होम /न्यूज /तकनीक /Facebook पर फर्जी खबरों की पहचान करने का है आसान, फॉलो करें टिप्स

Facebook पर फर्जी खबरों की पहचान करने का है आसान, फॉलो करें टिप्स

नई दिल्ली. फेसबुक सोशल मीडिया का सबसे बड़ा प्लेटफॉर्म है. यही पर लोग अपने दोस्तों से बात करने के साथ- साथ अपनी तमाम जानकारियों को भी साझ करते हैं. वहीं, देश- दुनिया में क्या चल रहा है इसके बारे में भी पता कर लेते हैं. पर इन सब के बीच सबसे अहम बात है खुदी की प्राइवेसी. क्योंकि फेसबुक से जुड़ने के बाद आपके बाड़े में लोग बहुत कछ जान जाते हैं. जैसे- आप क्या करते हैं? आप कहां के रहने वाले हैं? आप की शादी हुई है कि नहीं. पर इन सबसे भी जो अहम जानकारी है आपकी जन्म तिथि, यानी डेट ऑफ बर्थ.

नई दिल्ली. फेसबुक सोशल मीडिया का सबसे बड़ा प्लेटफॉर्म है. यही पर लोग अपने दोस्तों से बात करने के साथ- साथ अपनी तमाम जानकारियों को भी साझ करते हैं. वहीं, देश- दुनिया में क्या चल रहा है इसके बारे में भी पता कर लेते हैं. पर इन सब के बीच सबसे अहम बात है खुदी की प्राइवेसी. क्योंकि फेसबुक से जुड़ने के बाद आपके बाड़े में लोग बहुत कछ जान जाते हैं. जैसे- आप क्या करते हैं? आप कहां के रहने वाले हैं? आप की शादी हुई है कि नहीं. पर इन सबसे भी जो अहम जानकारी है आपकी जन्म तिथि, यानी डेट ऑफ बर्थ.

सोशल मीडिया में आज के समय में किसी भी खबर या जानकारी का एक बड़ा साधन बन गया है. इनके करोड़ों यूजर्स हैं. यही वजह है कई ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

सोशल मीडिया पर वायरल हो रही फर्जी खबरों को पहचानना आसान है.
कुछ टिप्स को फॉलो करके यूज़र्स असली और नकली खबर में अंतर समझ सकते हैं.
2017 में खुद फेसबुक ने फर्जी खबरों का पहचान करने के कुछ तरीकों की जानकारी दी थी.

नई दिल्ली:  भारत में सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक (Facebook) का इस्तेमाल करने वाले यूज़र्स की संख्या करोड़ों में हैं. बीते कुछ सालों से देखने को मिल रहा है कि फेसबुक के जरिए फेक न्यूज (Fake News) सबसे ज़्यादा फैल रही है. आपने भी कई बार फेक आईडी (Fake ID) और न्यूज (Facebook News) अपने टाइमलाइन में देखी होगी. ऐसे में जरूरी हो जाता है कि आपको फेक न्यूज को पहचानने के तरीकों के बारे में जानकारी हो.

लगातार बढ़ते फेक न्यूज के जाल को देखते हुए साल 2017 में स्वयं फेसबुक ने फर्जी खबरों का पहचान करने के कुछ तरीकों की जानकारी दी. उस समय फेसबुक ने देश के प्रमुख अखबारों में विज्ञापन छपवाकर इन तरीकों के बारे में जानकारी साझा की थी. आज इस रिपोर्ट में हम आपको फेसबुक पर फेक न्यूज को पहचानने के तरीकों के बारे में जानकारी देंगे…

यह भी पढ़ें: 30 घंटे चलने वाले Harmonics Z2 इयरफोन लॉन्च, कीमत 800 रुपये से भी कम

  • शीर्षक (Title) : अगर किसी खबर का हेडलाइन ज्यादा ही अट्रैक्टिव लगे तो आपको सतर्क हो जाना चाहिए. अक्सर फेक खबरों की हेडलाइंस काफी अधिक लुभावनी और बड़े अक्षरों में लिखी होती है. साथ ही इनमें विस्मयबोधक चिह्नों का प्रयोग किया रहता है.
  • फोटो (Photo): फेक खबर की पहचान खबर में इस्तेमाल फोटो को देखकर लगाया जा सकता है. इन खबरों में छेड़छाड़ और फोटोशॉप की हुई तस्वीरों का प्रयोग देखने को मिलता है. ध्यान से देखकर इन फोटो को पहचाना जा सकता है.
  • यूआरएल (URL): अगर खबर का यूआरएल किसी अन्य सोर्स से मिलता जुलता हो तो यह फेक न्यूज होने के संकेत है. असली खबर के यूआरएल के साथ ही छेड़छाड़ करके फेक न्यूज फैलाने वाले लोग इस तरह का काम करते है.
  • सोर्स (Source): आप जब भी फेसबुक पर कोई खबर देखें तो उसके सोर्स की जांच जरूर करें. अगर खबर बिना सोर्स के हो तो उस वेबसाइट के ‘About’ सेक्शन की जांच को देख लें. साथ ही सोर्स को क्रॉस चेक जरूर करें.
  • फॉर्मेट (Format): फेक खबरों में अक्सर बहुत कॉमन स्पेलिंग मिस्टेक और खबर का स्ट्रक्चर असामान्य सा देखने को मिलता है. इस तरह की गलतियों वाली वेबसाइट पर भरोसा नहीं करना चाहिए.
  • तारीख (Date): खबर की टाइमलाइन फेक खबर को पहचानने में बहुत फायदेमंद साबित हो सकती है. तारीखों के साथ बदलाव करके फेक न्यूज को फैलाने का काम किया जाता है. अगर आपको लगता है कि खबर फेक हो सकती है तो गूगल पर इसी तरह की खबर को खोजने का प्रयास करें.

यह भी पढ़ें: आज ही अपडेट करें गूगल Chrome, नहीं तो हो उठाना पड़ सकता है बड़ा नुकसान

खबर और मनोरंजन में अंतर:
आज के समय में कुछ वेबसाइट न्यूज के नाम पर मजाक, व्यंग्य और कहानियों को भी प्रकाशित करती हैं. ऐसे में आप पूरी खबर को पढ़ने के बाद ही खबर की सत्यता को लेकर पुष्टि करें. केवल हेडलाइन देखकर खबर को सच नहीं मान लेना चाहिए.

Tags: Fake news, Tech news, Tech News in hindi, Technology

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें