कोरोना से लोगों को बचाने के लिए Google Map लाया नया फीचर, ट्रेन में सफ़र करना होगा सुरक्षित

कोरोना से लोगों को बचाने के लिए Google Map लाया नया फीचर, ट्रेन में सफ़र करना होगा सुरक्षित
गूगल मैप में कोरोना वायरस से जुड़ा नया फीचर शुरू हुआ है.

नए फीचर से यूज़र्स चेक कर सकेंगे कि किसी विशेष समय में स्टेशन (Train station) पर कितनी भीड़ कितनी हो सकती है, या अगर एक निश्चित रूट पर बसें (Bus) सीमित समय पर चल रही हैं या नहीं.

  • Share this:
गूगल ने अपने मैप (Google Map) में एक नया फीचर शुरू किया है, जिससे यूज़र्स को COVID-19 से जुड़ी यात्राओं के प्रतिबंध का अलर्ट मिलेगा. गूगल ने बताया कि इस नए फीचर से यूज़र्स चेक कर सकेंगे कि किसी विशेष समय में स्टेशन (Train station) पर कितनी भीड़ कितनी हो सकती है, या अगर एक निश्चित रूट पर बसें (Bus) सीमित समय पर चल रही हैं या नहीं.

गूगल ने अपने ब्लॉग पोस्ट में बताया कि उसने अपने इस ट्रांजिट अलर्ट फीचर को अर्जेंटीना, फ्रांस, नीदरलैंड, युनाइटेड स्टेट्स और यूनाइटेड किंगडम में शुरू किया गया है. बताया गया कि गूगल मैप के इस नए फीचर की मदद से यूज़र्स प्रतिबंधित सीमाओं की जानकारी भी प्राप्त कर सकेंगे.

अगर आप के शहर में कोविड-19 का प्रभाव है तो अब आप गूगल मैप की सहायता से ही प्रभावित इलाकों के बारे में जान सकेंगे. साथ ही अगर आप Google Maps होम स्क्रीन पर अलर्ट चुनते हैं तो आपको मौजूदा मैप व्यू के आधार पर उस इलाके से जुड़े काम के लिंक मिलेंगे.



(ये भी पढ़ें- चेतावनी! 4 करोड़ लोगों के फोन में है 2020 की सबसे खतरनाक ऐप, फौरन डिलीट करने की सलाह)
हाल ही में कंपनी ने लॉकडाउन के तहत गतिशीलता की जांच करने और स्वास्थ्य अधिकारियों को ये आकलन करने में मदद करने के लिए 131 देशों में गूगल यूज़र्स के फोन से स्थान डेटा का विश्लेषण किया है.  इस विश्लेषण का मकसद ये जानना है कि क्या लोग सामाजिक गड़बड़ी और वायरस पर लगाम लगाने के लिए जारी किए गए अन्य आदेशों का पालन कर रहे थे.

Google ने अपने सर्च एड्स के व्यवसाय से लेकर दुनिया भर के डिजिटल मैप पर अरबों डॉलर का निवेश किया है, हर महीने औसतन 1 बिलियन यूज़र्स को अपने फ्री नेविगेशन ऐप पर बुलाया है.

(ये भी पढ़ें-सिर्फ इतनी कीमत में लॉन्च हुआ Vivo का 5 कैमरे, 5000mAh बैटरी वाला धांसू फोन, 10 जून से सेल में...)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज