लाइव टीवी

घर से काम करने वालों के लिए खुशखबरी! 25% तक तेज होगी आपके इंटरनेट स्पीड

News18Hindi
Updated: March 24, 2020, 4:13 PM IST
घर से काम करने वालों के लिए खुशखबरी! 25% तक तेज होगी आपके इंटरनेट स्पीड
अगर आप भी घर से काम कर रहे हैं और खराब इंटरनेट से परेशान हैं तो अब बिलकुल परेशान होने की ज़रूरत नहीं है...

अगर आप भी घर से काम कर रहे हैं और खराब इंटरनेट से परेशान हैं तो अब बिलकुल परेशान होने की ज़रूरत नहीं है...

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 24, 2020, 4:13 PM IST
  • Share this:
कोरोना वायरस (coronavirus) के संक्रमण से बचने क और लॉकडाउन (Lockdown) के चलते हम सब वर्क फ्रॉम होम (Work from home) यानी कि घर से काम कर रहे हैं. तो अगर खराब इंटरनेट कनेक्टिविटी (internet connectivity)के चलते काम करने में मजा नहीं आ रहा है तो ये खबर आपके लिए है, ऐसा इसलिए क्योंकि अब आपके इंटरनेट की स्पीड 25 परसेंट तक तेज हो सकती है.

दरअसल ऑनलाइन स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म जैसे नेटफ्लिक्स, अमेज़न प्राइम, यूट्यूब, Zee5 अपनी वीडियो रेजोलशन को स्टैंडर्ड डेफिनेशन पर रखने के लिए तैयार हो गए हैं. ज़्यादातर लोग घर बैठकर मूवीज़ और वीडियोज़ देख रहे थे, इसमें ज्यादातर वीडियो हाई डेफिनेशन के अंदर देखें जा रहे थे जिसके चलते टेलीकॉम कंपनियों के नेटवर्क पर बोझ पड़ रहा था.

टेलीकॉम कंपनियों ने इन ऑनलाइन प्लेटफॉर्म को चिट्ठी लिखकर अपना रेजोल्यूशन लो रखने की मांग की थी. साथ ही टेलीकॉम कंपनियों ने दूरसंचार विभाग को भी चिट्ठी लिखी थी दूरसंचार विभाग ने भी इन कंपनियों को निर्देश दिए थे कि आप ट्रैफिक मैनेजमेंट के लिए कदम उठाइए. अब ऑनलाइन स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म के इस कदम से टेलीकॉम कंपनियों के नेटवर्क पर बोझ बहुत कम होगा टेलीकॉम कंपनियां जहां जरूरत है वहां पर डेटा मुहैया करा पाएंगे. साथ ही लोग भी आसानी से घर से काम कर सकेंगे

करोना की वजह से सभी लोग घर से काम कर रहे हैं. इससे टेलीकॉम कंपनियों के इंफ्रास्ट्रक्चर पर बोझ भी लगातार बढ़ रहा है. इस बोझ को कम करने के लिए टेलीकॉम कंपनियां आपस में नेटवर्क शेयरिंग करने की तैयारी कर रही हैं ताकि ज़रुरत पड़ने पर सारी इमरजेंसी सेवाओं को पूरी तरह से चालू रखा जाए.



टेलीकॉम कंपनियों की इंफ्रास्ट्रक्चर शेयरिंग की तैयारी संकट के समय इंफ्रास्ट्रक्चर चालू रखना बड़ी चुनौती है. लोगों के घर के घर से काम करने से नेटवर्क पर भी बोझ बढ़ा है, टेलीकॉम कंपनियों के डेटा की खपत में 15 से 20% तक बढ़ोतरी हुई है. वहीं लैंडलाइन ब्रॉडबैंड की मांग में करीब 10 परसेंट की बढ़ोतरी हुई है.  लॉकडाउन के बावजूद लोग काम कर सकें इसके लिए टेलीकॉम सेक्टर बेहद जरूरी है. टेलीकॉम कंपनियों ने इंट्रा सर्किल रोमिंग प्रोटोकॉल एक्टिवेट किया है. बताया गया कि किसी कंपनी का मोबाइल टावर बंद होने की स्थिति में सेवाओं पर असर नहीं पड़ेगा.

मोबाइल ग्राहक किसी भी कंपनी के नेटवर्क से जुड़ कर कॉल कर सकेंगे. साथ ही कंपनियों ने ट्रैफिक मैनेजमेंट प्रैक्टिस शुरू की है, जिस एरिया में ज्यादा डेटा की खपत है वहां कंपनियां ज्यादा रिसोर्स उपलब्ध करा रही हैं.
(असीम मनचंदा-CNBC आवाज़)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ऐप्स से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 24, 2020, 4:11 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

भारत

  • एक्टिव केस

    5,218

     
  • कुल केस

    5,865

     
  • ठीक हुए

    477

     
  • मृत्यु

    169

     
स्रोत: स्वास्थ्य मंत्रालय, भारत सरकार
अपडेटेड: April 09 (05:00 PM)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर

दुनिया

  • एक्टिव केस

    1,151,274

     
  • कुल केस

    1,603,428

    +355
  • ठीक हुए

    356,440

     
  • मृत्यु

    95,714

    +22
स्रोत: जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी, U.S. (www.jhu.edu)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर