होम /न्यूज /तकनीक /Induction VS Electric Cooktops: जानिए इंडक्शन एवं इलेक्ट्रिक कुकटॉप में कौन-सा है बेहतर?

Induction VS Electric Cooktops: जानिए इंडक्शन एवं इलेक्ट्रिक कुकटॉप में कौन-सा है बेहतर?

इंडक्शन कुक-टॉप पर रखे बर्तन को उठाना भी आसान होता है क्योंकि बर्तन बहुत मामूली सा गर्म होता है, image-canva

इंडक्शन कुक-टॉप पर रखे बर्तन को उठाना भी आसान होता है क्योंकि बर्तन बहुत मामूली सा गर्म होता है, image-canva

इलेक्ट्रॉनिक कुक-टॉप्स एक अच्छा ऑप्शन हो सकते हैं. लेकिन इसमें भी दो तरह के कुक-टॉप्स आते हैं. एक इंडक्शन कुक-टॉप होता ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

इलेक्ट्रिक कुक-टॉप बजट फ्रेंडली है. कंपनी का कुक-टॉप 2500 तक आ जाता है.
कुकिंग फूड से बार-बार पानी या कोई खाद्य सामान गिर जाए तो इसे तुरंत साफ करना मुमकिन नहीं है.
इलेक्ट्रिक कुक-टॉप कुछ हद तक वैसे ही काम करते हैं जैसे पुराने समय में स्प्रिंग कोइल वाले हीटर काम करते थे.

नई दिल्ली: इलेक्ट्रिक बेस्ड कुक-टॉप्स की बात करें तो ये कहना बड़ी बात न होगी कि ये इस समय के फूड कुकिंग इंडस्ट्री में क्रांति की तरह आए हैं. एलपीजी गैस के बढ़ते दाम और लंबा कुकिंग टाइम अगर आपको तंग करता है तो इलेक्ट्रॉनिक कुक-टॉप्स एक अच्छा ऑप्शन हो सकते हैं. लेकिन इसमें भी दो तरह के कुक-टॉप्स आते हैं. एक इंडक्शन कुक-टॉप होता है और दूसरा पूरी तरह इलेक्ट्रिक बेस्ड कुक-टॉप, दोनों में अंतर क्या है? आइए जानते हैं –

इलेक्ट्रिक कुक-टॉप कुछ हद तक वैसे ही काम करते हैं जैसे पुराने समय में स्प्रिंग कोइल वाले हीटर काम करते थे. इसमें भी एक हीटिंग कॉइल ही होती है जो ग्लास या सरैमिक का कुक-टॉप को गर्म करती है और यह ग्लास टॉप आगे बर्तन को गर्म करता है. गर्म होने के बाद इसके कुक-टॉप हर हीट साइन रेड सर्कल बनकर उभर आते हैं. इसकी वजह से सामग्री गर्म होने में भी थोड़ा टाइम लगता है और कुक-टॉप बंद करने के बाद भी यह गर्म ही रहता है.

यह भी पढ़ें: तेज रफ्तार ही नहीं कम स्पीड पर भी घट जाता है कार का माइलेज, तो किस स्पीड पर होगी बचत?

इलेक्ट्रिक कुक-टॉप 

1)इसकी सबसे बड़ी खासियत यह है कि इसमें कोई भी बर्तन इस्तेमाल किया जा सकता है.

2)इलेक्ट्रिक कुक-टॉप आवाज भी बहुत कम करता है.

3)बिजली की खपत भी इलेक्ट्रिक कुक-टॉप में काफी सीमित होती है.

4)इलेक्ट्रिक कुक-टॉप बजट फ्रेंडली है. किसी अच्छी कंपनी का कुक-टॉप 2500 तक आ जाता है और लोकल मार्केट से ऐसे कुक-टॉप्स 1500 तक भी मिल सकते हैं, लेकिन इसमें कुछ दिक्कतें भी हैं जिनमें सबसे बड़ी समस्या है इसका हीटींग प्रोसेस, काफी देर तक कुक-टॉप गर्म रहने से इसमें किसी का हाथ जलने का खतरा रहता है.

5)आप इसे बच्चों के लिए सेफ कुक-टॉप नहीं कह सकते हैं.

6)कुकिंग फूड से बार-बार पानी या कोई खाद्य सामान गिर जाए तो इसे तुरंत साफ करना मुमकिन नहीं है क्योंकि टॉप गर्म रहता है.

7)टॉप ठंडा होने के बाद सफाई करने पर खाद्य पदार्थ कई बार चिपक जाता है और इसको साफ करना थोड़ा मुश्किल हो जाता है.

8)टॉप पर बार-बार पानी या द्रव्य गिरने से ग्लास-टॉप टूटने के चांस रहते हैं.

इंडक्शन कुक-टॉप

1)इंडक्शन कुक-टॉप इलेक्ट्रिक रेडिएशन टेक्नॉलजी पर काम करता है. इसमें भी टॉप सरैमिक या ग्लास का होता है पर इसमें कोई हीट साइन नज़र नहीं आता.

2)यह अपनी रेडिएशन टेक्नॉलजी से बर्तन को गर्म करने की बजाए बर्तन के अंदर की सामग्री को डायरेक्ट गर्म करता है जिससे कुकिंग टाइम आधे से भी कम रह जाता है.

3)पानी उबालने की तुलना करें तो कुछ कुक-टॉप ऐसे भी आ रहे हैं जिसमें 30 सेकंड में भी पानी बॉईल हो सकता है.

4)इसकी सबसे बड़ी खासियत इसकी फास्ट कुकिंग हैं.

5)इंडक्शन कुक-टॉप चाइल्ड सेफ है क्योंकि इसका टॉप गर्म ही नहीं होता.

6)इंडक्शन कुक-टॉप पर रखे बर्तन को उठाना भी आसान होता है क्योंकि बर्तन बहुत मामूली सा गर्म होता है.

7)इस कुक-टॉप को क्लीन करना आसान है.

8)इंडक्शन कुकटॉप ड्यूरेबल प्रोडक्ट माना जाता है, इसकी मेन्टेनेंस बहुत आसान होती है.

पर इसमें कुछ कमियां भी हैं जिसमें सबसे बड़ी दिक्कत इसकी आवाज है, इन्डक्शन कुक-टॉप में इन-बिल्ड इग्ज़ॉस्ट फैन बंद होने के बाद भी बहुत आवाज करता है.

यह भी पढ़ें: लॉन्च हो गई नई Kia Seltos, क्रेटा की बढ़ जाएगी मुसीबत, देखें भारत में कब से शुरू होगी बिक्री?

9)इंडक्शन कुक-टॉप पर सिर्फ इंडक्शन इनेबल बर्तन ही रखे जा सकते हैं. हालांकि कापर बेस्ड बर्तन भी इसमें शामिल किये जा सकते हैं पर वो मेकर्स द्वारा रेकेमेंड नहीं किए जाते.

10)इसकी कॉस्ट नॉर्मल इलेक्ट्रिकल कुक-टॉप से दुगनी तक होती है. ब्रांडेड इंडक्शन 5 से 6 हजार तक मिलते हैं और लोकल कुकटॉप्स में रेडिएशन टेक्नॉलजी वाले इंडक्शन कुकटॉप को ढूंढना बहुत मुश्किल है.

Tags: Portable gadgets, Tech news hindi, Technology

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें