होम /न्यूज /तकनीक /गूगल प्ले स्टोर पर मौजूद हैं कई फर्जी ऐप्स! इन तरीकों से मिनटों में करें पहचान

गूगल प्ले स्टोर पर मौजूद हैं कई फर्जी ऐप्स! इन तरीकों से मिनटों में करें पहचान

फर्जी ऐप्स को कैसे पहचानें.

फर्जी ऐप्स को कैसे पहचानें.

मैलवेयर ऐप्स को लेकर आए दिन कोई न कोई बात सामने आती रहती है. गूगल भी ऐसी रिपोर्ट मिलने पर प्ले स्टोर से फेक ऐप को हटा द ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

अगर ऐप की रिव्यू नेगेटिव हैं या काफी लो रेटिंग हैं तो ऐसा मुमकिन है कि वह फर्जी ऐप हो.
किसी ऐप के बारे में कंफ्यूज़ हैं, तो आप सबसे पहले डेवलपर का नाम देख सकते हैं.
ऐप के डिस्क्रिप्शन को देखते समय इस्तेमाल की जाने वाली भाषा पर ध्यान दें.

नई दिल्ली. फेक ऐप्स को लेकर आए दिन खबरें आती हैं कि गूगल ने मैलवेयर से प्रभावित ऐप्स को स्पॉट किया है, और प्ले स्टोर उन्हें हटा दिया है. ऐसा होने पर गूगल यूज़र्स से भी उन ऐप्स को डिलीट करने की सलाह देती है, ताकि मैलिशियस मैलवेयर के चलते डेटा से जुड़ा कोई खतरा न हो. ऐसे में सवाल ये उठता है कि हम कैसे पहचानें कि गूगल प्ले स्टोर पर कौन सी ऐप फर्जी है, ताकि हम उसे पहले ही डाउनलोड न करें.

हमेशा Review देखें: जब भी प्ले स्टोर से कोई ऐप डाउनलोड कर रहे हों तो सबसे पहले उस ऐप के रिव्यू और रेटिंग देखें. अगर ऐप की रिव्यू नेगेटिव हैं या काफी लो रेटिंग हैं तो ऐसा मुमकिन है कि वह फर्जी ऐप हो.

ये भी पढ़ें- Google: ये हैं 2022 के बेस्ट एंड्रॉयड ऐप्स और गेम्स, लिस्ट में Angry Bird शामिल…

Icon पर ध्यान दें: दूसरी चीज़ जो यूज़र को नोटिस करनी चाहिए वह इसका आइकन है. अगर आइकन को देख कर आपको ऐसा लगता है कि आइकन इसे जल्दी में बनाया गया है, या यह बाकी ऐप के साथ फिट नहीं होता है, तो यह शायद एक वैलिड ऐप न हो.

ऐप की स्पेलिंग में गलती: ऐप के डिस्क्रिप्शन को देखते समय इस्तेमाल की जाने वाली भाषा पर ध्यान दें. अगर इसमें कई सारे स्पेलिंग में गलतियां या किसी तरह के डिस्क्रिप्शन में एरर है तो संभावना है कि ऐप गड़बड़ है. ऐसा इसलिए है क्योंकि वैध ऐप अकसर प्रोफेशनल डेवलपर्स और अन्य लोगों द्वारा बनाए जाते हैं जो उनके डिटेल को प्रूफरीड करने का ध्यान रखते हैं.

Developer का नाम चेक करें: यदि आप किसी ऐप के बारे में कंफ्यूज़ हैं, तो आप सबसे पहले डेवलपर का नाम देख सकते हैं. एक क्विक Google सर्च से पता चलता है कि डेवलपर का अच्छा नाम है या नहीं.

Download नंबर जांच लें: सही ऐप का पता लगाने का एक तरीका डाउनलोड नंबर भी हो सकता है. अगर किसी ऐप को लाखों बार डाउनलोड किया गया है, तो संभावना है कि वह वैध है. हालांकि, यदि डाउनलोड की संख्या बहुत कम है, तो इसके फेक होने का चांस हो सकता है.

App Permission चेक करें: जब आप कोई ऐप इंस्टॉल करते हैं, तो आपको उसे अपने फोन के अलग-अलग जगह तक पहुंचने की परमिशन देने के लिए कहा जाता है. ऐसा करने से पहले, ऐप द्वारा मांगी जा रही अनुमतियों पर एक नज़र डालें, और किसी भी ऐप के लिए देखें जो ज़रूरत से ज़्यादा अनुमतियां मांगता है.

Official Link चेक करें: यदि आप अभी भी किसी ऐप के बारे में सुनिश्चित नहीं हैं, तो इसके लिए ऑनलाइन आधिकारिक लिंक खोजने का प्रयास करें. एक वैध वेबसाइट में आम तौर पर एक वेबसाइट या सोशल मीडिया पेज होता है जिसे आप देख सकते हैं. यदि आपको कोई ऑफिशियल लिंक नहीं मिल रहा है, तो ध्यान देने की ज़रूरत है.

Tags: App, Google Play Store, Tech news, Tech news hindi

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें