मोबाइल इंटरनेट स्पीड: नेपाल, पाकिस्तान से भी पीछे भारत, मिली 131 रैंकिंग

 मोबाइल इंटरनेट स्पीड: नेपाल, पाकिस्तान से भी पीछे भारत, मिली 131 रैंकिंग
मोबाइल इंटरनेट स्पीड: नेपाल, पाकिस्तान से भी पीछे भारत, मिली 131 रैंकिंग

Internet Speed in India 2020: Ookla की ओर से तैयार Speedtest Global Index में भारत मोबाइल इंटरनेट स्पीड में 131वें नंबर पर है. भारत इस मामले में दक्षिण कोरिया, श्रीलंका, नेपाल और पाकिस्तान जैसे देशों से भी पीछे है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 27, 2020, 12:02 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. मोबाइल अपलोड स्पीड की ग्लोबल एवरेज स्पीड 11.22Mbps है. हालांकि भारत इस मामले में काफी पीछे हैं और एवरेज अपलोड स्पीड 4.31 Mbps है. Ookla की ओर से तैयार Speedtest Global Index में भारत मोबाइल इंटरनेट स्पीड में 131वें नंबर पर है. भारत इस मामले में दक्षिण कोरिया, श्रीलंका, नेपाल और पाकिस्तान जैसे देशों से भी पीछे है. भारत में औसत मोबाइल डाउनलोड स्पीड 12.07 Mbps है, जबकि वैश्विक औसत 35.26 Mbps है. सितंबर 2020 के लिए जारी किए गए इंडेक्स में यह बात कही गई है. फिक्स्ड ब्रॉडबैंड स्पीड के मामले में भारत को इंडेक्स में 70वें स्थान पर रखा गया है. पिछली रैंकिंग के मुकाबले भारत दो पायदान ऊपर है. मोबाइल इंटरनेट स्पीड इंडेक्स के मुताबिक साऊथ कोरिया में सबसे अच्छी 121 MBPS की इंटरनेट स्पीड दर्ज की गई है. वहीं भारत 138 देशों की इस लिस्ट में 131वें नंबर पर है. भारत में इंटरनेट स्पीड सिर्फ 12.07 Mbps ही है. पिछले महीने में ही भारत रैंकिंग में दो पायदान और नीचे आ गया है.

Speedtest Global Index दुनिया भर में इंटरनेट की स्पीड का डाटा मासिक तौर पर जुटाता है. दुनिया भर में लाखों लोग मोबाइल का इस्तेमाल करते हैं और उनके रियल डाटा के आधार पर स्पीडटेस्ट की ओर से रैंकिंग तैयार की जाती है.

...लेकिन भारत में बढ़ी ब्रॉडबैंड स्पीड-बीते महीने भारत में ब्रॉडबैंड स्पीड में इजाफा हुआ है. भारत सितंबर महीने में 70वें पायदान पर रहा है. वहीं ब्रॉडबैंड के मामले में सिंगापुर पहले पायदान पर है. सिंगापुर में ब्रॉडबैंड पर 226 MBPS की इंटरनेट स्पीड दर्ज की जाती है. राहत की बात ये है कि ब्रॉडबैंड के मामले में भारत की स्थिति नेपाल औ पाकिस्तान से अच्छी है.



ये भी पढ़ें-7 हज़ार से भी सस्ते में खरीदें 6000mAh बैटरी वाला ये दमदार स्मार्टफोन, सिर्फ 4 नवंबर तक है मौका
मार्च महीने के बाद से भारत के मोबाइल इंटरनेट स्पीड में 3% का सुधार देखने को मिला है और ब्रॉडबैंड की स्पीड में करीब 5% का उछाल देखने को मिला है. मार्च महीने में कोरोना वायरस संक्रमण फैलने की वजह से लॉकडाउन लगा था और डेटा खपत में अचानक बढ़ोतरी दर्ज की गई थी.

इस देश में चलता है सबसे फास्ट इंटरनेट-सिंगापुर ने 175 देशों की रैंकिंग में 226.60 Mbps की स्पीड के साथ इंडेक्स में पहला स्थान हासिल किया है. Ookla के ग्लोबल इंडेक्स के मुताबिक औसत मोबाइल डाटा स्पीड के मामले में दक्षिण कोरिया पहले नंबर पर है. पड़ोसी देश नेपाल, पाकिस्तान, श्रीलंका और चीन जैसे सभी देश भारत के मुकाबले मोबाइल डाटा स्पीड कहीं आगे हैं.

दक्षिण एशायाई देशों की बात करें तो श्रीलंका में काफी अच्छी इंटरनेट स्पीड देखने को मिली है. रिपोर्ट के मुताबिक श्रीलंका में 19.95 MBPS इंटरनेट स्पीड अनुभव करने को मिलती है. इस लिस्ट में भारत से एक पायदान आगे है ईराक देश. ईराक में 12.24 Mbps इंटरनेट स्पीड है.

गौरतलब है कि 4जी से 5जी की ओर बढ़ रहे भारत में डिजिटल इंडिया का मिशन चल रहा है. सरकार डिजिटल साक्षरता पर काफी जोर दे रही है. ऑनलाइन एजुकेशन से लेकर डिजिटल पेमेंट तक का इन दिनों जोर है. ऐसे में मोबाइल या फिर ब्रॉडबैंड डाटा स्पीड के मामले में भारत का पिछड़ना चिंताजनक है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज