लाइव टीवी

Google को मिली क्वांटम सुप्रीमेसी, सेकेंड्स में पूरा होगा हजारों साल का टास्क

News18Hindi
Updated: October 24, 2019, 9:52 AM IST
Google को मिली क्वांटम सुप्रीमेसी, सेकेंड्स में पूरा होगा हजारों साल का टास्क
क्वांटम कंप्यूटिंग (Quantum Computing) के पीछे का विचार यह है कि न सिर्फ कैलकुलेशन की स्पीड को बढ़ाया जा सके, बल्कि बड़े बड़े कैलकुलेशन को आसानी से किया जा सके.

क्वांटम कंप्यूटिंग (Quantum Computing) के पीछे का विचार यह है कि न सिर्फ कैलकुलेशन की स्पीड को बढ़ाया जा सके, बल्कि बड़े बड़े कैलकुलेशन को आसानी से किया जा सके.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 24, 2019, 9:52 AM IST
  • Share this:
टेक कंपनी गूगल (Google) ने एक क्वांटम कंप्यूटर (Quantum Computer) बनाने का दावा किया है. गूगल का दावा है कि यह कंप्यूटर 'क्वांटम सुप्रीमेसी' (Quantum Supremacy) तक पहुंच गया है क्योंकि इसने एक गणना (Computation) को सिर्फ 200 सेकेंड्स में कर दिखाया, जिसे दुनिया के सबसे तेज़ कंप्यूटर को करने में भी 10 हज़ार साल लगते.

लाइवमिंट की रिपोर्ट के अनुसार, इस गूगल टेस्ट का रिजल्ट साइंस पत्रिका Nature में पब्लिश हुआ था. रिसर्चर्स का कहना है कि क्वांटम सुप्रीमेसी का अर्थ है कि जिस कैलकुलेशन को क्वांटम कंप्यूटर कर सकता है, उसे एक साधारण कंप्यूटर अपने पूरे जीवनकाल में नहीं कर सकता.

क्वांटम कंप्यूटिंग के पीछे का विचार यह है कि न सिर्फ कैलकुलेशन की स्पीड को बढ़ाया जा सके, बल्कि बड़े बड़े कैलकुलेशन को आसानी से किया जा सके.

दरअसल, जहां ट्रेडीशनल कंप्यूटर किसी भी इन्फॉर्मेशन को 'बाइनरी सिस्टम' यानी '0' या '1' में स्टोर करता है. वहीं, यह क्वांटम कंप्यूटर इसे 'क्यूबिट्स' यानी 0 और 1 में साथ-साथ स्टोर कर लेता है. इससे किसी भी सूचना को स्टोर करने की क्षमता काफी बढ़ जाती है.

हालांकि, लाइवमिंट की रिपोर्ट के मुताबिक गूगल के दावे के उलट इस हफ्ते इंटरनेशनल बिजनेस मशीन कॉर्प ने एक ब्लॉग में लिखा कि जिस टास्क को गूगल ने परफॉर्म किया है, उसे बड़ी हार्ड डिस्क वाले कंप्यूटर वाले ट्रेडीशनल कंप्यूटर पर 2.5 दिनों में किया जा सकता है. इसमें लिखा गया है कि क्वांटम सुप्रीमेसी का मतलब उस टास्क को परफॉर्म करने से नहींं है, जो कि क्लासिकल कंप्यूटर नहीं कर सकता.

नई टेक्नॉलजी से हो सकेंगे ये काम
क्वॉन्टम कंप्यूटिंग ऐसे टेक्नॉलजी है, जिसकी मदद से बड़े डेटा और इन्फॉर्मेशन को बहुत कम वक्त में प्रोसेस किया जा सकेगा. क्वॉन्टम कंप्यूटर की मदद से कंप्यूटिंग से जुड़े टास्क बेहद कम वक्त में किए जा सकेंगे, जिनमें मौजूदा डिवाइसेज और टेक्नॉलजी पूरा करने में कई साल लगा देंगे. इस नए प्रोसेसर की मदद से नई दवाओं की खोज से लेकर शहरों का मैनेजमेंट और ट्रांसपोर्ट जैसे काम आसान हो जाएंगे.
Loading...

क्या है क्वांटम कंप्यूटिंग
क्वांटम कंप्यूटिंग अभी भी डेवेलप हो रही एक टेक्नॉलजी है जिसको इस तरह से डिज़ाइन किया गया है कि कैलकुलेशन सूचना को प्रोसेस करने की स्पीड का काफी बढ़ाया जा सके. गूगल सहित तमाम मेजर कंपनियां इस टेक्नॉलजी को डेवलेप करने में लगी हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मोबाइल-टेक से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 24, 2019, 9:39 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...