लाइव टीवी

लॉकडाउन के बीच टॉप ट्रेंड में आया ‘Houseparty’ ऐप, अब यूज़र्स क्यों तेजी से कर रहे हैं डिलीट?

News18Hindi
Updated: March 31, 2020, 2:50 PM IST
लॉकडाउन के बीच टॉप ट्रेंड में आया ‘Houseparty’ ऐप, अब यूज़र्स क्यों तेजी से कर रहे हैं डिलीट?
Houseparty ऐप को लेकर यूज़र्स शिकायत कर रहे हैं.

लॉकडाउन के बीच काफी ज़्यादा पॉपुलर हुए हाउसपार्टी ऐप को लेकर सोमवार शाम अचानक कई यूज़र्स प्राइवेसी को लेकर इसकी शिकायत करने लगे...

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 31, 2020, 2:50 PM IST
  • Share this:
पूरे देश में लॉकडाउन (lockdown in india) की वजह से घर पर रहने वालों के बीच ‘houseparty’ नाम का ऐप बहुत तेजी से वायरल हुआ है. युवाओं के बीच इस ऐप का क्रेज़ इतना बढ़ गया कि iOS और एंड्रॉयड दोनों प्लेटफॉर्म्स पर ये टॉप ट्रेडिंग फ्री ऐप्स की लिस्ट में आ गया. सोमवार दोपहर तक इस ऐप के ज़रिए सब लोग अपने घरवालों, दोस्तों से आराम से बात कर रहे थे और सब ठीक रहा, लेकिन फिर अचानक शाम होते ही कई यूज़र्स इसकी शिकायत करने लगे. यूज़र्स का कहना है कि हैकर्स इस ऐप के ज़रिए उनके फोन से संवेदनशील निजी डेटा का इस्तेमाल कर रहे हैं.

(ये भी पढ़ें- लॉकडाउन के बीच TV देखने वालों के लिए अच्छी खबर, फ्री हुए ये 4 पॉपुलर पेड चैनल) 

इसके अलावा उनका ये भी कहना है कि हैकर्स फोन के बाकी ऐप, जैसे इंस्टाग्राम, स्पॉटिफाई से भी छेड़छाड़ कर रहे हैं. कुछ यूज़र्स ने पैसे चोरी होने की भी शिकायत की है. ट्विटर पर हैशटैग के साथ ‘deletehouseparty’ ट्रेंड होने लगा और धीरे-धीरे लोगों ने हाउसपार्टी ऐप को डिलीट करना शुरू कर दिया.







इससे इनकार करते हुए houseparty ने सफाई दी और कहा कि ये ऐप पूरी तरह से सिक्योर है, तो यूज़र्स को डेटा चोरी होने का डर नहीं होना चाहिए है. आगे कहा, हाउसपार्टी के सारे अकाउंट सेफ और सिक्योर हैं. और वादा है कि ये ऐप दूसरी वेबसाइट के लिए कभी यूज़र्स का पासवर्ड नहीं चुराएगा.

क्या आपको भी डिलीट करना चाहिए Houseparty?
माना जा रहा है कि हाउसपार्टी ने जो सफाई दी है वह मुमकिन है, और ‘delete houseparty’ फ्रॉड पेमेंट कैंपेन हो. ऐप का कहना है कि इस तरह के कैंपेन को अंजाम देने वाले को बेनकाब करने पर उसे 1 मिलियन बाउंटी का इनाम दिया जाएगा.

(ये भी पढ़ें-COVID-19: इन 4 स्मार्टफोन कंपनियों ने दी ग्राहकों को राहत, 12 महीने के लिए बढ़ाई वारंटी!) 

साथ ही ये संभव नहीं है कि ऐप में पॉपुलर बैटल गेम फोर्टनाइट क्रिएटर एपिक गेम्स की पेरेंट कंपनी हाउसपार्टी में प्राइवेसी की दिक्कत हो. अगर प्राइवेसी में कोई गड़बड़ी होती तो कंपनी उसे फिक्स करने की बात ज़रूर कहती. हाउसपार्टी की प्राइवेसी के मुताबिक ये ऐप सिर्फ ऐप के अंदर दिए गए यूज़र के डेटा को कलेक्ट करती है. इसमें यूज़र का कॉन्टैक्ट, फोन नंबर और कॉन्टेस्ट से जुड़ी जानकारी रहती है. साथ ही इसमें IP एड्रेस के ज़रिए ऑटोमैटिक डेटा भी शामिल है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ऐप्स से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 31, 2020, 2:24 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading