ALERT! Google के 2 अरब यूज़र्स पर बड़ा खतरा, चेतावनी जारी करते हुए बताई ये बात

कोरोना काल में लोगों के गूगल सर्च में बदलाव आया है.
कोरोना काल में लोगों के गूगल सर्च में बदलाव आया है.

नए अपडेट में सिक्योरिटी फिक्स और रिवॉर्ड के साथ एक नोट शेयर किया है. इसमें बग के चलते डेटा के हैक होने का खतरा बढ़ गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 20, 2020, 2:29 PM IST
  • Share this:
इंटरनेट सर्च दिग्गज गूगल (Google) ने अपने दो अरब क्रोम वेब ब्राउज़र यूज़र्स के लिए चेतावनी जारी की है. कंपनी ने क्रोम अपडेट जारी करते हुए यूज़र्स को इसके सिक्योरिटी फिक्स (security fix) को लेकर जानकारी दी है. बग के चलते क्रोम ब्राउज़र (chrome browsers) का नया अपडेट वर्जन 81.0.4044.113 है, जिसे विंडोज़ मैक और Linux से रोलआउट किया गया है.

नए अपडेट में सिक्योरिटी फिक्स और रिवॉर्ड के साथ एक नोट शेयर किया है. सिक्योरिटी स्पेशलिस्ट सोफोज़ के हवाले से गूगल ने बताया कि क्रोम ब्राउज़र में सिक्योरिटी को लेकर कुछ खामी पायी गई है.  इसमें बग के चलते डेटा के हैक होने का खतरा बढ़ गया है. गूगल ने अपने नोट में बताते हुए कहा कि जब तक ज़्यादा से ज़्यादा लोग नया अपडेट फिक्स अपडेट नहीं करते, तब तक बग ऐक्सेस और लिंक तक पहुंच प्रतिबंधित रखी जा सकती है.

(ये भी पढ़ें- WhatsApp की सीक्रेट ट्रिक! एक साथ 256 लोगों को भेजें Message, नहीं बनाना पड़ेगा Group)



गूगल ने ब्लॉग पोस्ट में कहा कि नया अपडेट आने वाले कुछ दिन या हफ्ते में रोलआउट हो जाएगा. क्रोम के नए अपडेट के बारे में आप ब्राउज़र पर मौजूद 3 डॉट पर क्लिक करके पता कर सकते हैं. इसके लिए About पर जा सकते हैं.
जानकारी के लिए बता दें कि इसी महीने गूगल ने Chrome 81 वर्जन पेश किया है, जिसमें ‘Tab Group’ फीचर दिया गया है.

(ये भी पढ़ें- Vodafone का ग्राहकों को बड़ा झटका! बंद हुए ये तीन पॉपुलर प्रीपेड रिचार्ज प्लान)

सिक्योरिटी के चलते इस ऐप पर लगाई रोक
इसके अलावा गूगल ने सिक्योरिटी को लेकर एक बड़ा फैसला लेते हुए अपने कर्मचारियों को जूम ऐप का इस्‍तेमाल करने से रोक दिया है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, Google ने बीते हफ्ते अपने सभी कर्मचारियों को ऐप को बैन करने के बारे में एक ईमेल भेजा है. Google ने Work From Home के दौरान अपने कर्मचारियों से कहा कि जिस किसी ने भी अपने सिस्टम पर जूम ऐप को इंस्टॉल किया है, जल्‍द ही सॉफ्टवेयर काम नहीं करेगा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज