home
  • »
  • News
  • »
  • tech
  • »
  • ERRICSON RELEASED REPORT ON 5G SERVICES IN INDIA SAID 40 MILLION PEOPLE WILL USE IN 1 YEAR TECH NEWS AMDM

Erricson Report: लॉन्च के एक साल में 4 करोड़ लोग करेंगे 5G सेवाओं का इस्तेमाल

भारत में 5जी मोबाइल नेटवर्क ट्रायल जल्‍द शुरू होगा.

एरिक्सन की रिपोर्ट के मुताबिक 5G सेवाओं के लॉन्च होने के 1 साल के अंदर 4 करोड लोग इन सेवाओं का इस्तेमाल करने लगेंगे. रिपोर्ट के मुताबिक करीब 67 फीसदी लोगों ने 5G सेवाओं को अपनाने में रुचि दिखाई है. साथ ही 50फीसदी लोग इन सेवाओं के लिए ज्यादा पैसा देने के लिए भी तैयार है.

  • Share this:

    नई दिल्ली. भारत में 5G सेवाओं की शुरुआत होते ही एक साल के अंदर 4 करोड लोग 5G सेवाओं को अपना लेंगे और लोग 5G के लिए अधिक बिल चुकाने के लिए भी तैयार है. यह दावा एरिक्सन (Erricson) ने अपनी एक रिपोर्ट में किया है. मालूम हो देश में अभी टेलीकॉम कंपनियों को 5G ट्रायल की हरी झंडी मिलने के बाद टेलीकॉम कंपनियां ट्रायल की तैयारी कर रही है. इस बीच एरिक्सन ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया है कि भारत में कंजूमर 5G सेवाओं को हाथों-हाथ अपनाने के लिए तैयार है. एरिक्सन की रिपोर्ट के मुताबिक 5G सेवाओं के लॉन्च होने के 1 साल के अंदर 4 करोड लोग इन सेवाओं का इस्तेमाल करने लगेंगे. रिपोर्ट के मुताबिक करीब 67 फीसदी लोगों ने 5G सेवाओं को अपनाने में रुचि दिखाई है. साथ ही 50फीसदी लोग इन सेवाओं के लिए ज्यादा पैसा देने के लिए भी तैयार है. 70 फीसदी लोगों को उम्मीद है कि उन्हें 5G से बेहतर स्पीड मिलेगी. 5G उपभोक्ता क्लाउड गेमिंग और एगुमेंट रिएलिटी जैसे एप्लीकेशंस पर 2 से 3 घंटे बिताना पसंद करेंगे। और 2025 तक ग्राहक 5G सेवाओं और एक्सटेंडेड रियलिटी पर 7 से 8 घंटे प्रति हफ्ते बिताएंगे.


    सस्ते होंगे 5G हैंडसेट 


    पिछले साल से हैंडसेट मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों ने अपना फोकस 5G हैंडसेट पर बढ़ा दिया है.कंपनियां बड़ी तेजी से 5G हैंडसेट उतार रही है. अभी 5G हैंडसेट की कीमत 18,000 से शुरू हो रही है जानकार मानते हैं कि आने वाले दिनों में हैंडसेट सस्ते होंगे और 5G चुनिंदा लोगों तक सीमित नहीं रहेगा और सभी ग्राहकों को जल्द से जल्द 5G सेवाओं के इस्तेमाल करने का मौका मिलेगा. 


    ये भी पढ़ें - भारत बायोटेक पुणे में करेगा Covaxin का निर्माण, प्लांट के अगस्त अंत तक चालू होने की उम्मीद



    दो साल देर से शुरू होगा ट्रायल

    भारत में 5G सेवाओं का ट्रायल 2 साल की देरी से शुरू हो रहा है लेकिन टेलीकॉम कंपनियां सेवाएं देने के लिए अब पूरी तरह से तैयार है. कंपनियां अपने मौजूदा स्पेक्ट्रम बैंड में इसका ट्रायल भी कर चुकी है अब कंपनियों को इंतजार है सरकार कब स्पेक्ट्रम की नीलामी कराती है जिसके बाद कंपनियां ग्राहकों को तेजी से 5G सेवाएं मुहैया करा सकेंगी.


    इतना पीछे है भारत 5G के मामले में
    हालांकि भारत  5G नेटवर्क की दौड़ में सबसे विकसित देशों से पीछे है. पिछले साल नेटवर्क परीक्षण प्रदाता VIAVI के आकड़ों के अनुसार 34 देशों के 378 शहरों में 5G नेटवर्क उपलब्ध थे और तब से इसमें वृद्धि हुई है. उस समय दक्षिण कोरिया ने 85 शहरों में कवरेज का मार्ग प्रशस्त किया, चीन ने 57, अमेरिका ने 5, यूके के पास पहले से ही 5G नेटवर्क वाले 31 से अधिक शहर है. 

    Published by:Amit Deshmukh
    First published: