अपना शहर चुनें

States

कोरोना वायरस वैक्सीन को लेकर ये अहम जानकारी जुटा रहे हैकर्स, IBM ने किया सतर्क

(सांकेतिक तस्वीर)
(सांकेतिक तस्वीर)

कोरोना वायरस वैक्सीन (Coronavirus Vaccine) के वितरण प्रणाली पर इन हैकर्स की नज़र है. IBM ने बीते गुरुवार को अपने ब्लॉग में एक कैंपेन के बारे में जानकारी दी है. इस कैंपेन के जरिए वैक्सीन वितरण के इस्तेमाल होने वाले 'कोल्ड चेन' के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 5, 2020, 2:19 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. तकनीकी क्षेत्र की दिग्गज कंपनी IBM ने कोविड-19 वैक्सीन (COVID-19 Vaccine) पर हैकर्स की पैनी नज़र को लेकर सतर्क किया है. इन हैकर्स की नज़र कोविड-19 वैक्सीन की डिस्ट्रीब्युशन करने वाली कंपनियों पर है. IBM को संकेत मिले हैं कि हैकर्स का ध्यान अब दुनियाभर की आबादी तक कोरोना वायरस वैक्सीन पहुंचाने के लिए तैयार किए जा रहे जटिल लॉजिस्टिक्स के काम पर है. IBM ने गुरुवार को एक ब्लॉग पोस्ट में इसकी आशंका जाहिर की है. IBM का कहना है कि उसे एक 'ग्लोबल फिशिंग कैंपेन' के बारे में जानकारी मिली है जोकि कोविड-19 वैक्सीन से जुड़ी कंपनियों व संस्थाओं पर केंद्रित है. अमेरिकी साइबरसिक्योरिटी एंड इन्फ्रास्ट्रक्चर सिक्योरिटी एजेंसी ने भी इस रिपोर्ट को रिपोस्ट किया है.

ये हैकर्स वैक्सीन डिस्ट्रीब्युशन के लिए इस्तेमाल होने वाले 'कोल्ड चेन' पर नजर बनाए हुए हैं. Pfizer Inc और BioNTech द्वारा तैयार हो रहे वैक्सीन डिस्ट्रीब्युशन के लिए कोल्ड चेन से जुड़ी मौलिक बातों के बारे में जानना जरूरी है. इस वैक्सीन को -70 डिग्री सेल्सियस या इससे नीचे के तापमान पर स्टोर किया जाता है, ताकि यह खराब न हो.

चीनी कोल्ड चेन कंपनी पर नजर
IBM की साइबरसिक्योरिटी यूनिट का कहना है कि उसे हैकर्स के एक एडवांस ग्रुप के बारे में पता चला है जो एक साथ मिलकर कोल्ड चेन (Cold Chain) के विभिन्न पहलुओं के बारे में जानकारी जुटा रहे हैं. ये हैकर्स Haier Biomedical के अधिकारियों के नाम ईमेल भेज रहे हैं. बता दें कि हायर बायोमेडिकल चीन की एक कंपनी है, जो किए एक कोल्ड चेन प्रोवाइडर है और वैक्सीन ट्रांसपोर्ट करने व बायोलॉजिकल सैम्पल स्टोरेज का काम करती है.




यह भी पढ़ें: RBI MPC बैठक के बाद सेंसेक्स 45 हजार के पार, निवेशकों ने कमाएं 1.25 लाख करोड़ रुपये

वैक्सीन डिलिवरी से जुड़ी ये जानकारी जुटा रहे
IBM का कहना है इन हैकर्स ने हायर बायोमेडिकल द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले मॉडल, प्राइसिंग और अन्य पहलुओं के बारे में जानकारी जुटा रहे हैं. कंपनी द्वारा इस्तेमाल होने वाले रेफ्रिजरेशन यूनिट्स की भी जानकारी इसमें शामिल है. माना जा रहा है ​कि इस कैंपेन का तैयार करने वाले के पास विशेष जानकारी है कि वैक्सीन डिलिवर करने के लिए सप्लाई चेन में किन चीजों की जरूरत होती है.

इस संस्था को भी बनाया टार्गेट
आईबीएम का कहना है कि Haier के नाम पर ये ईमेल्स करीब 10 अलग-अलग संस्थाओं को भेजा गया है. इसमें से एक टार्गेट को IBM ने पहचाना भी है, जिसका नाम 'द यूरोपियन कमिशंस डायरेक्टोरेट- जनरल फॉर टैक्सेश एंड कस्टम्स यूनियन' है. यह यूरो​पीय संघ (European Union) में टैक्स व कस्टम के मामलों से जुड़ी संस्था है. इस संस्था ने वैक्सीन आयात के ​लिए नियम भी तैयार किए हैं.

यह भी पढ़ें: RBI ने बदल दिया आपके ATM कार्ड से जुड़ा नियम! 1 जनवरी से हो सकेगी इतने हजार रुपये की पेमेंट

इन अन्य कंपनियों से भी जुटा रहे जानकारी
IBM ने इस ब्लॉग पोस्ट में कहा है कि इन हैकर्स के अन्य टार्गेट में सोलर पैनल मैन्युफैक्चर करने वाली कंपनियां भी शामिल हैं. इन्हीं मैन्युफैक्चरर्स की मदद से वैक्सीन रेफ्रीजरेर्स को पावर दिया जाने की तैयारी है. इसके अलावा ड्राई आईस बनाने वाली पेट्रोकेमिकल प्रोडक्ट्स के बारे में भी ये हैकर्स जानकारी जुटा रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज