Google और Facebook ट्रैक कर रहे हैं आपकी पॉर्न हिस्ट्री, Incognito मोड भी नहीं है सेफ

हर महीने नेटफ्लिक्स, अमेज़न और ट्विटर पर कुल मिलाकर जितने लोग विज़िट नहीं करते उससे कहीं ज्यादा अकेले पॉर्न साइट पर करते हैं.

News18Hindi
Updated: July 19, 2019, 5:51 PM IST
Google और Facebook ट्रैक कर रहे हैं आपकी पॉर्न हिस्ट्री, Incognito मोड भी नहीं है सेफ
हर महीने नेटफ्लिक्स, अमेज़न और ट्विटर पर कुल मिलाकर जितने लोग विज़िट नहीं करते उससे कहीं ज्यादा अकेले पॉर्न साइट पर करते हैं.
News18Hindi
Updated: July 19, 2019, 5:51 PM IST
माइक्रोसॉफ्ट, कार्नेगी मेलन यूनिवर्सिटी और यूनिवर्सिटी ऑफ पेन्सिलवेनिया द्वारा की गई एक स्टडी से पता चला है कि गूगल, फेसबुक और ओरेकल क्लाउड किसी के द्वारा देखी गई पॉर्न साइट्स को गुपचुप तरीके से ट्रैक करते हैं. यहां तक कि अगर आप Incognito मोड में भी पॉर्न देखते हैं तो भी आप इससे नहीं बच पाएंगे. क्योंकि इन्कॉगनिटो मोड में सिर्फ इतना होता है कि आपकी सर्च हिस्ट्री आपके डिवाइस में सेव नहीं होती. स्टडी में 22484 सेक्स वेबसाइट्स की जांच की गई और यह निष्कर्ष निकाला गया कि 93 फीसदी पेज को ट्रैक किया जाता है और डेटा को थर्ड पार्टी को लीक कर दिया जाता है. रिपोर्ट में कहा गया है कि केवल 17 प्रतिशत अडल्ट वेबसाइट ऐसी हैं जो एनक्रिप्शन का इस्तेमाल करती हैं.

गूगल 74 फीसदी डेटा करती है ट्रैक
सोमवार को रिलीज़ की गई स्टडी के मुताबिक गूगल नंबर-1 थर्ड पार्टी कंपनी है. रिसर्च में पाया गया कि गूगल या इसकी सब्सिडियरी ऐडवरटाइजिंग प्लेटफॉर्म डबल क्लिक ने 74 फीसदी साइट्स, ओरेकल ने 24 फीसदी और फेसबुक ने 10 फीसदी साइट्स को ट्रैक किया. स्टडी में ये भी बताया गया कि अधिकतर पॉर्नोग्राफिक कंपनियां यूरोप में बेस्ड हैं.


डेटा का कैसे होता है यूज़
अभी तक इस बारे में कुछ भी नहीं कहा जा सकता कि गूगल और फेसबुक इस डेटा का क्या करते हैं. हालांकि, रिसर्चर्स का कहना है कि गूगल और फेसबुक पॉर्नोग्राफी वेबसाइट से लिए गए यूजर डेटा का इस्तेमाल ऐडवरटाइजिंग प्रोफाइल डिवेलप करने के लिए इस्तेमाल करते होंगे.

गूगल और फेसबुक ने ट्रैकिंग से किया इनकार
Loading...

इस बारे में गूगल के एक प्रवक्ता ने न्यूयॉर्क टाइम्स से कहा, 'हम यूजर्स की यौन इच्छा या ऑनलाइन एक्टिविटी के आधार पर किसी भी प्रकार के एडवरटाइजिंग प्रोफाइल को डिवेलप करने में यकीन नहीं रखते. इसके साथ ही किसी भी अडल्ट कॉन्टेंट वाली वेबसाइट्स पर हम गूगल ऐड्स दिखाने के खिलाफ हैं. फेसबुक की बात करें तो इस पूरे मामले में फेसबुक ने भी गूगल जैसा ही जवाब दिया. फेसबुक ने कहा कि बिजनेस परपज के लिए अडल्ट वेबसाइट को ट्रैक करने की इजाजत कंपनी नहीं देती.

बता दें कि साल 2017 में पॉर्नहब वेबसाइट पर 28.5 अरब विज़िट किए गए. इसका मतलब हर सेकेंड 50 हज़ार यूज़र्स ने साइट पर जाकर सर्च किया. आपको जानकर हैरानी हो सकती है कि हर महीने नेटफ्लिक्स, अमेज़न और ट्विटर पर कुल मिलाकर जितने लोग विज़िट नहीं करते उससे कहीं ज्यादा अकेले पॉर्न साइट पर करते हैं.

यह भी पढ़ें- Reliance Jio किराना स्टोर्स को ला रहा है ऑनलाइन: रिपोर्ट

Jio के 198 रुपये के प्लान में पाएं पूरा महीना सब कुछ मुफ्त

 
First published: July 19, 2019, 5:31 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...