Home /News /tech /

अगर सचमुच ऐसा हुआ तो... ऐन आइडिया कैन चेंज वोडाफोन्स लाइफ

अगर सचमुच ऐसा हुआ तो... ऐन आइडिया कैन चेंज वोडाफोन्स लाइफ

ग्लोबल टेलिकॉम कंपनी वोडाफोन ने कई महीनों के अंदेशे के बाद सोमवार को आदित्य विक्रम बिड़ला समूह की कंपनी आइडिया सेल्यूलर के साथ विलय पर बातचीत की पुष्टि की है.

ग्लोबल टेलिकॉम कंपनी वोडाफोन ने कई महीनों के अंदेशे के बाद सोमवार को आदित्य विक्रम बिड़ला समूह की कंपनी आइडिया सेल्यूलर के साथ विलय पर बातचीत की पुष्टि की है.

ग्लोबल टेलिकॉम कंपनी वोडाफोन ने कई महीनों के अंदेशे के बाद सोमवार को आदित्य विक्रम बिड़ला समूह की कंपनी आइडिया सेल्यूलर के साथ विलय पर बातचीत की पुष्टि की है.

    ग्लोबल टेलिकॉम कंपनी वोडाफोन ने कई महीनों के अंदेशे के बाद सोमवार को आदित्य विक्रम बिड़ला समूह की कंपनी आइडिया सेल्यूलर के साथ विलय पर बातचीत की पुष्टि की है.

    अगर बातचीत सफल रही तो आने वाले कुछ महीनों में वोडाफोन इंडिया का आइडिया सेल्यूलर के साथ विलय हो जाएगा. इस विलय के बाद इन दोनों के विलय से बनी कंपनी टेलिकॉम सेक्टर में इस देश की सबसे बड़ी कंपनी होगी.

    जानकारों का मानना है कि यदि यह सौदा हो जाता है तो विलय के बाद बनी कंपनी मोबाइल टेलिकॉम सेक्टर में एयरटेल को पीछे छोड़ते हुए देश की सबसे बड़ी टेलिकॉम सर्विस प्रोवाइडर होगी.

    वोडाफोन इंडिया ने जारी बयान में कहा कि कंपनी इस बात की पुष्टि करती है कि आइडिया सेल्यूलर के साथ विलय को लेकर आदित्य बिड़ला समूह से उसकी बातचीत जारी है. हालांकि, इसमें इंडस टॉवर्स और आइडिया में वोडाफोन की 42 फीसदी हिस्सेदारी शामिल नहीं है.

    बयान के मुताबिक, आइडिया से वोडाफोन तक नए शेयरों के जारी होने से विलय प्रभावी होगा और इससे वोडाफोन से वोडाफोन इंडिया अलग हो जाएगा.

    43 प्रतिशत हिस्सेदारी के साथ नंबर वन होगी नई कंपनी

    सीएलएसए की एक रिपोर्ट के अनुसार, वोडाफोन-आइडिया को मिलाकर बनने वाली नई कंपनी के पास 2018-19 तक मोबाइल बाजार की 43 प्रतिशत हिस्सेदारी होगी और यह पहले नंबर पर होगी. दूसरे नंबर में भारती एयरटेल के पास 33 प्रतिशत और रिलायंस जियो की 13 प्रतिशत हिस्सेदारी रहेगी. वोडाफोन ने इस संभावित समझौते के बारे में कोई ब्यौरा नहीं दिया है. उसका कहना है कि अभी यह न तो यह पक्का है कि सौदे पर सहमति बन ही जाएगी और न ही इसकी शर्तों और समय के बारे में कुछ तय है.

    वोडाफोन इंडिया के पास 20.028 करोड़ ग्राहक

    गौरतलब है कि अभी देश में एयरटेल 26.34 करोड़ ग्राहकों के साथ देश में सबसे बड़ी दूरसंचार सेवा प्रदाता है. वहीं वोडाफोन इंडिया 20.028 करोड़ ग्राहकों के साथ दूसरी और आइडिया सेल्यूलर 18.77 करोड़ ग्राहकों के साथ तीसरी सबसे बड़ी कंपनी है.

    Tags: Vodafone, Vodafone-Idea merger

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर