Home /News /tech /

instagram can track your every activity not even password protected dnsh

खतरे में Instagram यूजर्स! प्लेटफॉर्म ट्रैक कर सकता है आपकी हर एक्टिविटी, पासवर्ड भी नहीं हैं सुरक्षित

इंस्टाग्राम (फाइल फोटो)

इंस्टाग्राम (फाइल फोटो)

एक रिपोर्ट के अनुसार मेटा-स्वामित्व वाला इंस्टाग्राम बिना अनुमति के अपने यूजर्स की एक्टिविटी, टेक्स्ट सेलेक्शन, टेक्स्ट इनपुट और पासवर्ड जैसी जानकारी को ट्रैक कर सकता है.

हाइलाइट्स

इंस्टाग्राम अपने यूजर्स की एक्टिविटी और पासवर्ड की जानकारी को ट्रैक कर सकता है.
मेटा हर वेबसाइट पर पिक्सेल नामक एक ट्रैकिंग जावास्क्रिप्ट कोड इंजेक्ट करता है.
इस कोड से प्लेटफॉर्म को आपकी ट्रैकिंग की अनुमति मिल जाती है.

नई दिल्ली. एक रिपोर्ट के अनुसार मेटा-स्वामित्व वाला इंस्टाग्राम अपने यूजर्स की एक्टिविटी, टेक्स्ट सेलेक्शन, टेक्स्ट इनपुट और पासवर्ड की जानकारी को ट्रैक कर सकता है. फेलिक्स क्रॉस द्वारा किए गए विश्लेषण में पाया गया कि आईओएस पर इंस्टाग्राम और फेसबुक दोनों ही थर्ड पार्टी के ऐप के लिए ऐप्पल द्वारा पेश किए गए ब्राउजर के बजाय अपने स्वयं के इन-ऐप ब्राउजर का उपयोग करते हैं.

फेलिक्स क्रॉस के अनुसार अपने कस्टम- बिल्ट ब्राउजर से इंस्टाग्राम और फेसबुक सभी लिंक और वेबसाइटों में मेटा पिक्सेल नामक एक ट्रैकिंग जावास्क्रिप्ट कोड इंजेक्ट करते हैं. इस कोड की मदद से मेटा को यूजर्स की बातचीत को उनकी सहमति के बिना ट्रैक करने की अनुमति मिल जाती है. यह इंस्टाग्राम को यूजर्स या वेबसाइट प्रोवाइडर्स की सहमति के बिना बाहरी वेबसाइटों पर होने वाली हर चीज की निगरानी करने की अनुमति देता है.

अपने ब्राउजर का करते हैं इस्तेमाल
वहीं, MacRumors की रिपोर्ट के अनुसार ज्यादातर ऐप्स वेबसाइटों को लोड करने के लिए Apple के Safari ब्राउजर का उपयोग करते हैं, लेकिन Instagram और Facebook अपने खुद के इन-ऐप ब्राउजर का इस्तेमाल करके वेबसाइटों को लोड करते हैं. आपने देखा होगा कि जब आप किसी वेबसाइट लिंक पर टैप करते हैं, लिंक को स्वाइप करते हैं, या Instagram पर विज्ञापनों के माध्यम से कुछ भी खरीदने के लिए लिंक पर टैप करते हैं, तो यह डिफॉल्ट ब्राउजर Google Chrome या Safari में खोलने के बजाय इन-ऐप ब्राउजर में एक विंडो खोलता है.

यह भी पढ़ें- मैसेंजर पर एंड-टू-एंड एन्क्रिप्टेड फीचर लेकर आएगा फेसबुक, सुरक्षित होगी चैट

सभी वेबसाइटों पर इंजेक्ट होता है कोड
इंस्टाग्राम ऐप अपने ट्रैकिंग कोड को सभी वेबसाइट में इंजेक्ट करता है, जो विज्ञापनों पर क्लिक करते समय फोटो शेयरिंग साइट को सभी यूजर्स इंटरैक्शन की निगरानी करने की अनुमति देता है. इसमें पासवर्ड, एड्रेस, हर एक टैप, टेक्स्ट सिलेक्शन और स्क्रीनशॉट जैसे सभी फॉर्म इनपुट शामिल हैं.

मेटा ने दी सफाई
इस संबंध में मेटा का कहना है कि ‘मेटा पिक्सेल’ को आपकी वेबसाइट पर विजिटर एक्टिविटी को ट्रैक करने के लिए डिजाइन किया गया है, जो उसके कस्टम-बिल्ट ब्राउजर पर यूजर्स की सभी गतिविधियों की निगरानी करता है.कंपनी का कहना है कि इस बात का कोई सबूत नहीं है कि मेटा, ने यूजर्स का डेटा क्लेक्ट किया है या डेटा एकत्रित करने में सक्षम है.

Tags: Facebook, Instagram, Tech news, Tech News in hindi, Technology

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर