Facebook से बढ़ रहे ऑनलाइन फ्रॉड के मामले! इस तरह बचाएं खुद को और यहां करें शिकायत

 तेजी से बढ़ रहा ऑनलाइन फ्रॉड
तेजी से बढ़ रहा ऑनलाइन फ्रॉड

ऑनलाइन फ्रॉड के इस काले बाजार में वैसे तो ज्यादातर सीधे साधे लोग ही शिकार बनते हैं लेकिन अब ये फ्रॉड हाईलेवल पर होने लगा है. विधायक से लेकर एसपी, डीएसपी तक इसका शिकार हो रहे हैं. हालिया मामला गुजरात के जमालपुर का है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 13, 2020, 1:07 PM IST
  • Share this:
गुजरात के जमालपुर के कांग्रेस विधायक इमरान युसूफभाई खेड़ावाला ने फेसबुक फ्रॉड (Facebook fraud) को लेकर साइबर सेल में FIR दर्ज कराई है. दरअसल उनके दोस्तों को फेसबुक पर उनके नाम से बने एक अकाउंट पर एक पोस्ट दिखा. पोस्ट में लिखा था, 'मैं अभी गांधी नगर में हूं और मुझे तत्काल 30 हजार रुपये की जरूरत है. आप दिये गये नंबर पर गूगल पे या पेटीएम कर सकते हैं.' खेड़ावाला के दोस्तों को लगा कि उन्हें पैसे की जरूरत होती तो वो कॉल करते या किसी को बोलते ऐसे फेसबुक पोस्ट करके किसी से भी पैसे कैसे मांग सकते हैं.

दोस्तों ने कन्फर्म करने के लिए खेड़ावाला को जब फोन किया तो पता चला कि ये पोस्ट उन्होंने किया ही नहीं था बल्कि उनकी तस्वीर और व्यक्तिगत डिटेल्स का इस्तेमाल करके फर्जी अकाउंट बनाया गया है. फर्जी अकाउंट से पैसे मांगे जा रहे थे. इसके बाद विधायक खेड़ावाला ने साइबर सेल में एफआईआर दर्ज कराई.

ऐसा ही एक मामला भुवनेश्वर में भी सामने आया. इसका शिकार कोई और नहीं बल्कि भुवनेश्वर के पुलिस कमीश्नर सुधांशू सारंगी बने. असल से साइबर अपराधियों ने सुधांशू सारंगी का एक फेसबुक अकाउंट बनाया और उन्हीं की तस्वीर और अकाउंट डिटेल्स का इस्तेमाल कर पैसे की डिमांड करने लगे. बाद में सुधांशू सारंगी ने फेसबुक यूजर्स से अपील की कि वो ऐसे किसी अकाउंट पर पैसे ट्रांसफर न करें जो उनकी फोटो और डिटेल्स का इस्तेमाल करके पैसे मांग रहा हो. पुलिस कमीश्नर सुधांशू सारंगी ने कहा कि उनका अकाउंट हैक नहीं हुआ है बल्कि कोई उनकी फोटो का इस्तेमाल करके नया अकाउंट बनाकर लोगों से पैसे मांग रहा है.



ये भी पढ़ें: मोबाइल फोन ​पर ज्यादा खर्च करने के लिए रहें तैयार, इस रिपोर्ट ने बढ़ाई यूजर्स की चिंता!
ओडिशा के पुलिस डीआईजी अनुप कुमार ने भी फेसबुक पर ऐसा ही पोस्ट किया और लोगों को ऑनलाइन फ्रॉड से बचने के लिए सावधान किया है. इसी तरह मुंबई की एक महिला जुलाई में फेसबुक पर 11 लाख रुपये के ऑनलाइन फ्रॉड का शिकार हुई थी.

जानिए कैसे होती है पैसों की ठगी-

हाल फिलहाल में फेसबुक के जरिये ऑनलाइन फ्रॉड के हजारों मामले सामने आये हैं. लेकिन समझने की जरूरत है कि आखिर ये ऑनलाइन फ्रॉड होता कैसे है. पैसों की ठगी या ऑनलाइन फ्रॉड सिर्फ फेसबुक तक सीमित नहीं है. व्हाट्सऐप और ओलेक्स के जरिये भी ऑनलाइन फ्रॉड के मामले सामने आये हैं.

फेसबुक मैसेंजर के पर्सनल चैट में अगर आपका कोई करीबी दोस्त या रिश्तेदार आपको मैसेज करे कि उसे तत्काल कुछ पैसों की जरूरत है, वो आज कल में आपको लौटा देगा तो आपका रिसपॉन्स क्या होगा? अगर उसने बहुत ज्यादा पैसे नहीं मांगे हैं तो बहुत संभावना है कि आप उसे तुरंत वो पैसे ट्रांसफर कर दें. लेकिन ट्रांसफर करने के बाद जब आप अपने दोस्त से कॉल करके पैसे मांगे तो आपको पता चले कि आप ऑनलाइन ठगी का शिकार हो गये हैं.

ऐसी कुछ घटनायें पिछले 6 महीने में बहुत तेजी से बढ़ी हैं. ऑनलाइन ठगों ने पहले तो अकाउंट हैक करने की कोशिश की और फिर उसकी फ्रेंड लिस्ट में जाकर दोस्तों से पैसे मांगे. ये मामले इतने तेजी से बढ़े कि अब लोग खुद भी थोड़ा जागरुक होने लगे. लेकिन ऑनलाइन फ्रॉड करने वालों ने अब एक और नया तरीका निकाला है. अब वो किसी बड़े सेलिब्रिटी, बड़े राजनेता, बड़े सरकारी अधिकारी या पुलिस अधिकारी की फर्जी आईडी बनाकर, उनकी तस्वीरें और पोस्ट इस्तेमाल करके फेसबुक पर किसी जरूरी काम या सार्वजनिक काम के नाम पर पैसे मांगते हैं. लोग ऑफिशियल अकाउंट समझकर पैसे ट्रांसफर भी कर देते हैं.

ऑनलाइन फ्रॉड का शिकार होने पर क्या करें –

>> अगर आप ऑनलाइन ठगी का शिकार होते हैं तो आप नेशनल साइबर क्राइम रिपोर्टिंग पोर्टल (www.cybercrime.gov.in) पर शिकायत दर्ज करा सकते हैं.
>> इस वेबसाइट पर दो तरह की शिकायत दर्ज करायी जा सकती है. महिला या बच्चे से जुड़े अपराध और दूसरे ऑनलाइन अपराध.
>> आप इस पोर्टल पर अपना नाम, मोबाइल नंबर देकर खुद को रजिस्टर कर सकते हैं और अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं.
>> शिकायत करते समय आपको कुछ सुबूत देने होते हैं. जैसे

Credit card receipt
Bank statement
Envelope (if received a letter or item through mail or courier)
Brochure/Pamphlet
Online money transfer receipt
Copy of email
URL of webpage
Chat transcripts
Suspect mobile number screenshot
Videos
Images
Any other kind of document

आपके शिकायत दर्ज करने के बाद मामले को संबंधित राज्य में ट्रांसफर किया जाता है. जहां आगे की जांच होती है. इसी वेबसाइट पर आप जांच की प्रगति चेक कर सकते हैं. वेबसाइट पर Report and Track का ऑप्शन है जहां आप देख सकते हैं.

ये भी पढ़ें: वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग ऐप Zoom ने यूजर्स को दिया तोहफा! अब भारतीयों के लिए सब्सक्रिप्शन खरीदना हुआ आसान

क्या शिकायत वापस ली जा सकती है –
अगर शिकायत महिला या चाइल्ड अपराध से जुड़ी हो तो इसे वापस नहीं लिया जा सकता है लेकिन अगर यह दूसरे तरह का ऑनलाइन फ्रॉड है तो इसे वापस लिया जा सकता है. लेकिन यह तभी तक संभव है जब तक आपकी शिकायत, FIR में न बदली हो. यानी FIR रजिस्टर होने के बाद इसे आप वापस नहीं ले सकते हैं.

फेसबुक की गाइडलाइन्स क्या हैं –
ऑनलाइन फ्रॉड होने पर फेसबुक सीधे तौर पर कोई कार्रवाई नहीं कर सकता. केवल संबंधित पोस्ट को रिमूव कर सकता है. लेकिन फेसबुक ने हेल्प सेक्शन में ऑनलाइन फ्रॉड से बचने के कुछ उपाय बताये हैं. साथ ही फ्रॉड को 5 कैटेगरी में बांटा है.

1. Romance Scam
2. Lottery Scams
3. Loan Scams
4. Access Token Theft
5. Job Scams

ये भी पढ़ें: Flipkart Big Billion Days: 16 अक्टूबर से Samsung, Oppo, Realme सहित किस फोन पर मिल रही कितनी छूट, यहां करें चेक

अगर हम अपने आस-पास देखें तो ज्यादातर मामले रोमांस, लॉटरी और जॉब से ही जुड़े हुए होते हैं. अगर आप ऑनलाइन बहुत ज्यादा सक्रिय हैं तो जरूरी है कि कुछ बातों का आप ध्यान रखें. जैसे अगर कोई आपसे पैसा मांग रहा हो जिसे आप व्यक्तिगत रूप से न जानते हों. अगर कोई आपको पैसा देने, गिफ्ट कार्ड्स देने, लोन देने या कैश प्राइज देने की बात कर रहा हो. जॉब एप्लिकेशन जमा करने के लिए अगर कोई आपसे फीस मांग रहा हो. कोई व्यक्ति आपके रिश्तेदार या दोस्त का नाम लेकर पैसा मांगे, यह कहकर कि आपका दोस्त गंभीर हालत में है, इलाज के लिए पैसा चाहिये. ऐसे मैसेज या फेसबुक पोस्ट जिनमें भाषा की गलतियां हों. अगर आप इन बातों का ध्यान रखें तो काफी हद तक आप ऑनलाइन फ्रॉड से बच सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज