लाइव टीवी

INSIDE STORY: आपके वॉट्सऐप तक ऐसे पहुंची इजरायली एजेंसी, सिर्फ एक SMS से शुरू हो जाता था खेल

News18Hindi
Updated: November 3, 2019, 5:52 PM IST
INSIDE STORY: आपके वॉट्सऐप तक ऐसे पहुंची इजरायली एजेंसी, सिर्फ एक SMS से शुरू हो जाता था खेल
1400 व्हाट्सएप यूजर के मोबाइल फोन पर मालवेयर से हमला किया गया है.

इज़रायली सर्विलांस फर्म एनएसओ ग्रुप (Israeli surveillance firm NSO Group) ने पेगासस (Pegasus) नाम के स्पाइवेयर (spyware) से भारतीय हस्तियों, पत्रकारों और मनावाधिकार कार्यकर्ताओं को निशाना बनाया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 3, 2019, 5:52 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. व्हाट्सऐप (WhatsApp) ने इज़रायली सर्विलांस फर्म एनएसओ ग्रुप (Israeli surveillance firm NSO Group) पर मंगलवार को आरोप लगाया कि एजेंसी ने पूरी दुनिया से कुछ फोन को हैककर जासूसी की है. इस खबर के आने के बाद भारतीय राजनीति में हंगामा मच गया है. व्हाट्सऐप ने इस बात की भी पुष्टि कर दी है कि एनएसओ ग्रुप की ओर से भारतीय मानवाधिकार कार्यकर्ता और पत्रकारों को स्पाइवेयर द्वारा टारगेट किया गया है.

इंडिया टुडे की एक रिपोर्ट में ये जानकारी दी गई है. इसमें बताया गया है कि इजरायली कंपनी ने पेगासस (Pegasus) नाम के स्पाइवेयर से भारतीय हस्तियों, पत्रकारों और मनावाधिकार कार्यकर्ताओं को निशाना बनाया है. अभी तक की खबर के मुताबिक भारत के 2 दर्जन से ज्यादा पत्रकार, वकील और बड़ी हस्तियां हैकिंग का शिकार हो चुकी हैं.

रिपोर्ट में बताया गया है कि पेगासस (Pegasus) नाम का स्पाइवेयर केवल व्हाट्सऐप में ही तांकझाक नहीं करता, बल्कि पूरे फोन की जानकारी इकट्ठा करता है. दावा किया गया है कि पेगासस स्पाइवेयर व्हाट्सऐप के अलावा, माइक्रफोन रिकॉर्डिंग, ई-मेल, एसएमएस, कैमरा, सेल डाटा, टेलीग्राम, लोकेशन, कॉन्टैक्ट, फाइल्स, हिस्ट्री ब्राउजिंग, इंस्टेंट मैसेजिंग, कैलेंडर रिपोर्ट, सोशल नेटवर्किंग साइट, डिवाइस सेटिंग तक में स्पाइवेयर की पहुंच हो जाती है.

इसे भी पढ़ें :- WhatsApp ने इज़रायली फर्म पर फोन हैकिंग का लगाया आरोप

WhatsApp, Israel, social media, Israeli surveillance firm, India, Pakistan
व्हाट्सएप पर स्पाइवेयर के जरिए भारतीय पत्रकारों, मानवाधिकार कार्यकर्ताओं की जासूसी की गई है.


एक SMS कर देता है पूरा काम
अभी तक की जानकारी के मुताबिक इस सॉफ्टवेयर को बेहद शातिर तरीके से यूजर्स के फोन पर SMS के जरिए भेजा जा सकता है. इस SMS को ऐसे तैयार किया जाता है कि आप उसे डाउनलोड किए बिना रह नहीं सकेंगे. इसके बाद वह आपके व्हाट्सऐप के जरिए पूरे फोन की जानकारी इकट्ठा कर इजरायल में बैठे हैकर्स को भेजना शुरू कर देगा.
Loading...

इसे भी पढ़ें :-Whatsapp से जासूसी के कौन-कौन हुए शिकार? मोदी सरकार ने 4 दिन में मांगा जबाव

भारत सरकार ने मांगा जवाब
बता दें कि व्हाट्सऐप पर स्पाइवेयर (spyware on WhatsApp) के बढ़ते विवाद के बीच सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने 2011 और 2013 में तत्कालीन वित्त मंत्री प्रणब मुखर्जी और जनरल वीके सिंह के खिलाफ जासूसी करने के कथित मामले पर व्हाट्सएप (Whatsapp) से जवाब मांगा है. व्हॉट्सएप से अपना जवाब 4 नवंबर तक देने को कहा गया है.

आईटी मंत्रालय के सूत्रों ने कहा है कि उन्हें वॉट्सऐप से जवाब मिल गया है और अभी उसका अध्ययन किया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें :- भारत-पाकिस्तान के सरकारी अधिकारियों के साथ 20 देशों की सेना के Whatsapp से हुई जासूसी: रिपोर्ट

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मोबाइल-टेक से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 1, 2019, 10:38 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...