लाइव टीवी

गूगल का 'पेपर फोन' छुड़ाएगा स्मार्टफोन की लत, जानें कैसे करेगा काम

News18Hindi
Updated: October 29, 2019, 3:50 PM IST
गूगल का 'पेपर फोन' छुड़ाएगा स्मार्टफोन की लत, जानें कैसे करेगा काम
पेपर फोन (इमेज सोर्स: ट्विटर)

गूगल (Google) एक अनूठा फोन लेकर आया है, जिसे 'पेपर फोन' (Paper Phone) कहा जा रहा है. इस फोन को लंदन बेस्ड स्पेशल प्रोजेक्ट्स स्टूडियो ने डिजाइन किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 29, 2019, 3:50 PM IST
  • Share this:
स्मार्टफोन की लत आज दुनिया में लगभर हर दूसरे आदमी हो गई है. हर कोई दिनभर अपने फोन में ही बिजी नजर आता है. फोन की इस लत के कारण लोग अपने परिवार और दोस्तों से भी दूर होते जा रहे हैं. ऐसे में स्मार्टफोन की इस लत से पीछा छुड़ाने के लिए गूगल एक अनूठा फोन लेकर आया है, जिसे 'पेपर फोन' कहा जा रहा है. इस फोन को लंदन बेस्ड स्पेशल प्रोजेक्ट्स स्टूडियो ने डिजाइन किया है.

क्या है लॉन्च करना का मकसद
इसे लॉन्च करने का मकसद सिर्फ इतना है कि लोग अपने स्मार्टफोन से ब्रेक लें और उन्हें जिन चीजों की जरूरत है उसका प्रिंट आउट लेकर अपनी पर्सनल बुकलेट बना लें. ये पेपर फोन आपके कॉल करने के काम नहीं आएगा. पेपर फोन को एंड्रॉयड यूजर्स गूगल प्ले से डाउनलोड कर सकते हैं. इसे डाउनलोड करने के लिए आपको इस लिंक पर क्लिक करना होगा.



कैसे काम करता है
ये ऐप आपको कॉन्टैक्ट्स, मैप्स, मीटिंग्स, टास्क लिस्ट या वैदर जैसी इन्फॉर्मेशन चूज करने का मौका देता है और फिर इसे एक पेपर की शीट पर ऑर्गनाइज करता है, जिसका आप प्रिंट ले सकते हैं. स्पेशल प्रोजेक्ट्स स्टूडियो ने इसे लेकर कहा है कि हमें उम्मीद है कि इस छोटे से एक्सपेरिमेंट के जरिए आपको टेक्नॉलजी से डिटॉक्स होने में मदद मिलेगी और आप उन चीजों पर ध्यान दे सकेंगे, जो कि आपके लिए सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण हैं. अगर आपको अपने फोन से ब्रेक चाहिए, तो बेहतर उसका प्रिंट लेना शुरू करें.


Loading...

फोन से बहुत कम कार्बन डाइऑक्साइड पैदा करता है पेपर
स्पेशल प्रोजेक्टस स्टूडियो ने आगे कहा कि अगर आपको इस बात की चिंता है कि पेपर प्रिंटिंग का पर्यावरण पर असर पड़ेगा, तो आपको बताना चाहते हैं कि एक दिन में एक पेपर प्रिंट करने पर एक साल में 10 ग्राम कार्बन डाइऑक्साइड प्रोड्यूस होती है. जब कि अपना फोन एक दिन में सिर्फ एक घंटे इस्तेमाल करने पर एक साल में 1.25 टन कार्बन डाइऑक्साइड पैदा होती है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ऐप्स से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 29, 2019, 2:52 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...