Home /News /tech /

google warns android users spyware smartphone know how to affect be careful rrmb

Google ने नए स्पाइवेयर को लेकर एंड्रॉयड और क्रोम यूजर्स को चेताया, समझिए क्या है ये और कैसे बचें

गूगल के थ्रेट एनालिसिस ग्रुप ने एक स्‍पाइवेयर का पता लगाया है, जो काफी खतरनाक है.

गूगल के थ्रेट एनालिसिस ग्रुप ने एक स्‍पाइवेयर का पता लगाया है, जो काफी खतरनाक है.

Google ने एंड्राॅयड यूजर्स के लिए एक चेतावनी जारी कर कहा है कि साइबर क्रिमिनल एक स्‍पाइवेयर के जरिए स्‍मार्टफोन यूजर्स की जासूसी करने और डेटा चुराने की फिराक में हैं. गूगल ने यूजर्स के लिए एक सिक्योरिटी पैच भी जारी किया है.

नई दिल्‍ली. अगर आप भी एंड्रॉयड स्‍मार्टफोन यूजर्स हैं तो आपके लिए यह खबर बेहद अहम है. दरअसल, आपके स्‍मार्टफोन पर बहुत बड़ा खतरा मंडरा रहा है. अगर आपने इस खतरे को इग्‍नोर किया तो न केवल आपके स्‍मार्टफोन में स्‍टोर किया गया डेटा चोरी हो सकता है, बल्कि आपकी जासूसी भी हो सकती है.

Google ने एंड्राॅयड यूजर्स के लिए एक चेतावनी जारी की है. दिग्गज टेक कंपनी ने कहा है कि एक स्‍पाइवेयर के जरिए साइबर क्रिमिनल स्‍मार्टफोन यूजर्स की जासूसी करने और डेटा चुराने की फिराक में हैं. गूगल के थ्रेट एनालिसिस ग्रुप ने एक स्‍पाइवेयर का पता लगाया है. इस स्‍पाइवेयर को PREDATOR नाम दिया गया है. गूगल का कहना है कि यह स्‍पाइवेयर काफी खतरनाक है और यह एंड्रायड यूजर्स के लिए खतरनाक है.

ये भी पढ़ें – खतरे में हैं करोड़ों एंड्रॉयड स्मार्टफोन, हैकर्स यूं कर रहे हैं हमला

कैसे काम करता है यह
मनीकंट्रोल डॉट कॉम की एक रिपोर्ट के मुताबिक, गूगल का कहना है कि स्पाइवेयर PREDATOR को एक ई-मेल के जरिए यूजर्स को भेजा जा रहा है. इस स्पाइवेयर को एक कमर्शियल इंटिटी कंपनी Cytrox ने बनाया है. कंपनी का हेडक्वार्टर नार्थ मेसिडोनिया (Macedonia) में है. इसमें एक वन-टाइम लिंक है, जिसे URL शॉर्टनर के जरिए एम्बेड किया गया है. जैसे ही यूजर इस लिंक पर क्लिक करता है तो उसे एक डोमेन पर रिडायरेक्‍ट कर दिया जाता है. यहां से ALIEN नाम के एक स्पाइवेयर को यूजर के स्मार्टफोन में पहुंचा दिया जाता है.

रिसर्च करने वालों का कहना है कि यह स्‍पाइवेयर मल्टीपल प्रिविलेज्ड प्रोसेसर के भीतर होता है. एक बार यह यूजर के डिवाइस में पहुंचने के बाद कई तरह के IPC कमांड दे सकता है. यह ऑडियो रिकॉर्ड कर सकता है और इसे बाहर भेज सकता है. यही नहीं, यह स्‍पाइवेयर CA सर्टिफिकेट जोड़ने के अलावा ऐप्‍स को छिपा भी सकता है.

ये भी पढ़ें – सावधान! अपने फोन से तुरंत हटाएं ये ऐप और जल्दी से बदलें Facebook का पासवर्ड

बचने के लिए सावधान रहें
गूगल ने इस स्पाइवेयर को ध्यान में रखते हुए क्रोम और एंड्रॉयड के सभी यूजर्स के लिए एक सिक्योरिटी पैच जारी कर दिया है. तो इससे बचने के लिए आपको सबसे पहले अपना स्मार्टफोन और क्रोम अपडेट कर लेना चाहिए.

बता दें कि साइबर क्रिमिनल आजकल डेटा चुराने और जासूसी करने की फिराक में रहते हैं. इसलिए आपको हमेशा सतर्क रहना चाहिए. किसी भी अनजान व्‍यक्ति द्वारा किसी भी तरह के लिंक पर क्लिक न करें. यही नहीं, अपने फोन में जो भी ऐप्स आप डाउनलोड करते हैं, उसे सुरक्षित प्लेटफार्म से ही डाउनलोड करें, मतलब एंड्रॉयड फोन पर ऐप्स इंस्टाल करने के लिए गूगल प्ले का ही इस्तेमाल करें. किसी बाहरी वेबसाइट से ऐप्स डाउनलोड करना और इंस्टाल करना खतरे से खाली नहीं है.

Tags: Android, Google, Google chrome, Spyware

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर