Facebook ने पेश की अपनी करेंसी 'Libra', मैसेंजर और WhatsApp से भी भेज सकेंगे पैसे

जानें क्या है फेसबुक की सर्विस 'Libra' और आप कैसे आप एक से दूसरे देश में भी बिना किसी चार्जेज़ के पैसे भेज सकेंगे...

News18Hindi
Updated: June 19, 2019, 10:43 AM IST
Facebook ने पेश की अपनी करेंसी 'Libra', मैसेंजर और WhatsApp से भी भेज सकेंगे पैसे
Facebook Libra
News18Hindi
Updated: June 19, 2019, 10:43 AM IST
सोशल मीडिया दिग्गज फेसबुक ने आखिरकार अपनी क्रिप्टोकरेंसी की जानकारी सार्वजनिक कर दी है. कंपनी की इस करेंसी का नाम है ‘Libra’, जिससे खरीदारी करने या किसी को भेजने पर ज़ीरो फीस लगेगी यानी कि कोई एक्सट्रा चार्ज नहीं लगेगा. यह एक तरह का पेमेंट सिस्टम है जो अगले साल तक यूज़र्स को मिलेगा. फेसबुक साल 2020 में लिब्रा क्रिप्टोकरेंसी के साथ ‘Calibra’ डिजिटल वॉलेट भी लॉन्च करेगा. फेसबुक की तरफ से मंगलवार को रिलीज़ किए गए व्हाइट पेपर में बताया गया कि Calibra ग्लोबल क्रिप्टोकरेंसी है, जिसे ब्लॉकचेन टेक्नॉलजी पर बनाया गया है, जो कि WhatsApp और Messenger में भी काम करेगा.

बता दें कि Libra पर फेसबुक का अकेले का कंट्रोल नहीं रहेगा, बल्कि इस क्रिप्टोकरेंसी बेस्ड प्रोजेक्ट के लिए मास्टर कार्ड, PayPal, वीजा, स्पॉटिफाई और स्ट्राइप जैसी कंपनियों ने पहले से ही फेसबुक को 10 मिलियन डॉलर्स दिए हैं, ताकि फेसबुक उन्हें अपने नेटवर्क में शामिल कर सके. इन कंपनियों के सभी प्लेटफॉर्म पर क्रिप्टोकरेंसी मान्य होगी और यूजर्स आसानी से मोबाइल रिचार्ज, टैक्सी पैमेंट और बिल पेमेंट कर सकेंगे. (ये भी पढ़ें-सरकार की बात मानी तो WhatsApp में हो जाएगा बड़ा बदलाव, यूजर्स पर होगा सीधा असर)

कंपनी के अधिकारी डेविड मार्केस का कहना है कि कैलिबरा से दुनिया के अरबों लोगों तक ओपन फाइनेंशियल इकोसिस्टम पहुंचाने की संभावना है. इस माध्यम के जरिए फेसबुक अपने ग्राहकों को बिना बैंक अकाउंट की सुविधा के ऑनलाइन पैसे ट्रांसफर करने की सुविधा देगा.


फेसबुक का कहना है कि वर्तमान में दुनिया में करोड़ों लोग अपने देश से बाहर रहकर कमाई करते हैं और अपने घरों पर पैसे भेजते हैं. एक देश से दूसरे देश में पैसा भेजने के लिए अभी लोगों को 25 अरब डॉलर का शुल्क अलग से चुकाना पड़ता है, लेकिन लिब्रा क्रिप्टोकरेंसी के आने के बाद लोग आसानी से बिना किसी चार्जेज़ के दूसरे देशों में पैसा भेज सकेंगे.

Calibra और Libra में क्या है फर्क?
आसानी से समझने के लिए बता दें कि ‘Bitcoin’ की तरह Libra भी एक क्रिप्टोकरेंसी की तरह काम करेगी. जबकि Calibra एक प्लैटफॉर्म है जहां Libra के ज़रिए यूज़र्स ट्रांजैक्शन कर सकेंगे. Libra एक जेनेवा बेस्ड नॉन प्रॉफिट एसोसिएशन है और इसका टार्गेट अरबों लोगों की आर्थिक तौर पर सर्व करने का है.
Loading...

Photo: Facebook


सिक्योरिटी को लेकर कही ये बात
फेसबुक ने कहा है कि अभी Calibra की टेस्टिंग स्टेज पर है और प्रोडक्ट को सेफ डिलिवर करने के लिए कंपनी एक्सपर्ट्स के साथ मिल कर काम कर रही है. पहले ही डेटा प्राइवेसी और फेक न्यूज की समस्या जिस तरह से फेसबुक के साथ देखने को मिली है उसे देखते हुए फेसबुक का कहना है कि लिब्रा क्रिप्टोकरेंसी का इस्तेमाल करने वाले यूज़र्स की सेफ्टी पर पूरा ध्यान रखेगा. (ये भी पढ़ें-एक नहीं Facebook पर 5 अकाउंट चला सकते हैं आप, वीडियो में देखें पूरा तरीका)

Photo: Facebook


कैलिब्रा कस्टमर अकाउंट सेक्योरिटी पॉलिसी के तहत यूज़र्स के बारे में सीमित जानकारी ही एक्सेस कर सकेगा. इतना ही नहीं कंपनी ने ये भी कहा है कि फेसबुक Calibra यूजर्स के डेटा को टार्गेट ऐड के लिए भी यूज नहीं करेगी. हालांकि कंपनी ने कहा है कि लिमिटेड केस में कंपनी यूजर को सेफ रखने के मकसद से डेटा यूज कर सकती है.

लिबरा के साथ-साथ कंपनी इसके लिए एक समर्पित सपोर्ट भी लॉन्च करेगी जिससे अगर फोन खो जाए या यूज़र पासवर्ड भूल जाए तो भी इसका इस्तेमाल कर सके. साथ ही कंपनी ने कहा है कि अगर कैलिब्रा इस्तेमाल के ज़रिए कोई फ्रॉड भी होता है तो उसकी भरपाई कंपनी की ओर से की जाएगी.

आपको होगा ये फायदा
Libra से यूज़र्स फेसबुक मैसेंजर पर आसानी से पैसे भेजेंगे और रिसीव कर सकेंगे. इतना ही नहीं यूज़र्स WhatsApp के ज़रिये भी पैसों के ट्रांजैक्शन कर सकेंगे. इसमें यूज़र्स को एक डिजिटल वॉलेट ऐप मिलेगा जहां वो अपने सारे ट्रांजैक्शन का ट्रैक रख सकेंगे. फेसबुक की दी गई जानकारी के मुताबिक पैसे भेजने के लिए यूज़र्स को किसी तरह का कोई एक्स्ट्रा चार्ज नहीं देना होगा.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
First published: June 19, 2019, 9:58 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...