छुट्टियों में भी हमारे हाथों से नहीं छूटते गैजेट्स

साइबर सिक्योरिटी फर्म मकैफी के एक सर्वेक्षण में यह बात सामने आई है अधिकांश भारतीय छुट्टी के दिन या कहीं ट्रिप पर जाने के बावजूद अपने ईमेल को चेक किए बगैर नहीं रहते हैं.

आईएएनएस
Updated: December 7, 2017, 1:40 PM IST
छुट्टियों में भी हमारे हाथों से नहीं छूटते गैजेट्स
(Source: GettyImages)
आईएएनएस
Updated: December 7, 2017, 1:40 PM IST
हफ्ते भर काम करने के बाद मिली एक या दो दिन की छुट्टी आने पर हर व्यक्ति आराम करना चाहता है, लेकिन भारतीय शायद छुट्टियों के दिन भी काम करने और गैजेट्स से जुड़े रहना चाहते हैं.

छुट्टियों में ऑफिस से दूर, लेकिन गैजेट्स के पास
साइबर सिक्योरिटी मकैफी के एक सर्वे में यह बात सामने आई है कि अधिकांश भारतीय छुट्टी के दिन या कहीं ट्रिप पर जाने के बावजूद अपने ईमेल को चेक किए बगैर नहीं रहते हैं. सर्वे के दौरान 29% लोगों ने यह स्वीकार किया वे दिन में कई बार अपना ईमेल चेक करते हैं. यह सर्वे छुट्टी पर रहने के दौरान कंज्यूमर्स के व्यवहार व प्रतिक्रिया को जानने के लिए करवाया गया था. सर्वे का मकसद यह भी जानना था डिजिटलीकरण की आदतों से लोगों की निजी सूचना को लेकर कैसे खतरा पैदा हो रहा है.

छुट्टियों के दौरान हर चार में से तीन भारतीय करते हैं, मोबाइल और सोशल मीडिया का इस्तेमाल.


60% भारतीय छुट्टियों में करते हैं इंटरनेट का इस्तेमाल
सर्वे में यह पाया गया कि यह जानते हुए कि मोबाइल या ई-मेल से जुड़े रहने पर उन्हें आराम नहीं मिलेगा, लोग इससे जुड़े रहते हैं. आंकड़ों के अनुसार आधे से ज्यादा यानी तकरीबन 60% भारतीयों ने सर्वेक्षण में यह संकेत दिया कि अवकाश के दिनों में वे कम से कम एक घंटा अपने ई-मेल, मैसेज और सोशल मीडिया पर काफी समय बिताते हैं. मकैफी में इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट के वाइस-प्रेसिडेंट व मैनेजिंग डायरेक्टर वेंकट कृष्णापुर ने कहा, 'छुट्टियां, इन गैजेट्स से फुर्सत पाने का एक अच्छा मौका हो सकती हैं लेकिन ज्यादातर भारतीय फिर भी इनसे जुड़ें रहते हैं.'

उन्होंने बताया, 'हमारे अध्ययन से यह जाहिर होता है कि हर चार में से तीन भारतीय अपने अवकाश के दिनों में परिवार, दोस्त व सोशल मीडिया से जुड़ने के लिए असुरक्षित वाईफाई पर भरोसा करते हैं और इस तरह से वे साइबर क्राइम का शिकार बनते हैं.' उन्होंने कहा कि लोगों को छुट्टियों के दौरान अतिरिक्त सावधानी बरतनी चाहिए और ऑनलाइन व्यवहार में टेक्नोलॉजी की सुविधाओं पर भरोसा करना चाहिए.

पब्लिक नेटवर्क में करें VPN का इस्तेमाल
सर्वेक्षण में 18 से 55 वर्ष की उम्र के 1,500 लोगों को शामिल किया गया था, जो रोजाना गैजेट्स और टेक डिवाइस का इस्तेमाल करते हैं. मकैफी ने सार्वजानिक और असुरक्षित वाईफाई नेटवर्क का इस्तेमाल कम करने की सलाह दी है. कैलिफार्निया में स्थित कंपनी के मुख्यालय सांता क्लारा ने कहा, 'अगर आपके लिए सार्वजनिक वाईफाई नेटवर्क का इस्तेमाल जरूरी है तो वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क का इस्तेमाल कीजिए, जिससे आपकी सूचना निजी बनी रहेगी.'

ये भी पढ़ें:
अब टू-व्हीलर्स को भी रास्ता दिखाएगा GOOGLE Map
ये हैं 2017 के बेस्ट गेमिंग लैपटॉप
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर