अपना शहर चुनें

States

सावधान! Amazon और Apple के नाम पर हो रही ठगी, बचना है तो इन बातों का रखें ध्यान

सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर

फर्जी कॉल के जरिए लोगों को अब नये तरीके से ठगा जा रहा है. ये ठग अमेजन व एप्पल जैसी बड़ी कंपनियों के प्रतिनिधि बनकर लोगों को अपना शिकार बना रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 6, 2020, 8:11 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. धोखाधड़ी करने वाले आए दिन नई तरकीब से लोगों को ठग रहे हैं. अब ऐसे ही ठगों के बारे में पता चला है जो अमेजन या एप्पल जैसी बड़ी कंपनियों के प्रतिनिधि बनकर फेक कॉल (Fake Call) करते हैं और लोगों को अपना शिकार बनाते हैं. इन फर्जी कॉल्स के जरिए लोगों को भरोसा दिया जाता है कि उनके अकाउंट में कोई संदिग्ध गतिविधि हो रही है. जब एक बार यूजर को विश्वास हो जाता है कि उनके अकाउंट में ऐसी कोई गड़बड़ी हो रही है, तब ये ठग अकाउंट रिस्टोर करने या इसे ठीक करने का झांसा देते हैं. यूजर्स को इसके लिए ‘1’ डॉयल करवाते हैं. इसके बाद यूजर्स का कॉल स्कैमर्स के पास ट्रांसफर हो जाता है. ये स्कैमर्स पासवर्ड, पर्सनल डिटेल्स, क्रेडिट कार्ड समेत अन्य संवेदनशील जानकारियां चुरा लेते हैं.

अमेजन के नाम पर ऐसे ही एक कॉल पर बताया गया कि यूजर के अकाउंट की मदद से कोई संदिग्ध खरीद हुई है और यह पैकेज डिलीवरी के समय गुम हो गया. एप्पल के हवाले से किए दूसरे कॉल में यूजर्स को बताया गया कि उनके iCloud ID में कुछ संदिग्ध गतिविधि हो रही है या उनके अकाउंट को किसी ने एक्सेस किया है. इसे तुरंत ठीक किया जाना बेहद जरूरी है.

यह भी पढ़ें: इतना सस्ता हो गया Nokia का ये बजट स्मार्टफोन, कीमत सिर्फ 6,999 रुपये! जानें खासियत



आधिकारिक लिंक के जरिए ही कंपनी संपर्क करती है
दरअसल, बड़ी कंपनियां अपने ग्राहकों की समस्या का समाधान करने और शिकायत दर्ज करने के लिए ऑटोमेटेड कॉल्स का सहारा लेती हैं. ये जालसाज इसी सुविधा का फायदा उठाकर लोगों को ठगी का शिकार बना रहे हैं. आमतौर पर किसी भी कंपनी की कॉल में ग्राहकों से कहा जाता है कि वो आधिकारिक लिंक के ​जरिए ही अपनी समस्या का समाधान निकालें.

आप कैसे बचें ऐसी ठगी सें?
इस खुलासे के बाद अमेरिका के फेडरल ट्रेड कमिशन कंज्यूमर इन्फॉर्मेशन पोर्टल ने लोगों को सतर्क किया है कि किसी भी स्थिति में ऐसे नंबर पर कॉलबैक न करें. केवल कंपनी द्वारा लिस्टेड आधिकारिक कस्टमर केयर नंबर्स का ही ​इस्तेमाल करें.

लोगों को यह जानकारी दी गई कि कोई भी कंपनी अपने ग्राहकों को किसी भी दूसरे नंबर पर कॉलबैक कर उनकी शिकायत सुनने के लिए नहीं कहती है.

यह भी पढ़ें: अभी नहीं देख पा रहे हैं फ्री में Netflix तो न हों परेशान, बाद में भी फ्री में देख पाएंगे! जानें कैसे

हालांकि, यह मामला सीधे तौर पर भारत से नहीं जुड़ा है. लेकिन, इस तरह की ठगी आए दिन होती रहती है. ऐसे में जरूरी है कि इस तरह की ठगी से बचने के​ लिए सावधान रहें, सतर्क रहें और किसी भी तरह के फर्जी कॉल के झांसे में न आएं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज