फिशिंग अटैक्‍स से अपने इंस्टाग्राम अकाउंट को सेफ रखना है ज़रूरी, जानें इसके 6 आसान टिप्स

Instagram पर सेफ रहने के तरीके.

इंस्टाग्राम पर फिशिंग से बचा जा सकता है. हम आपको बता रहे हैं बेहतर और सुरक्षित तरीके, जिससे इंस्टाग्राम को सिक्योर किया जा सकता है...

  • Share this:
    सोशल मीडिया कई लोगों के लिए कुछ अच्‍छा करने का साधन है. 2020 के दौरान ये लोगों को वैसे वक्त में साथ लाने में सफल रहा, जब वे एक दूसरे से दूर रहने के लिए मजबूर थे. चाहे लाइव परफार्मेंस के ज़रिए लोगों को प्रेरित करने की बात हो या फिर कोविड-19, आर्थिक रिकवरी की कोशिशें और टीकाकरण के बारे में सूचित करने की इन सभी में सोशल मीडिया की भूमिका अहम रही है. जैसे-जैसे फोन के साथ हमारी घनिष्ठता बढ़ती जा रही है, उसी अनुपात में बढ़ता फिशिंग अटैक हमारे लिए चिंता का विषय बना हुआ है. फिशिंग का मतलब वैसी धोखाधड़ी से है, जिसमें ईमेल के जरिए फर्जीवाड़ा किया जाता है.  ऐसे ईमेल किसी प्रतिष्ठित कंपनी की तरफ से आए हुए लगते हैं, जिसके जाल में फंसकर कोई व्यक्ति अपनी निजी जानकारी, मसलन पासवर्ड या क्रेडिट कार्ड नंबर आदि का खुलासा कर देता है. इंस्टाग्राम पर ऐसे लोगों के साथ धोखाधड़ी हो चुकी है, जिन्होंने अपने डीएम (डायरेक्ट मैसेज) में मिले मैसेज पर क्लिक किया और उनके साथ धोखाधड़ी हो गई.

    ऐसे मैसेज इंस्टाग्राम की तरफ से आने वाले आधिकारिक कम्युनिकेशन की तरह थे और इस वजह से लोगों को उसके वास्तविक होने का भ्रम हुआ और उन्होंने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट से अपना नियंत्रण खो दिया. निश्चित ही ये अनुभव काफी तनावपूर्ण होता है.

    ऐसे में ये जानना बेहद ज़रूरी है कि इंस्टाग्राम किसी भी यूज़र के साथ डायरेक्ट मैसेज के ज़रिए संपर्क नहीं करता है. इंस्टाग्राम की तरफ से होने वाले सभी संपर्क ईमेल के जरिए होते हैं, जिसकी पुष्टि ऐप में जाकर (सेटिंग्‍स> सिक्योरिटी> इंस्टाग्राम की तरफ से आया ईमेल) की जा सकती है. हम आपको बता रहे हैं बेहतर और सुरक्षित तरीके, जिससे इंस्टाग्राम को सिक्योर किया जा सकता है.

    (ये भी पढ़ें- Jio का सस्ता प्लान! सिर्फ 129 रुपये के रिचार्ज पर महीने भर करें अनलिमिटेड फ्री कॉल, मिलेगा डेटा भी)

    >>Two Factor Authentication: अकाउंट की सुरक्षा के लिए आपको टू-फैक्‍टर ऑथिंटिकेशन को एक्टिवेट रखना चाहिए. इससे आपके अकाउंट को दोहरी सुरक्षा मिलती है. ये वैसी स्थिति में भी आपके अकाउंट को सुरक्षा प्रदान करता है, जब किसी को आपके पासवर्ड की जानकारी होती है.

    इस तरह केवल आप ही अपने अकाउंट को एक्सेस कर सकते हैं. टू-फैक्‍टर ऑथिंटिकेशन SMS द्वारा भेजे गए कोड से किया जा सकता है या फिर थर्ड-पार्टी ऐप्लिकेशन से.

    >> एक मजबूत पासर्वड चुने: ध्यान रहे कि पासवर्ड कम से छह अक्षर, नंबर और विशेष संकेतों को मिलाकर बनाया गया हो.

    >> थर्ड पार्टी ऐप्स:  किसी थर्ड पार्टी एप्लिकेशन को दिए गए एक्सेस को आपको रिवोक या रद्द कर देना चाहिए.वह आपकी लॉगिन जानकारी को एक्‍सपोज कर सकते हैं.

    >> Password शेयरिंग: उन लोगों के साथ आपको अपना पासवर्ड कभी भी शेयर नहीं करना चाहिए, जिस पर आपको भरोसा न हो.

    (ये भी पढ़ें- बिना फोन उठाए WhatsApp, Signal और Telegram पर करें मैसेज का रिप्लाई, जानें आसान तरीका)

    >>  इंस्टाग्राम किसी भी यूज़र के साथ डायरेक्ट कम्‍यूनिकेट नहीं करता है. इंस्टाग्राम की तरफ से होने वाले सभी कम्‍यूनिकेशन ईमेल जरिए होते हैं, जिसकी पुष्टि ऐप में जाकर (सेटिंग्‍स>सिक्‍योरिटी> इंस्‍टाग्राम ईमेल्‍स) से की जा सकती है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.