Home /News /tech /

Android से iPhone पर स्विच करने का समय आ गया है क्या! Apple ने बताई वजह

Android से iPhone पर स्विच करने का समय आ गया है क्या! Apple ने बताई वजह

Apple का कहना है कि iPhone आपकी व्यक्तिगत जानकारी की सुरक्षा को ध्यान में रखकर ही बनाया गया है.

Apple का कहना है कि iPhone आपकी व्यक्तिगत जानकारी की सुरक्षा को ध्यान में रखकर ही बनाया गया है.

Apple का कहना है कि iPhone आपकी व्यक्तिगत जानकारी की सुरक्षा को ध्यान में रखकर ही बनाया गया है. फेशियल या फिंगरप्रिंट जैसी पहचान सुविधाएं हों या ऐप्स के द्वारा आपकी गतिविधि को ऑनलाइन ट्रैक करने से रोकना, iPhone हर लिहाज से आपकी सुरक्षा का ध्यान रखता है.

अधिक पढ़ें ...

IPhone दुनिया के सबसे लोकप्रिय स्मार्टफोन में से एक है. आईफोन की बदौलत Apple दुनिया का नंबर एक स्मार्टफोन ब्रांड बन गया है. आईफोन की बढ़ती लोकप्रियता के बाद भी भारत में यह एंड्रॉइड फोन (Android phones) मोबाइल फोन की दुनिया में हावी हैं. हालांकि भारत में Apple ने भी अपनी पैठ बना ली है लेकिन एंड्रॉइड के बाजार पर कब्जा करने के लिए उसे अभी भी एक लंबा रास्ता तय करना है.

भारत के लोगों को एंड्रॉयड से iPhone पर स्विच करना चाहिए, इसके लिए Apple कई वजह गिनाई हैं. एप्पल ने अपने स्मार्टफोन्स की विशेषाओं पर भी रोशनी डाली है. आइये जानते हैं एप्पल एंड्रॉइड से आईफोन पर स्विच करने के पीछे क्या कारण दे रहा है.

iPhones अधिक सुरक्षित
Apple का कहना है कि iPhone आपकी व्यक्तिगत जानकारी की सुरक्षा को ध्यान में रखकर ही बनाया गया है. फेशियल या फिंगरप्रिंट जैसी पहचान सुविधाएं हों या ऐप्स के द्वारा आपकी गतिविधि को ऑनलाइन ट्रैक करने से रोकना, iPhone हर लिहाज से आपकी सुरक्षा का ध्यान रखता है. आईमैसेज और फेसटाइम वीडियो कॉल्स को एंड-टू-एंड एनक्रिप्टेड नहीं भूलना चाहिए.

यह भी पढ़ें- 5,000 रुपये में खरीदें दमदार बैटरी और शानदार फीचर्स वाले ये Smartphones

एडवांस है IPhone का कैमरा (iPhone cameras more advanced)
Apple का कहना है कि आईफोन की कैमरा तकनीक अन्य तमाम फोन के कैमरों से ज्यादा एडवांस एडवांस है. आईफोन का कैमरा ऑन करते ही नाइट मोड (Night Mode), पोर्ट्रेट मोड, सिनेमैटिक मोड (Cinematic Mode) जैसे फीचर अपने-आप शुरू हो जाते हैं. इसलिए iPhone पर कैमरा आपके फोटोग्राफी के अनुभव को बेहतर बनाता है.

नियमित OS अपडेट (OS updates)
एप्पल का कहना है कि एंड्रॉइड फोन लेटेस्ट सॉफ्टवेयर अपडेट लाने में काफी धीमे होते हैं. जबकि, iPhone में ऐसी कोई समस्या नहीं है. आईओएस अपडेट नियमित रूप से नई सुविधाओं और सुरक्षा देने के लिए आते हैं जो आपके आईफोन को अप-टू-डेट रखते हैं. सॉफ़्टवेयर अपडेट के माध्यम से बहुत सी नई सुविधाएं आती हैं जो आपके स्मार्टफोन को अधिक अपडेट बनाती हैं.

iPhone Apple

iOS ऐप आसान बनाते हैं
आईओएस ऐप को आपको एंड्रॉइड फोन पर डाउनलोड करने की आवश्यकता होती है. आईओएस के माध्यम से आप अपने संपर्कों, संदेशों, फोटो, वीडियो, ईमेल खातों और कैलेंडर को आईफोन में सुरक्षित ट्रांसफर कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें- Smartphone Tips: स्लो हो गया है स्मार्टफोन! स्पीड बढ़ाने के लिए अपनाएं ये टिप्स

IPhone पर स्विच करना आसान
यदि आप Android फोन से iPhone पर स्विच कर रहे हैं या करने की योजना बना रहे हैं, तो Apple का दावा है कि यह प्रक्रिया बहुत सरल है. आप अपने फोटो, डेटा, संपर्कों को बहुत आसानी से आईफोन पर ट्रांसफर कर सकते हैं. Apple आपको अपने पुराने स्मार्टफोन से डेटा ट्रांसफर करने की सुविधा देता है.

iPhones अधिक टिकाऊ (iPhones more durable and last longer)
Apple नए iPhones मॉडल में सिरेमिक शील्ड देता है. यह किसी भी अन्य स्मार्टफोन ग्लास की तुलना में अधिक मजबूत होता है. सिरेमिक शील्ड से आपका फोन हाथ से फिसलता नहीं है. इस पर पानी की बूंदों का असर कम होता है. नियमित सॉफ्टवेयर अपडेट के साथ iPhone अन्य स्मार्टफोन की तुलना में अधिक समय तक अपनी कीमत बनाए रखता है.

तेज प्रोसेसर (Fast processors)
IPhones में पाए जाने वाले प्रोसेसर की A श्रृंखला अधिकांश Android फ़ोनों की तुलना में बेहतर प्रदर्शन करता है. इससे पता चलता है कि Apple हार्डवेयर और सॉफ़्टवेयर को कितनी अच्छी तरह मिलाता है. हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर का यह मिलान प्रदर्शन के मामले में iPhone को अधिक कुशल और प्रभावी बनाता है.

ऐप्पल का कहना है कि वह अपने हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर को बड़े अनुभव के लिए डिजाइन करता है. Apple के अनुसार AirDrop, SharePlay जैसी सुविधाएं भी iPhone को आकर्षक बनाती हैं.

Tags: Android, Apple, Iphone, Mobile Phone, Smartphone

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर