होम /न्यूज /तकनीक /फोन की स्टोरेज फुल होने पर लैपटॉप में ट्रांसफर करें फोटोज़, वीडियोज़! आसान है तरीका...

फोन की स्टोरेज फुल होने पर लैपटॉप में ट्रांसफर करें फोटोज़, वीडियोज़! आसान है तरीका...

NCHMCT JEE 2022 Round 3 seat allotment result:  जानिए रिजल्ट चेक करने का तरीका.

NCHMCT JEE 2022 Round 3 seat allotment result: जानिए रिजल्ट चेक करने का तरीका.

हर दिन कम से कम 2 वीडियो भी बनाए तो एक साल के अंदर-अंदर मोबाइल की मेमोरी खत्म होने लगती है. पर उन वीडियोज़ को डिलीट भी त ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

मोबाइल फोन से लैपटॉप में डेटा ट्रांसफर करने से फोन में अधिक स्पेस मिल जाता है.
डेटा ट्रांसफर करने के कई तरीके हैं जैसे यूएसबी केवल, ऑनलाइन ट्रांसफर, ओटीजी ट्रांसफर
ऑनलाइन डेटा ट्रांसफर करने के लिए कई ऐप भी मौजूद है जो फ्री में या कम लागत पर डेटा के लिए स्पेस प्रोवाइड करते हैं.

नई दिल्ली: एक समय था जब मोबाइल फोन की मेमोरी बस इतनी होती थी कि मुश्किल से 1000 फ़ोटोज़, कुछ गाने और चंद वीडियो डालने पर ही फुल हो जाती थी. तब लोग अपने फोन से नियमित अंतराल पर डेटा डिलीट करते रहते थे. लेकिन इन दिनों मोबाइल फोन कंपनियां 64 GB से लेकर 512 GB तक स्टोरेज दे रही हैं. लेकिन जब से मोबाइल फोन की कैमरा क्वालिटी बेहतर हुई है, तब से फ़ोटोज़ का साइज़ भी कई गुना बढ़ गया है. फिर आजकल वीडियो मेकिंग का चलन भी बढ़ गया है. हर दिन कम से कम 2 वीडियो भी बनाए तो एक साल के अंदर-अंदर मोबाइल की मेमोरी खत्म होने लगती है. पर उन वीडियोज़ को डिलीट भी तो नहीं कर सकते. ऐसे में एक ही तरीका बचता है कि डेटा कंप्यूटर या लैपटॉप में ट्रांसफर कर लिया जाए. आइए जानते हैं ये कैसे किया जा सकता है.

1. यूएसबी ट्रांसफर
मोबाइल से कंप्यूटर या लैपटॉप में डेटा ट्रांसफर करने का सबसे आसान और पॉपुलर तरीका है ‘यूएसबी डेटा ट्रांसफर.’ इसके लिए सबसे पहले मोबाइल को डेटा केबल से अटैच करना होता है. ये डेटा केबल मोबाइल के चार्जर के रूप में तो मिलती ही है, साथ ही मार्केट से भी कम्पैटिबल केबल ली जा सकती है.

(ये भी पढ़ें-धांसू Trick: Telegram के ज़रिए किसी भी फोटो का Background हटा सकते हैं आप, ये है तरीका)

इसके बाद डेटा केबल का यूएसबी वाला सिरा लैपटॉप या कंप्यूटर के यूएसबी पोर्ट में लगाना होता है. अब मोबाइल पर तीन ऑप्शन होते है, जिसमें पहला चार्ज ओन्ली होता है. यानी आप सिर्फ चार्ज करना चाहते हैं. दूसरा ऑप्शन होता है फाइल ट्रांसफर का, इसे चुनने के बाद लैपटॉप या कंप्यूटर में मोबाइल का फाइल मैनेजर शो होने लगता है.

अब यहां से अपनी मनचाही फाइल को सलेक्ट और कॉपी या कट करके, कंप्यूटर या लैपटॉप की किसी ड्राइव में पेस्ट की जा सकती है. वैसे बेहतर यही होता है कि C ड्राइव के अलावा किसी ड्राइव में फाइल ट्रांसफर की जाए. डेस्कटॉप पर पेस्ट करके भी फाइल आसानी से ट्रांसफर हो सकती है.

2 ओटीजी ट्रांसफर
2018 के बाद से मोबाइल में ही पेन ड्राइव लगाने की सुविधा भी आ चुकी है. इसके लिए मोबाईल की सेटिंग्स में जाकर ओटीजी ऑप्शन इनेबल करना होता है. इसके बाद एक छोटा सा डिवाइस, ओटीजी एडेप्टर लगाना होता है. ये किसी भी मोबाईल एसेसरीज बेचने वाले की शॉप पर मिल जाता है.

(ये भी पढ़ें-Tech Tips: बार-बार खत्म हो जाती है फोन की बैटरी, ऐसे चेक करें कहां हो रही है ज़्यादा खपत)

इस डिवाइस में एक पिन मोबाइल में लगाने के लिए होती है और दूसरी तरफ यूएसबी पोर्ट बना होता है जहां पेन ड्राइव लगा सकते हैं. यहीं पेन ड्राइव लगाकर, उसमें डेटा ट्रांसफर कर, बाद में पेन ड्राइव को कंप्यूटर या लैपटॉप में लगाकर डेटा सुरक्षित तरीके से ट्रांसफर किया जा सकता है.

3 ऑनलाइन ड्राइव अपलोड
अब हर मोबाईल कंपनी यूजर्स ऑनलाइन डेटा सिंक करने का ऑप्शन भी देती है. इसके लिए नया मोबाइल खरीदते समय उसके अकाउंट सेक्शन में जाकर मोबाईल कंपनी की ड्राइव में साइन अप करना होता है.

अगर ऐसा नहीं भी किया है तब भी, ऑनलाइन बहुत से ऐसे प्लेटफॉर्म मौजूद हैं जो फ्री या बहुत कम कीमत पर डेटा स्टोरेज देते हैं. यहां अपना अकाउंट बनाने के बाद डेटा अपलोड किया जा सकता है और अपने लैपटॉप या कंप्यूटर से लॉगइन करके वहां डेटा सेव किया जा सकता है.

Tags: Mobile Phone, Tech news hindi, Tech News in hindi, Technology

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें