देश का पहला सोशल मीडिया ऐप Elyments देगा WhatsApp को टक्‍कर, उपराष्‍ट्रपति नायडू ने किया लॉन्‍च

देश का पहला सोशल मीडिया ऐप Elyments देगा WhatsApp को टक्‍कर, उपराष्‍ट्रपति नायडू ने किया लॉन्‍च
उपराष्‍ट्रपति वेंकैया नायडू ने आज देश का पहला सोशल मीडिया ऐप एलीमेंट्स लॉन्‍च कर दिया.

पहले स्‍वदेशी सोशल मीडिया ऐप एलीमेंट्स (Elyments) को 1,000 से ज्‍यादा आईटी प्रोफेशनल्स ने तैयार किया है. ये ऐप आठ से ज्‍यादा भारतीय भाषाओं (Indian languages) में उपलब्ध होगा. इसे गूगल प्ले स्टोर (Google Play Stores) और एप्‍पल ऐप स्टोर्स (Apple App Stores) से डाउनलोड किया जा सकता है.

  • Share this:
नई दिल्‍ली. चीन के 59 ऐप बंद होने के बाद सवाल उठ रहा था कि क्‍या भारत में ऐसे ऐप डेवलप किए जा सकते हैं. वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने भी इसके लिए आत्‍मनिर्भर भारत इनोवेशन चैलेंज लॉन्‍च किया था. इस बीच आज देश का पहला सोशल मीडिया ऐप एलीमेंट्स (Elyments) लॉन्‍च कर दिया गया. उप-राष्‍ट्रपति एम. वेंकैया नायडू (M. Venkaiah Naidu) ने एलीमेंट्स को लॉन्‍च करते हुए सभी देशवासियों से आत्मनिर्भर भारत अभियान से जुड़ने और लोकल इंडिया को ग्लोबल इंडिया में बदलने में मदद करने की अपील की. एक हजार से ज्‍यादा आईटी प्रोफेशनल्स की कड़ी मेहनत से तैयार ये ऐप आठ से ज्‍यादा भारतीय भाषाओं (Indian languages) में उपलब्ध होगा.

चैटिंग, ऑडियो-वीडियो कॉल के साथ ई-कामर्स सुविधा भी
स्‍वदेशी ऐप एलीमेंट्स को पूरी दुनिया में गूगल प्ले स्टोर (Google Play Stores) और एप्‍पल ऐप स्टोर्स (Apple App Stores) से डाउनलोड किया जा सकता है. लॉन्चिंग से पहले इस ऐप को कई महीनों तक लोगों के बीच टेस्ट किया गया है. ऐप के 2 लाख से ज्‍यादा डाउनलोड हो चुके हैं. इसमें यूजर्स का डाटा देश में ही सुरक्षित (Data Safety) रखा जाएगा. ऐप में प्राइवेट चैटिंग, ऑडियो-वीडियो कॉन्फ्रेंस कॉल, एलीमेंट्स पे के जरिये सुरक्षित भुगतान और इंडियन ब्रांड्स को बढ़ावा देने के लिए कॉमर्स प्लेटफॉर्म की सुविधा दी गई है. इसकी मदद से यूजर्स पूरी दुनिया के साथ कनेक्ट हो सकते हैं और लोकल प्रॉडक्ट खरीद सकते हैं यानी ये ऐप ई-कॉमर्स की सुविधा भी देगा.

ये भी पढ़ें- भारतीय फार्मा कंपनियां अमेरिकी बाजार से वापस मंगा रही हैं अपनी दवाएं, जानें वजह



ऐप में जल्‍द जोड़ दिया जाएगा रीजनल वॉइस कमांड फीचर
ऐप पर कुछ पब्लिक प्रोफाइल्स भी होंगी, जिन्हें यूजर्स फॉलो या सब्सक्राइब कर सकेंगे. ऐप में आगे चलकर रीजनल वॉइस कमांड (Regional Voice Command) का फीचर भी शामिल किया जाएगा. एप में यूजर्स के डाटा को सुरक्षित रखने के लिए एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन जैसे फीचर्स दिए गए हैं. सरकार ने भारतीय कंपनियों से अपील की है कि वे देसी ऐप बनाने पर फोकस करें ताकि डॉमेस्टिक ऐप स्पेस को मजबूती मिल सके. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को डिजिटल इंडिया आत्मनिर्भर इनोवेशन चैलेंज (AatmaNirbhar Bharat Innovation Challenge) लॉन्च किया था. इसका मकसद भारत में बने ऐप्स को बढ़ावा देना है.

ये भी पढ़ें- दुनिया के सबसे बड़े पेंशन फंड ने अप्रैल-जून 2020 तिमाही में कैसे गंवाए 12 लाख करोड़ रुपये

केंद्र ने शुरू किया है चैलेंज, विजेता को मिलेंगे 20 लाख रुपये
इलेक्ट्रॉनिक्स व सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय और अटल इनोवेशन मिशन की साझेदारी के तहत नीति आयोग ने डिजिटल इंडिया आत्मनिर्भर भारत इनोवेट चैलेंज शुरू किया है. इसके तहत आपको मोबाइल गेम्स, सोशल मीडिया और फोटो-वीडियो एडिटिंग ऐप बनाने होंगे. इस चैलेंज के तहत अधिकतम 20 लाख रुपये तक का इनाम (Reward) मिलेगा. 'मेक इन इंडिया, फॉर इंडिया एंड द वर्ल्ड'
इस चैलेंज का मंत्र है. बता दें कि भारत सरकार ने हाल में 59 चीनी ऐप (Chinese Apps) पर प्रतिबंध लगाया है, जिसमें टिकटॉक (TikTok), यूसी ब्राउजर, हेलो और SHAREit भी शामिल हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading