होम /न्यूज /तकनीक /

WhatsApp पर मिला है नौकरी का ऑफर? तो हो जाएं सावधान, रिप्लाई करने से पहले करें वेरिफाई

WhatsApp पर मिला है नौकरी का ऑफर? तो हो जाएं सावधान, रिप्लाई करने से पहले करें वेरिफाई

WhatsApp  (फाइल फोटो)

WhatsApp (फाइल फोटो)

जालसाज अब लोगों को ठगने के लिए एक नया हथकंडा अपना रहे हैं. इसमें नौकरी के अवसरों का वादा करने वाले टेक्स्ट एसएमएस या वॉट्सऐप मैसेज शामिल हैं. ऑफर को और आकर्षक बनाने के लिए मैसेज में दिहाड़ी मजदूरी का ब्योरा शामिल है.

हाइलाइट्स

स्कैमर्स निर्दोष लोगों को ठगने के नए-नए तरीके खोजते रहते हैं.
जानकारी ने मुताबिक स्कैमर्स अब नौकरी तलाश कर रहे लोगों को निशाना बना रहे हैं.
स्कैमर्स नौकरी तलाश कर रहे युवाओं को वॉट्सऐप पर मैसेज भेज रहे हैं.

नई दिल्ली. स्कैमर्स निर्दोष लोगों को ठगने के नए-नए तरीके खोजते रहते हैं. हाल ही में स्कैमर्स ने बिजली बिल के नाम पर लोगों को ठगा था. इसी क्रम में अब इन स्कैमर्स को देश का सबसे कमजोर लक्ष्य मिल गया है. दरअसल, स्कैमर्स अब नौकरी चाहने वाले युवाओं को निशाना बना रहे हैं. भारत में युवा आबादी अच्छी नौकरियों की तलाश में है. जैसे-जैसे दो साल की महामारी के झटके के बाद अर्थव्यवस्था खुल रही है, कई युवा नौकरी के लिए विभिन्न वेबसाइटों और प्लेटफार्मों को देख रहे हैं.

चैट-आधारित डायरेक्ट हायरिंग प्लेटफॉर्म Hirect ने कहा है कि देश में नौकरी चाहने वालों में से 56 प्रतिशत 20 से 29 वर्ष तक के युवा नौकरी की तलाश के दौरान घोटालों का शिकार हुए हैं. जालसाज अब लोगों को ठगने के लिए एक नया हथकंडा अपना रहे हैं. इसमें नौकरी के अवसरों का वादा करने वाले टेक्स्ट एसएमएस या वॉट्सऐप मैसेज शामिल हैं.

ऑफर को और आकर्षक बनाने के लिए मैसेज में दिहाड़ी मजदूरी का ब्योरा शामिल है. News18 के हाथ लगे एक स्क्रीनशॉट के अनुसार मैसेज में लिखा है, प्रिय आपने हमारा इंटरव्यू पास कर लिया है, वेतन 8000 रुपये / दिन है. कृपया विस्तार से जानने के लिए wa.me/919165146378 SSBO संपर्क करें.कुछ मैसेज में एक अलग नंबर से किए गए हैं, हालांकि, कार्यप्रणाली एक जैसा ही है. मैसेज में दिया गया लिंक आपके डेटा को चुराने के लिए फिशी वेबसाइट पर ले जाता है. इस दौरान स्कैमर्स आप से अन्य डिटेल मांगते हैं. गौरतलब है कि आपको किसी भी कीमत पर अपनी डिटेल शेयर करने से बचना चाहिए.

यह भी पढ़ें- ऐप इंस्टॉल करने से खतरे में आ सकता है फोन डेटा! हमेशा रखें इन बातों का ख्याल

ऐसे संदेश मिलने पर क्या करना चाहिए?
दिल्ली पुलिस की साइबर क्राइम यूनिट ने हमें ऑनलाइन धोखाधड़ी से बचाने के लिए कुछ उपायों बताए हैं. एक ब्लॉग पोस्ट में यूनिट बताती है कि साइबर अपराधी नौकरी की पेशकश के नाम पर युवा, शिक्षित नागरिकों को निशाना बना रहे हैं. उन्हें नौकरी की तलाश करने वाले व्यक्तियों का बायो-डेटा या सीवी Naukari.com और shaine.com जैसी वेबसाइट से मिल जाता है. वह सीवी पर दिए फोन नंबर, ईमेल, शैक्षिक योग्यता, पिछले रोजगार की डिटेल का उपयोग करते प्रतिष्ठित कंपनियों में नौकरी के अवसरों का वादा करके लोगों को निशाना बनाते हैं.

पुलिस द्वारा दिए गए सुझाव
-कोई भी recruiter रजिस्ट्रेशन, डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन, इंटरव्यू आदि के लिए रकम की मांग नहीं करेगा.
– जालसाज ईमेल अकाउंट, लोगो आदि का उपयोग करके job consultancy फर्म के रूप में खुद को पेश करते हैं. इसलिए जॉब असिस्टेंट के लिए पेमेंट करने से पहले फर्म के डिटेल का वेरिफिकेशन करें
– ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर फर्म के बारे में शिकायतों और रिव्यू को सर्च करें. अगर बड़ी संख्या में लोगों ने उनकी धोखाधड़ी के बारे में समीक्षा साझा की है, तो वे शायद आपको भी धोखा दे रहे हैं.
-फर्जी ईमेल आईडी, कस्टमर केयर नंबर आदि के बहकावे में न आएं और जॉब कंसल्टेंट के साथ जुड़ने से पहले उनके हर दावे को क्रॉस-वेरिफाई करें.

Tags: Tech news, Whatsapp, WhatsApp Features

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर