अपना शहर चुनें

States

कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए इस राज्य ने शुरू की खास पहल, Google Map पर टच करते ही पता चल जाएगी Corona मरीजों की डिटेल्स

कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए इस राज्य ने की खास पहल, Google Map कर रहा मदद
कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए इस राज्य ने की खास पहल, Google Map कर रहा मदद

मध्यप्रदेश की स्मार्ट सिटी उज्जैन ने कोरोना संक्रमण से मृत और पॉजिटिव मरीजों को गूगल पर जिओ टैग (Google Map) किया है. मैप पर मृतक के लिए लाल, जिनका इलाज चल रहा है उन्हें पीला और जो ठीक हो गए हैं उन्हें हरे रंग के निशान से चिह्नित किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 21, 2020, 12:24 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना से बचने के लिए पूरा देश मिलकर प्रयास कर रहा है. इसी पहल में मध्यप्रदेश की स्मार्ट सिटी उज्जैन ने कोरोना संक्रमण से मृत और पॉजिटिव मरीजों को गूगल पर जिओ टैग (Google Map) किया है. मैप पर मृतक के लिए लाल, जिनका इलाज चल रहा है उन्हें पीला और जो ठीक हो गए हैं उन्हें हरे रंग के निशान से चिह्नित किया है. यदि किसी अधिकारी को इनके बारे में जानकारी लेनी है तो लिंक पर जाकर मैप पर दिए गए निशान को टच या क्लिक करना होगा.

मैप पर उसके बारे में पूरी जानकारी सामने आ जाएगी. इसमें मृतक और कोरोना पॉजिटिव की ट्रैवल और कॉन्टैक्ट हिस्ट्री भी दिखाई देगी. इस नई सुविधा से किसी भी विभाग को कोरोना प्रभावित लोगों और क्षेत्र के बारे में हर समय वांछित जानकारी मिल सकेगी. संभावना है कि इस सुविधा को प्रदेश के अन्य जिलों और अन्य राज्यों में भी अपनाया जा सकता है.

ये भी पढ़ें: कच्चे तेल के भाव में ऐतिहासिक गिरावट के बाद आया उछाल, जीरो डॉलर के ऊपर आई कीमत



कंटेनमेंट एरिया को भी किया गया टैग
स्मार्ट सिटी कंपनी के विशेषज्ञों ने कोरोना पीड़ितों और क्षेत्रों की जानकारी को एक क्लिक के साथ सामने लाने के लिए यह सुविधा निकाली है. मृतकों और बीमारों को जियो टैग कर उनके संबंध में पूरी जानकारी अटैच की गई है ताकि किसी भी समय उनके बारे में जरूरी जानकारी ली जा सके. मैप पर कंटेनमेंट एरिया को भी टैग किया गया है.

किस कंटेनमेंट एरिया में कौन-सौन से गली मोहल्ले हैं, यह भी मैप पर दिखेगा. इससे उन इलाकों में स्वास्थ्य संबंधी सावधानी तय करने तथा वहां के रहवासियों को दी जा रही सुविधाओं के बारे में भी निर्णय लेने में आसानी होगी. स्मार्ट सिटी के सीईओ प्रदीप जैन बताते हैं कि इस तरह का प्रयोग देश में पहली बार किया गया है. इस सुविधा को अन्य जिलों और राज्यों में भी उपयोग किया जा सकता है.

नाम-पता से लेकर सैंपल किस लैब में भेजा गया है ये सब जानकारी मिलेगी
नाम, उम्र, महिला या पुरुष, पता, मोबाइल या टेलीफोन नंबर, बीमार या मृत्यु की तारीख, अस्पताल में भर्ती की तारीख, अस्पताल का नाम, सेंपल लेने की तारीख, बीमारी के लक्षण, पुरानी बीमारी, सैंपल किस लेब में भेजा. जांच रिपोर्ट निगेटिव या पॉजिटिव. कितने लोगों के संपर्क में था. संपर्क में आए कितने लोगों की जांच हुई व जांच रिपोर्ट. अन्य कोई जानकारी जैसे कहां-कहां इलाज कराया. यात्रा कहां-कहां की व इलाज के बाद स्वस्थ होने पर कब अस्पताल से डिस्चार्ज किया आदि हिस्ट्री टैग के छूने पर दिखाई देगी.

ये भी पढ़ें: Income Tax को लेकर आई है आपको ये चिट्ठी तो हो जाएं खुश, खाते में आएंगे पैसे
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज