लाइव टीवी

Google ने दी वॉर्निंग अपडेट कर लें अपना ब्राउजर नहीं तो हो सकता है साइबर अटैक

News18Hindi
Updated: March 8, 2019, 9:00 PM IST
Google ने दी वॉर्निंग अपडेट कर लें अपना ब्राउजर नहीं तो हो सकता है साइबर अटैक
गूगल ने कहा है कि Google Chrome के मौजूदा वर्जन में साइबर अटैक हो सकता है

गूगल ने कहा है कि Google Chrome के मौजूदा वर्जन में साइबर अटैक हो सकता है

  • Share this:
अगर आप गूगल क्रोम का इस्तेमाल करते हैं तो यह खबर आपके लिए बेहद जरूरी हो सकती है क्योंकि दुनिया के सबसे बड़े सर्च इंजन गूगल ने अपने यूजर्स को Google Chrome को अपडेट करने की  चेतावनी दी है. गूगल ने कहा है कि Google Chrome के मौजूदा वर्जन में साइबर अटैक हो सकता है. ऐसे में कंपनी ने यूजर्स को चेतावनी देते हुए कहा है जल्द से जल्द Google Chrome का लेटेस्ट वर्जन 72.0.3626.12 में अपडेट कर लें.

बता दें कि कंपनी ने अभी हाल ही में क्रोम के लेटेस्ट वर्जन  72.0.3626.12 को रोलआउट किया है. क्रोम का लेटेस्ट वर्जन रोलआउट करने के दौरान गूगल ने कहा था कि CVE-2019-5786 नाम की गड़बड़ी को फिक्स करने के बाद क्रोम का नया वर्जन रोलआउट किया जा रहा है.

ये भी पढ़ें: इन स्पेशल WhatsApp स्टिकर्स को भेज कर करें Women's Day विश, ऐसे डाउनलोड करें पैक



वहीं Google ने अपने ब्लॉग पोस्ट में कहा था कि CVE-2019-5786 को फिक्स करने के बाद गूगल क्रोम का लेटेस्ट वर्जन 1 मार्च को रोल आउट किया गया है. इसके अलावा कंपनी ने ये भी कहा है कि यूजर्स पहले चेक कर लें कि उनका Google Chrome का लेटेस्ट वर्जन 72.0.3626.12 अपडेट हुआ है कि नहीं क्योंकि हमने गूगल क्रोम को ऑटो अपडेट के साथ रोल आउट किया है. ऐसे में अगर किसी यूजर का क्रोम अपडेट नहीं हुआ है तो उसे फौरन अपडेट कर ले.



ये भी पढ़ें: ये कंपनी दे रही है 28 गुना ज्यादा इंटरनेट डेटा, ऐसे उठायें लाभ

अभी हाल ही में Google ने एक ब्लॉग पोस्ट करते हुए बताया है कि डेस्कटॉप इंजीनियर जस्टिन शू ने कई बार ट्विट कर ये जानकारी दी थी कि यह बग पिछले बग से काफी अलग है. इसमें बग गूगल क्रोम के कोड को टारगेट करता है, जिसके बाद यूजर्स को ब्राउज़र बंद करने के बाद फिर चालू करना पड़ेगा. कई यूजर्स के लिए अपडेट ऑटोमेटिक होता है लेकिन उसे रिस्टार्ट करना मैनुअल एक्शन होता है.

इस बग को सबसे पहले गूगल थ्रेट एनालिसिस ग्रुप मेंबर ने 27 फरवरी को स्पॉट किया था. यह ब्राउजर की API जिसे फाइल रिडर कहते हैं उसे प्रभावित कर रहा था.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ऐप्स से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 8, 2019, 7:05 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading