Google ने यूज़र्स को किया अलर्ट, कोविड-19 महामारी के बीच ऐसे फ्रॉड कर रहे हैं हैकर्स

Google ने यूज़र्स को किया अलर्ट, कोविड-19 महामारी के बीच ऐसे फ्रॉड कर रहे हैं हैकर्स
पुलिस ने साइबर तकनीक का प्रयोग कर सूचनाओं का संकलन करने के बाद आरोपी करण सिंह और सिमरन को गिरफ्तार कर लिया. (सांकेतिक फोटो)

गूगल ने बताया कि हैक-फॉर-हायर कंपनियों में से कई भारत में स्थित हैं, जिससे यूज़र्स पर बड़ा खतरा है...

  • Share this:
नई दिल्ली. गूगल की एक रिपोर्ट के अनुसार, साइबर अपराध करने वाली हैक-फॉर-हायर कंपनियां कोरोना वायरस महामारी के दौरान अमेरिका, ब्रिटेन और बहरीन समेत कई देशों में वित्तीय सेवाओं, परामर्श तथा स्वास्थ्य एवं चिकित्सा क्षेत्र के पेशेवरों को निशाना बना रही हैं. रिपोर्ट के अनुसार, ऐसी हैक-फॉर-हायर कंपनियों में से कई भारत में स्थित हैं. ये कंपनियां विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की छवि को खराब करने वाले खाते बना रही हैं.

गूगल के अलावा माइक्रोसॉफ्ट ने भी लोगों को सावधान करते हुए कहा है कि कोविड-19 शब्द का इस्तेमाल करके लोगों को फिशिंग मेल भेजे जाते हैं. इस मेल में नेट्सपोर्ट मैनेजर नामक सिस्टम को डाउनलोड करने को कहा जाता है जिसके डाउनलोड होते ही आपके कंप्यूटर हैकर को एक्सेस हो जाते हैं और हैकर इस दौरान ऑनलाइन आपकी जारी जानकारी चुरा लेते हैं. एक्सर्ट्स का कहना है कि भारत में इस प्रकार की चोरी का खतरा बहुत ज्यादा है.

गूगल ने कहा कि कोरोनो वायरस से संबंधित कई साइबर हमलों की पहचान की गई है. उसने इस तरह के एक हमले के उदाहरण का हवाला देते हुए कहा, ‘हमने 'हैक-फॉर-हायर' कंपनियों की नई गतिविधि देखी है, जिनमें से कई कंपनियां भारत में स्थित हैं. ये इस तरह के जीमेल खाते बना रही हैं, जिसे देखकर लगता है कि वे खाते डब्ल्यूएचओ के हैं.’



गूगल ने हाल ही में एक ब्लॉग पोस्ट में कहा, ‘बड़े पैमाने पर अमेरिका, स्लोवेनिया, कनाडा, भारत, बहरीन, साइप्रस और ब्रिटेन सहित कई देशों के भीतर वित्तीय सेवाओं, परामर्श, और स्वास्थ्य निगमों में कारोबारियों को निशाना बनाया गया है.’
(इनपुट-भाषा से)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading