लाइव टीवी
Elec-widget

फेसबुक यूज़र्स हो जाएं सावधान! हर साल 5 लाख लोग हो रहे हैं ‘Revenge Porn’ के शिकार-रिपोर्ट

News18Hindi
Updated: November 20, 2019, 1:01 PM IST
फेसबुक यूज़र्स हो जाएं सावधान! हर साल 5 लाख लोग हो रहे हैं ‘Revenge Porn’ के शिकार-रिपोर्ट
Facebook

फेसबुक (social media giant facebook) को हर महीने 5 लाख रिवेंज पोर्न (revenge porn) की शिकायतें मिलती हैं... जानें क्या होता है Revenge Porn??

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 20, 2019, 1:01 PM IST
  • Share this:
सोशल मीडिया दिग्गज फेसबुक (social media giant facebook) को हर महीने 5 लाख रिवेंज पोर्न (revenge porn) की शिकायतें मिलती हैं. सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक (facebook) को ये शिकायतें अपनी बाकी कंपनियों इंस्टाग्राम, मैसेंजर और वॉट्सऐप के ज़रिए से भी मिलती है. रिपोर्ट के मुताबिक फेसबुक के पास अब लगभग 2.6 अरब मंथली एक्टिव यूज़र्स हैं.

एनबीसी न्यूज के मुताबिक, इस साल की शुरुआत में फेसबुक ने नॉन-कन्सेंश्यूअल इंटिमेट इमेज आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) टूल लॉन्च किया था. इसके ज़रिए यूज़र द्वारा रिपोर्ट किए जाने से पहले ही रिवेंज पोर्न कहां से भेजा गया इसका पता लगाया जा सकता है.

2017 में कंपनी ने एक पायलट प्रोजेक्ट लॉन्च किया था, जो यूज़र्स के प्लैटफॉर्म पर अंतरंग (intimate) तस्वीरों को सब्मिट करने के बाद इसे पहचानते ही हटाने में सक्षम था.

फेसबुक यूजर डेटा

क्या होता है Revenge Porn?
अगर किसी शख्स की सहमति के बिना उसकी अंतरंग (intimate) फोटो या वीडियो को ऑनलाइन पोस्ट कर दिया जाए या वायरल किया जाए तो उसे ‘रिवेंज पोर्न’ कहते हैं. रिपोर्ट के मुताबिक ऐसी एक्टिविटी ज़्यादातर एक्स-पार्टनर के द्वारा की जाती है. इसका मकसद उस शख्स को ब्लैकमेल करना या परेशान करना होता है.

रिवेंज पॉर्न से लड़ने के लिए 25 लोगों की टीम
Loading...

फेसबुक में प्रोडक्ट पॉलिसी रिसर्च की प्रमुख राधा प्लम्ब के हवाले से NBC न्यूज ने कहा कि यह सुनने में कि आपकी इमेज को शेयर करने का अनुभव कितना भयानक था, प्रोडक्ट टीम वास्तव में यह पता लगाने की कोशिश में लगी रहती है कि हम क्या कर सकते हैं, जो कि सिर्फ रिपोर्ट्स का जवाब देने से बेहतर हो. फेसबुक में कंटेंट मॉडरेटर्स को छोड़कर लगभग 25 लोगों की टीम है, जो रिवेंज पॉर्न से लड़ने का काम करता है.



टीम का मकसद सिर्फ रिपोर्ट किए जाने के बाद फोटो या वीडियो को जल्दी से हटाना ही नहीं है, बल्कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का इस्तेमाल करके उन इमेज का पता लगाना भी है, जिन्हें टीम को अपलोड किए जाने से रोकना चाहिए.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ऐप्स से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 20, 2019, 12:23 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...