• Home
  • »
  • News
  • »
  • tech
  • »
  • Universal Phone Charger: यूरोपियन यूनियन का प्रस्ताव, हर फोन के लिए हो एक चार्जर

Universal Phone Charger: यूरोपियन यूनियन का प्रस्ताव, हर फोन के लिए हो एक चार्जर

प्रतीकात्मक तस्वीर

प्रतीकात्मक तस्वीर

यूरोपियन यूनियन (European Union) ने गुरुवार को घोषणा की कि स्मार्टफोन इंडस्ट्री को मोबाइल डिवाइस के लिए एक समान चार्जिंग कॉर्ड को अपनाने की आवश्यकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्ली. यूरोपियन यूनियन (European Union) ने गुरुवार को घोषणा की कि स्मार्टफोन इंडस्ट्री को मोबाइल डिवाइस के लिए एक समान चार्जिंग कॉर्ड को अपनाने की आवश्यकता है, जिससे कई सारे चार्जिंग कॉर्ड और उनसे होने वाली दिक्कतों से छुटकारा मिल जाएगा. यूरोपीय आयोग, ब्लॉक की कार्यकारी शाखा ने यूएसबी-सी चार्जिंग कॉर्ड की आवश्यकता वाले कानून का प्रस्ताव दिया है.

    एप्पल कर रही है विरोध
    यह एक ऐसी तकनीक जिसे कई गैजेट निर्माताओं ने पहले ही स्वीकार कर लिया है. एप्पल (Apple) इस योजना में सबसे बड़ी बाधा बना हुआ है, जिसके अनुसार इस नए नियम के आने के बाद ग्राहकों को नुकसान होगा और नई टेक्नोलॉजी विकसित करने में समस्या उत्पन होगी. एप्पल का लाइटनिंग चार्जिंग पोर्ट iPhones पर बतौर स्टैंडर्ड है, हालांकि नए मॉडलों में ऐसे केबल शामिल हैं जिन्हें USB-C पोर्ट में प्लग किया जा सकता है.

    ये भी पढ़ें- बिटकॉइन में टिप ले सकेंगे Twitter यूजर्स, कंपनी ने एनएफटी सहित कई फीचर्स का किया खुलासा

    यूरोपीय यूनियन के दृष्टिकोण की निस्संदेह उन लाखों यूज़र्स द्वारा सराहना की जाएगी, जिन्हें अपने फोन को चार्ज करते समय काफी सारी चार्जिंग केबल्स में से ढूंढने में परेशानी होती है. इसके साथ ही यूरोपीय यूनियन हर साल यूरोपीय लोगों द्वारा फेंके जाने वाले 11 हजार मीट्रिक टन इलेक्ट्रॉनिक कचरे में भी कटौती करना चाहता है.

    यूरोपीय आयोग के अनुसार, औसत यूरोपीय यूनियन के निवासी के पास कम से कम तीन चार्जर होते हैं और उनमें से दो का नियमित रूप से इस्तेमाल करते हैं, लेकिन 38 फीसदी लोगों का कहना है कि वे अपने फोन को कम से कम एक बार चार्ज नहीं कर पाए क्योंकि वे एक कम्पेटिबल चार्जर को ढूंढ़ने में असमर्थ थे. पिछले साल यूरोपीय यूनियन में करीब 420 मिलियन मोबाइल फोन या पोर्टेबल इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस बेचे गए थे.

    ये भी पढ़ें- Tips and Tricks: बिना किसी की चैट खोले कैसे पढ़ें WhatsApp मैसेज, जानिए तरीका

    यूरोपीय यूनियन के अनुसार, प्रस्तावित दिशानिर्देश फास्ट चार्जिंग तकनीक को स्टैंडर्डडाइस करने और यूजर्स को नए डिवाइस लेने या न लेने का विकल्प देता है, जिससे यूजर्स को हर साल करीब 250 मिलियन यूरो की बचत होती है. यूरोपीय यूनियन का कार्यकारी आयोग एक दशक से अधिक समय तक इस क्षेत्र को एक स्टैंडर्ड अपनाने के लिए प्रयास करने के बाद इस मुद्दे को आगे बढ़ा रहा है, ऐसे प्रयास जो दर्जनों विभिन्न चार्जिंग प्लग को बहुत कम कर देंगे.

    नियम केवल यूरोपीय बाजार के 30 देशों में बेचे जाने वाले इलेक्ट्रॉनिक्स पर लागू होंगे
    नए नियमों के लागू होने के बाद कंपनियों को नए नियमों के अनुकूल होने के लिए दो साल का समय मिलेगा. नियम केवल यूरोपीय बाजार के 30 देशों में बेचे जाने वाले इलेक्ट्रॉनिक्स पर लागू होंगे, लेकिन यूरोपीय यूनियन के स्ट्रिक्ट प्राइवेसी पॉलिसी की तरह, वे दुनिया के बाकी हिस्सों के लिए एक स्टैंडर्ड बन सकते हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज