शियोमी को इस कंपनी ने अपने ही घर में दी मात, एप्पल और सैमसंग भी रहीं पीछे

शियोमी को इस कंपनी ने अपने ही घर में दी मात, एप्पल और सैमसंग भी रहीं पीछे
हालिया तिमाही में हुवेई टेक्नोलॉजीज ने चीन के स्मार्टफोन मार्केट में दबदबा बनाए रखा है.

टॉप चाइनीज कंपनियों में शियोमी का प्रदर्शन सबसे खराब रहा है.

  • Share this:
एप्पल और सैमसंग अपनी बिक्री और बाजार हिस्सेदारी के मामले में दुनिया के दो सबसे पॉपुलर स्मार्टफोन ब्रांड हैं. वहीं, चीन की कंपनी शियोमी और सैमसंग में भी भारतीय बाजार में टॉप पर बने रहने के लिए कांटे की टक्कर हो रही है. लेकिन, दुनिया के सबसे बड़े स्मार्टफोन मार्केट चीन में इन दिग्गज कंपनियों की हालत पतली है. चीन की कंपनी शियोमी भी अपने घरेलू मार्केट में दबदबा नहीं बना पायी है. हालिया तिमाही में Huawei Technologies (हुवेई टेक्नोलॉजीज) ने चीन के स्मार्टफोन मार्केट में अपना दबदबा बनाए रखा है. वहीं, टॉप चाइनीज कंपनियों में शियोमी का प्रदर्शन सबसे खराब रहा है. यह बात इंटरनेशनल रिसर्च फर्म Canalys की एक रिपोर्ट में कही गई है.

चौथे नंबर पर रही शियोमी
जून 2018 को खत्म हुई तिमाही के दौरान Huawei के दो स्मार्टफोन ब्रांड्स (Huawei और Honor) की संयुक्त बाजार हिस्सेदारी बढ़कर 27 फीसदी पर पहुंच गई, जो कि एक साल पहले की समान अवधि के दौरान 21 फीसदी थी. 2011 की दूसरी तिमाही के बाद यह किसी भी चाइनीज कंपनी की सबसे बड़ी हिस्सेदारी है. हुवेई ने शिपमेंट का भी रिकॉर्ड तोड़ दिया है. कंपनी ने 2.85 करोड़ यूनिट्स मोबाइल का शिपमेंट किया है. वहीं, शियोमी चौथे नंबर पर रही है. Canalys की एक रिपोर्ट के मुताबिक, शियोमी की बाजार हिस्सेदारी 14 फीसदी रही है.

स्मॉलर वेंडर कैटेगरी में है एप्पल
Huawei की ग्रोथ में इसके बजट ब्रांड Honor के मजबूत परफॉर्मेंस का अहम रोल रहा है. पिछली तिमाही में ग्रुप के शिपमेंट में इसकी हिस्सेदारी 55 फीसदी रही. चीन में Huawei के बाद दूसरे और तीसरे नंबर पर क्रमशः ओपो और विवो रहीं. ओपो और विवो की बाजार हिस्सेदारी क्रमशः 21 और 20 फीसदी रही. Canalys की रिपोर्ट में एप्पल के मार्केट शेयर का जिक्र नहीं किया गया है. रिपोर्ट में एप्पल को स्मॉलर वेंडर की कैटेगरी में रखा गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज